एसडीओ ऑफिसर कैसे बने? परीक्षा, योग्यता, सिलेबस और वेतन

आज के दौर में हर कोई अपनी जिंदगी एक अच्छे ढंग से जीना चाहता है। और अपनी फैमिली की उम्मीदों पर खरा उतरना चाहता है। हर व्यक्ति खुद को एक successful इंसान के रूप में देखना चाहता है। आज हम अपने इस आर्टिकल में  एसडीओ ऑफिसर कैसे बने। इससे संबंधित जानकारी आपको देंगे।

एसडीओ ऑफिसर क्या होता है, एसडीओऑफिसर बनने की योग्यता तथा एसडीओऑफिसर का वेतन कितना होता है। इन सब बातों से संबंधित सारी इंफॉर्मेशन आज हम आपको देंगे। यदि आप भी SDO ऑफिसर बनना चाहते हैं। और उससे संबंधित सारी जानकारी को प्राप्त करना चाहते हो। तो हमारे इस आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़िए।

एसडीओ ऑफिसर कैसे बने? (How to become an SDO officer?)

आज के समाज में हर व्यक्ति सरकारी नौकरी करना चाहता है। और सरकारी नौकरी प्राप्त करने के लिए लोग कड़ी मेहनत करते हैं। हमारे देश में रहने वाले अधिकतम लोग मध्यम वर्ग से होते हैं।हर मध्यमवर्गीय युवा अपने परिवार को एक अच्छा भविष्य देने के लिए सरकारी नौकरी करना चाहता है।

एसडीओ ऑफिसर कैसे बने? परीक्षा, योग्यता, सिलेबस और वेतन

जिससे वह अपने और अपने परिवार का खुशहाली से जीवन यापन कर सके। सरकारी नौकरी के बहुत सारे फायदे होते हैं। यदि आप भी सरकारी नौकरी करना चाहते हैं। और सरकारी नौकरी के लिए मेहनत कर रहे हैं। तो हम आपको आज SDO Kaise bane के बारे में बताएंगे। यह जानकारी आपके लिए बेहद लाभदायक साबित होगी।

आज हमारे इस आर्टिकल को कुछ ऐसे लोग भी पढ़ रहे होंगे। जिनका सपना SDO बनना है। और वह शुरुआत से ही एसडीओ बनने की तैयारी करना चाहते हैं। तो उन लोगों के लिए भी यह आर्टिकल बेहद लाभदायक है। क्योंकि SDO कैसे बने। और एसडीओ बनने के लिए आपको कितनी परीक्षाओं से होकर गुजरना पड़ेगा।

इसकी सारी जानकारी आपको यहां से प्राप्त होगी। यदि आप यह सारी जानकारी प्राप्त करके SDO बनने की तैयारी शुरू करेंगे। तो आपके लिए एसडीओ बनना बेहद आसान होगा। तो चलिए हम आपको बताते हैं। कि एसडीओ बनने के लिए आपको क्या-क्या करना होगा।

एसडीओ कौन होता है? (Who is SDO?)

हर व्यक्ति नौकरी करना चाहता है। परंतु आप जिस पोस्ट के लिए भी आवेदन करना चाहते हैं। उस पोस्ट की पूरी जानकारी आपके पास होनी चाहिए। जिससे आपको यह पता चलता है। कि उस पोस्ट पर रहकर आपको क्या कार्य करना है। आज आपको SDO कौन होता है। और SDO को क्या-क्या कार्य करना होता है।

इसकी जानकारी आपको यहां मिलेगी। यदि आप SDO बनना चाहते है। तो आपके लिए यह जानकारी आवश्यक है। दोस्तों SDO ऑफिसर सरकारी विभाग में होते हैं। यह किसी विभाग में हो सकता है। जैसे:- पुलिस विभाग, बिजली विभाग, सिंचाई विभाग आदि। राज्य सरकार द्वारा ऑफिसर को हर विभाग में नियुक्त किया जाता है। क्योंकि SDO ऑफिसर की आवश्यकता हर विभाग में होती है। SDO ऑफिसर हर विभाग का सर्वोच्च पद होता है।

एसडीओ की का पूरा नाम (Full Form of SDO)

यदि आप SDO की फुल फॉर्म जानना चाहते हैं। तो आज हम आपको बताने वाले हैं। एसडीओ को Sub Divisional Officer कहते है। तथा एसडीओ को हिंदी में अनुविभागीय अधिकारी या अनुमंडल पदाधिकारी के नाम से जाना जाता है। यह किसी भी विभाग का सबसे बड़ा पदाधिकारी होता है।

SDO ऑफिसर की नियुक्ति राज्य सरकार के द्वारा की जाती है। ऐसे ऑफिसर हर विभाग में नियुक्त होता है। यह SDM के स्तर का महत्वपूर्ण अधिकारी होता है। SDO ऑफिसर संबंधित विभागों में सिविल और इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर होते हैं। जो कार्य को सुचारु ढंग से चलाते है।

एसडीओ ऑफिसर का काम क्या होता है? (What is the job of an SDO officer?)

एसडीओ ऑफिसर की नियुक्ति राज्य सरकार के द्वारा की जाती है। SDO ऑफिसर अपनी विभाग के अंदर आने वाले सभी कार्य के लिए जिम्मेदार होता है। SDO ऑफिसर का मुख्य कार्य यह होता है। कि वह जिस विभाग में भी नियुक्त होता है। उस विभाग के द्वारा सरकार के लिए किए जाने वाले सभी कार्य की जांच करता है।  तथा उनकी फाइलों को सतर्कता पूर्वक जांचता है। SDO ऑफिसर जिस विभाग में भी नियुक्त किया जाता है। उस विभाग का सर्वोच्च पद माना जाता है।

जब कोई व्यक्ति SDO के पद पर किसी विभाग में नियुक्त किया जाता है। तो उसे सर्वप्रथम यह सुनिश्चित करना होता है। कि उस विभाग के द्वारा सरकार के लिए किये जाने वाले सभी कार्य अच्छी तरह किये जा रहे है या नहीं। ऐसे SDO ऑफिसर को बहुत जिम्मेदारी वाले कार्य करने होते हैं। क्योंकि किसी विभाग में बिना जांच किए कोई भी कार्य नहीं होता है। इसलिए SDO ऑफिसर का पद जितना सर्वोच्च होता है। उतना ही उसका कार्य जिम्मेदारियों से भरा हुआ होता है।

यदि किसी भी विभाग में जैसे:-  बिजली विभाग, सिंचाई विभाग और पुलिस विभाग आदि में सरकार के कार्य में कमी रहती है। तो इसका जवाबदेही केवल SDO ऑफिसर होता है। हमारे देश में स्थित सभी राज्यो के जिलों पर SDO ऑफिसर तैनात रहते हैं। इनका कार्य सरकारी कामों को सुचारू रूप से चलाना और अपनी विभाग की ध्यान पूर्वक देखरेख करना होता है।

SDO ऑफिसर राज्य के अधीन कार्य करने वाले ऑफिसर होते हैं। साथ ही अपने क्षेत्र के कार्य को सही ढंग से कराने के लिए अन्य अधिकारियों की भी मदद लेते हैं। जैसे:- एक DM पूरे जिले में अपनी भूमिका निभाता है। उसी प्रकार SDO अपने विभाग में उस भूमिका को निभाता है।

एसडीओ ऑफिसर कैसे बने? (How to become an SDO officer?)

जैसे कि आप सब जानते हैं। कि एसडीओ ऑफिसर राज्य सरकार के अंतर्गत कार्य करता है। तथा राज्य सरकार के द्वारा नियुक्त किया जाता है। राज्य सरकार के द्वारा SDO ऑफिसर को दो तरीके से चयनित किया जाता है।

  • प्रमोशन द्वारा।
  • परीक्षा द्वारा।

प्रमोशन द्वारा (By Promotion)

प्रमोशन द्वारा भी राज्य सरकार के द्वारा SDO ऑफिसर को नियुक्त किया जाता है। यानी यदि किसी विभाग में उपस्थित कोई अधिकारी होता अपने कार्य को बेहद सुचारु रुप से करता है। तो उसके कार्य को देख कर राज्य सरकार के द्वारा उसे पदोन्नति के द्वारा एसडीओ की पोस्ट पर नियुक्त कर दिया जाता है। प्रमोशन द्वारा एसडीओ बनने के लिए आपको अनुभव की आवश्यकता होती है।

आप कई वर्षों तक बिना किसी उम्मीद के विभाग में कार्य करते हैं। यदि सरकार को आपका कार्य पसंद आता है। तो आपके पास को प्रमोट कर दिया जाता है। और आपको एसडीओ की पोस्ट नियुक्त किया जाता है। इस प्रकार प्रमोशन द्वारा आप SDO के पद को प्राप्त कर सकते हैं।

परीक्षा द्वारा (By Exam)

राज्य सरकार द्वारा एसडीओ के पद पर किसी व्यक्ति को नियुक्त करने के लिए हर वर्ष परीक्षा आयोजित की जाती है। यह परीक्षा public service Commission या लोक सेवा आयोग के द्वारा आयोजित की जाती है। भारत में स्थित सभी राज्य में हर वर्ष लोक सेवा आयोग के द्वारा एसडीओ ऑफिसर को चयनित करने के लिए परीक्षा का आयोजन होता है। इसके द्वारा आप SDO ऑफिसर बिना  किसी अनुभव के बन सकते हैं। यह तरीका आपको जल्दी SDO ऑफिसर बनाने में मदद करता है। परीक्षा पास करने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होती है। तब जाकर आप एसडीओ ऑफिस की परीक्षा को पास कर पाते हैं।

SDO ऑफिसर का चयन करना राज्य सरकार की जिम्मेदारी होती है। यह बात हम सब जानते हैं। जो छात्र Sub Divisional Officer बनने की इच्छा रखते हैं। और परीक्षा पास करने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। या करना चाहते हैं। तो उन्हें क्या-क्या करना चाहिए? इसकी संपूर्ण जानकारी हमने नीचे दी है। जो आपको SDO बनने तथा राज्य सरकार द्वारा आयोजित की जानी परीक्षा को पास करने में आपकी मदद करेगी।

एसडीओ ऑफिसर के लिए सिलेक्शन प्रोसेस (Selection Process for SDO Officer)

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया है। कि राज्य सरकार के द्वारा दो माध्यम से आप SDO ऑफिसर बन सकते हैं। पहला प्रमोशन द्वारा और दूसरा परीक्षा द्वारा। पहले माध्यम के द्वारा यदि आप SDO ऑफिसर बनना चाहते हैं। तो आपको बहुत समय लगता है। और साथ ही इस बात की कोई गारंटी नहीं होती है। कि आप SDO ऑफिसर बन जाए।

 परंतु यदि आप परीक्षा माध्यम से ऑफिसर बनना चाहते हैं।  तो SDO ऑफिसर बनने के लिए आपको बहुत कम समय लगता है। आप यदि किसी भी  विभाग में SDO officer बनना चाहते है। तो आपके पास graduation की डिग्री होना आवयश्क है। आइए जानते हैं। कि ऑफिसर बनने के लिए आपको किन परीक्षाओं से होकर गुजरना होगा। लोक सेवा आयोग के द्वारा आयोजित की गई परीक्षा तीन चरणों में पूर्ण होती है। यह चरण निम्न प्रकार है-

  • प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)
  • मुख्य परीक्षा (Mains Exam)
  • साक्षात्कार (Interview)

 प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)

Sub Divisional Officer बनने की प्रथम चरण की परीक्षा को प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam) कहते हैं। यह आपकी प्रथम परीक्षा होती है। प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद ही आप मुख्य परीक्षा को देने के योग्य होते हैं। प्रारंभिक परीक्षा में 200-200 अंक के दो प्रश्न पत्र पूछे जाते हैं। इस परीक्षा में आपको Maths ,रीजनिंग, जनरल नॉलेज और करंट अफेयर्स से संबंधित प्रश्नों के उत्तर देने होते हैं। आते हैं परीक्षा प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करनी होती है। यह परीक्षा बहुविकल्पीय होती है। जिसमें आपको केवल tick लगाने होते है।

मुख्य परीक्षा (Mains Exam)

जैसे कि हमने आपको पहले बताया है। कि SDO ऑफिसर बनने के लिए मुख्य परीक्षा वह व्यक्ति दे सकता है। जिसने प्रारंभिक परीक्षा को निर्धारित नंबर प्राप्त कर के पास किया हो। यह परीक्षा रिटर्न होती है। परीक्षा में आपसे लैंग्वेज यानी हिंदी और इंग्लिश कम्युनिकेशन के प्रश्नों के उत्तर पूछे जाते हैं।

साक्षात्कार (Interview)

जो लोग प्रीलिम्स और mains एग्जाम की परीक्षा निर्धारित अंकों को प्राप्त करके पास कर लेते हैं। वह SOD बनने के लिए आयोजित परीक्षा के तीसरे चरण में यानी इंटरव्यू के लिए सेलेक्ट कर लिए जाते हैं। इंटरव्यू में आपकी व्यक्तित्व को देखा जाता है इसके अंदर आपके सेल्फ कॉन्फिडेंस, कम्युनिकेशन स्किल्स, ऑफ माइंड साथ ही आपसे कई विचित्र प्रश्न पूछे जाते हैं जो कि आपके व्यक्तित्व से जुड़े होते हैं इंटरव्यू में करंट अफेयर के क्वेश्चन भी  पूछे जा सकते हैं। ताकि उन्हें यह पता लग सके कि आप अपने आसपास के समाचार से aware है या नहीं।

एसडीओ ऑफिसर बनने के लिए योग्यता (Eligibility to become SDO Officer)

किसी भी नौकरी को प्राप्त करने के लिए सरकार द्वारा कोई ना कोई योग्यताएं रखी जाती हैं। क्योंकि बिना योग्यता के किसी भी व्यक्ति को कोई पद नहीं दिया जा सकता है। ठीक इसी तरह एसडीओ ऑफिसर बनने के लिए भी राज्य सरकार द्वारा योग्यताएं निर्धारित की गई है। अब हम आपको राज्य सरकार द्वारा निर्धारित की गई SDO ऑफिसर बनने के लिए योग्यता के बारे में बताने जा रहे हैं।

  • SDO ऑफिसर बनने के लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करनी होगी। परंतु याद रहे कि आप जिस विभाग में भी Sub Divisional Officer बनना चाहते हैं। तो आप graduation किसी भी विषय से कर सकते हैं। graduation  की डिग्री प्राप्त करने के बाद ही आप SOD ऑफिसर बनने के लिए राज्य सरकार के द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा में आवेदन करने के उपाय होते हैं।
  • इस नौकरी के लिए किसी भी विषय की विद्यार्थी आवेदन करने योग्य होते हैं। आप किसी विषय से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करके SDO की होने वाली परीक्षा में आवेदन कर सकते हैं। चाहे आपने इंजीनियरिंग या मेडिकल की पढ़ाई कर रखी हो। या फिर कॉमर्स से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की हो। सभी लोग SDO officer बनने के लिए आयोजित होने वाली परीक्षा में आवेदन कर सकते हैं।

उम्र सीमा (Age Limit)

सरकार द्वारा एसडीओ ऑफिसर बनने के लिए उम्र सीमा निर्धारित की गई है। तो आइए जानते हैं। कितने वर्ष के लोग एसडीओ की परीक्षा में आवेदन करने के योग्य होते हैं।

  • Sub Divisional Officer बनने के लिए सरकार द्वारा न्यूनतम आयु 21 वर्ष तथा अधिकतम आयु 30 वर्ष निर्धारित की गई है। यह आयु सीमा जनरल वर्ग में आने वाले व्यक्तियों के लिए है।
  • आरक्षित वर्गों के लिए सरकार के द्वारा उम्र सीमा में छूट निर्धारित की गई है।
  • OBC/ ओबीसी वर्ग के विद्यार्थियों के लिए कम से कम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 33 वर्ष निर्धारित की गई है।
  • ST/SC वर्ग के व्यक्तियों के लिए सरकार के द्वारा न्यूनतम आयु 21 वर्ष तथा अधिकतम आयु 35 वर्ष निर्धारित की गई है।

एसडीओ ऑफिसर का वेतन (SDO Officer Salary)

हर व्यक्ति नौकरी इसीलिए करता है। ताकि वह अपना और अपने परिवार का जीवन यापन कर सकें। सरकारी नौकरी करने का main उद्देश्य यही होता है। सरकारी नौकरी में अधिक फैसिलिटी प्राप्त होती हैं। जिससे आपका जीवन अधिक सुखमय हो सकता है। हम आपको यहां SDO ऑफिसर का वेतन बताने जा रहे हैं। SDO ऑफिसर का शुरुआती वेतन ₹23,640 होता है। इसके साथ-साथ इन ऑफिसर को सरकार की तरफ से बहुत सारी सुविधाएं भी प्राप्त होती है। साथ ही भत्ता भी दिया जाता है। शुरुआत में भले ही SDO ऑफिसर की सैलरी कम होती है। परंतु यह वक्त के साथ बढ़ती जाती है।

जैसा कि अभी हमने ऊपर बताया कि जैसे ही आप SDO ऑफिसर के पद पर समय बिताते जाते हैं। वेसे ही आपकी सैलेरी 1,80,000 प्रति महीना हो जाती है। इसके अलावा अन्य सुविधाएं जैसे:- रहने के लिए आवास, टेलीफोन और गाड़ी आदि। सारी सुविधाएं सरकार द्वारा SDO ऑफिसर को दी जाती है।

SDO ऑफिसर कैसे बने से संबंधित प्रश्न व उत्तर (FAQs)

 Q:- एसडीओ ऑफिसर की फुल फॉर्म क्या होती है।

Ans:- SDO Officer की फुल फॉर्म Sub Divisional Officer होती है। जिसे हिंदी में उपविभागीय अधिकारी या अनुमंडल पदाधिकारी के नाम से जाना जाता है।

Q:- एसडीओ ऑफीसर बनने की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता क्या होती है।

Ans:- SDO ऑफिसर बनने के लिए आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री  होनी चाहिए।

Q:- एसडीओ ऑफिसर की परीक्षा किस के द्वारा आयोजित की जाती है।

Ans:- SDO ऑफिसर की परीक्षा राज्य सरकार के द्वारा आयोजित की जाती है। क्योंकि एसडीओ ऑफीसर राज्य सरकार के अधीन कार्य करता है।

Q:- एसडीओऑफिसर बनने के लिए कौन सा एग्जाम देना पड़ता है?

Ans:- एसडीओ ऑफिसर बनने के लिए पब्लिक सर्विस कमीशन  का एग्जाम देना पड़ता है।

Q:-एसडीओ ऑफिसर को प्रमोशन मिलती है।

Ans:- जी हां, एसडीओ ऑफीसर को भी उसके अच्छे कार्य  को देखते हुए प्रमोट किया जा सकता है।

निष्कर्ष

एसडीओऑफिसर से संबंधित संपूर्ण जानकारी आज हमने अपने इस आर्टिकल में आपको दी है। आप SDO ऑफिसर बनने की तैयारी हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से अच्छे से कर सकते हैं। यदि फिर भी आपके मन में कोई भी सवाल रहता है। तो आप कमेंट बॉक्स में लिखकर हम से यह सवाल पूछ सकते हैं। आपको हमारा आर्टिकल कैसा लगा इसकी जानकारी हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताइएगा। साथ ही हमारे इस आर्टिकल को अपने जरूरतमंद दोस्तों के साथ अवश्य शेयर कीजिएगा।

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।