डिटेक्टिव क्या होता है? | डिटेक्टिव कैसे बनें? | योग्यता, सैलरी और कार्य

हम लोगों ने ज्यादातर टीवीओं में Dedective शब्द को सुना होगा। और बहुत से ऐसे कार्यक्रम देखे होंगे। जिनमें डिटेक्टिव के बारे में जिक्र होता है। जी हाँ, आपको आज हम Detective kya hota hai इससे संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे। जेम्स बॉन्ड का नाम सबने तो नहीं सुना होगा। परंतु हो सकता है कुछ लोगों ने इनका नाम सुना हो। यह एक अच्छे डिटेक्टिव थे। इनके पास जासूसी करने की एक अलग कला थी।

डिटेक्टिव क्या होता है? इस बारे में बहुत कम लोगों को जानकारी होती है। जब हम छोटे होते हैं तो डिटेक्टिव को टीवीओं में देखकर डिटेक्टिव बनने के सपने देखते हैं। परंतु यह सपना बड़े होकर खो जाता है। डिटेक्टिव की जरूरत आमतौर पर रोजमर्रा की जिंदगी में बहुत कम पड़ती है। परंतु बहुत से लोग डिटेक्टिव बनने की इच्छा बड़े होने पर भी रखते हैं। परंतु उन्हें इस बात की जानकारी नहीं होती है।

डिटेक्टिव एक ऐसा प्रोफेशनल व्यक्ति होता है। जो जासूसी का काम करता है। यदि किसी व्यक्ति को डिटेक्टिव की जरूरत होती है। तो वो डिटेक्टिव एजेंसी से कांटेक्ट करता है। और एक डिटेक्टिव को हायर करता है। यदि आप भी डिटेक्टिव बनना चाहते है। तो आज हम अपने इस लेख में Detective kaise bane? डिटेक्टिव बनने के लिए क्या क्या करना चाहिए? और Detective kya hota hai की जानकारी हिंदी में आपको मिलेगी। इसलिए हमारे इस आर्टिकल को लास्ट तक पढ़े।

डिटेक्टिव किसे कहते हैं? | What is detective information in hindi?

जब व्यक्ति होता है। जो किसी डिटेक्टिव एजेंसी में कार्य करता है या फिर किसी व्यक्ति विशेष के द्वारा हायर किया जाता है। डिटेक्टिव एजेंसी में होने वाले कार्यों को detective के द्वारा किया जाता है। यह किसी व्यक्ति विशेष के लिए भी कार्य करता है। डिटेक्टिव की आवश्यकता पुलिस ऑफिसर को भी पड़ सकती है। डिटेक्टिव आपके द्वारा बताए गए कार्य को पूरा करते हैं। यदि आप किसी व्यक्ति की जासूसी कराना चाहते हैं। तो एक डिटेक्टिव को personally हायर करके करा सकते हैं।

 डिटेक्टिव क्या होता है? | डिटेक्टिव कैसे बनें? | योग्यता, सैलरी और कार्य

डिटेक्टिव कैसे बनें? | How to become a detective?

Detective word  सुनने में काफी ज्यादा इंटरेस्टिंग होता है। और बच्चे तो डिटेक्टिव के दीवाने होते हैं। परंतु यदि आप डिटेक्टिव बनना चाहते हैं। तो आपको क्या करना चाहिए। बड़े-बड़े लोगों से सेलिब्रिटी, कॉरपोरेट कंपनी और पर्सनल लोगों के लिए जासूसी करते हैं। इंडिया में बहुत सारी यूनिवर्सिटी में डिफेक्टिव कोर्स डिटेक्टिव बनने के लिए कराए जाते हैं। जिन्हें करके आप डिटेक्टिव बन सकते हैं। परंतु आपको इस बात का ध्यान रखना होगा। कि डिटेक्टिव कोर्स भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ही करें। ताकि आपको मान्यता प्राप्त सर्टिफिकेट प्रदान किया जाए।

डिटेक्टिव बनने के लिए क्या करें? | What do you do to Become detective?

अगर आप एक अच्छे डिटेक्टिव बनना चाहते हैं। तो आपके अंदर डिटेक्टिव बनने के सारे गुण होने चाहिए। ताकि आप एक अच्छे विद्यार्थी बन सके। इसीलिए आज हम आपको बताएंगे की detective बनने के लिए आपके अंदर कौन  से गुण या खूबियां होनी चाहिए। डिटेक्टिव बनने के आपके पास कौन सी खूबियाँ होनी चाहिए। इसके लिए हमने नीचे point में आपको विस्तार पूर्वक जानकारी दी है।

1. जोखिम उठाने के लिए तैयार रहें?

डिटेक्टिव शब्द से आप इतना तो जानते ही होंगे कि यदि आप किसीकी जासूसी करेंगे तो आपको इसमें रिस्क तो उठाना होगा। यह तो हम सब ने टीवियो में भी देखा है। की डिटेक्टिव अपनी जान पर खेलकर जासूसी करता है। इसके साथ आपके पास यह हुनर होना चाहिए कि जासूसी करते वक्त किसी भी व्यक्ति को यह पता ना चले कि आप उसकी जासूसी कर रहे हैं तथा आपका नाम, पता और संपूर्ण आइडेंटिटी गुप्त रहनी चाहिए।

यदि कोई व्यक्ति किसी की जासूसी करता है। तो उसकी जान को खतरा भी होता है। क्योंकि आपको नहीं पता कि सामने वाला व्यक्ति किस स्वभाव का तथा कौन से बैकग्राउंड से belong करता है। इसिलये डिटेक्टिव बनने के लिए आपको जोखिम उठाने के लिए तैयार रहना होगा।

2. किसी भी प्रकार के काम के लिए तैयार?

डिटेक्टिव किसी पर्सनल व्यक्ति के लिए हायर किया जाता है। यदि सरल भाषा में कहा जाए तो वह उस इंसान से संबंधित सभी जानकारी इकट्ठा करता है। उसके बाद उसकी जासूसी करना शुरू करता है। जासूसी करने के अलावा detective officer से और कई प्रकार के काम करवाए जाते हैं। जैसे उसे शादी करने से पहले दोनों पक्षों की गुप्त रिपोर्ट बनाने का कार्य दिया जाता है।

कभी-कभी माता-पिता किसी डिटेक्टिव को हायर करके अपने बच्चों की बाहरी गतिविधियों पर नगर रखवाते हैं। डिटेक्ट detective के द्वारा अकाल मृत्यु को प्राप्त व्यक्ति के बारे में सारी इनफार्मेशन जुटाते है और उसकी मृत्यु का निश्चित कारण खोजते हैं।

3. एक्टिंग करना सीखें?

यदि आप एक अच्छा जासूस बनना चाहते हैं। तो आपको एक्टिंग करना भी आना चाहिए। यदि आप झूठ नहीं बोल पाते हैं। तो आपको झूठ बोलने की एक्टिंग करनी आनी चाहिए। तभी आप एक अच्छे डेटेक्टिव बन सकते हैं। क्योंकि डिटेक्टिव को जासूसी करते वक्त कई किरदार निभाने पड़ते हैं। ताकि जिस व्यक्ति की आप जासूसी कर रहे हैं। उस व्यक्ति को आपकी कोई जानकारी नहीं हो।

साथ ही उसे इस बात का पता ना चल पाए कि आप उसकी जासूसी कर रहे है। और एक detective है। डिटेक्टिव को कभी कभी किसी व्यक्ति की जासूसी करने के लिए बहुत से किरदार जैसे:- नौकर, पुलिस आदि निभाने पड़ते हैं। यही कारण है कि आपको detective बनने के लिए एक अच्छी एक्टिंग आना आवश्यक है।

4. टेक्नोलॉजी का उपयोग करना सीखें?

आप तो जानते हैं कि आज के नए दौर में टेक्नोलॉजी को कितना इस्तेमाल किया जा सकता है। आप हर काम के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसी प्रकार detective भी टेक्नोलॉजी की सहायता से किसी व्यक्ति की इंफॉर्मेशन को इकट्ठा कर सकते हैं। उसके सोशल मीडिया अकाउंट से भी आप उसकी सारी इनफार्मेशन तरह कर सकते हैं।

इसके लिए आपको टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करना आना चाहिए। डिटेक्टिव के पास डिलीट मोबाइल डाटा वापस प्राप्त करने का हुनर होना चाहिए। यदि आप किसी व्यक्ति की जासूसी करते हैं और वह अपना सबूत मिटा दे देता है। तो आपको फोन का डाटा रिकवर करना आना चाहिए।

इसीलिए जासूसी करने वाले डिटेक्टिव को यह पता होना चाहिए। कि मोबाइल का डिलीट डाटा आप कैसे वापस पा सकते हैं। क्योंकि यह आपकी बेहद मदद करता है। यह काम करने के लिए कोई भी डिडेक्टिक किसी एक्सपोर्ट की हेल्प कर सक़ता है। परंतु इससे उससे detective होने की प्राइवेसी नष्ट हो जाती है। और उसे सारी इनफार्मेशन बतानी होती है। इसलिए एक अच्छे डिटेक्टिव को टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करना भी आना चाहिए।

5. फोटोग्राफी करना सीखें?

आप जिस व्यक्ति की जासूसी करना चाहते हैं। उस व्यक्ति की जासूसी आप उसके सामने नहीं कर सकते हैं। इसलिए आपको सारी इनफार्मेशन छुप-छुपकर ही जुटानी होती है। इसके लिए आपको फोटोग्राफी करना आना चाहिए। ताकि आप खुद छुप कर एक अच्छी फोटो क्लिक कर सकें। और ज्यादा से ज्यादा जानकारी इकट्ठा कर सके।

यदि आपको जिस व्यक्ति की जानकारी इकट्ठा करना है। और वह आपको किसी से मिलते हुए, बातें करते हुए या फिर अवैध कार्य करते हुए दिखाई देता है। तो आप उसकी वीडियो और फोटो क्लिक करके सबूत के तौर पर इकट्ठा कर सकते हैं। यही कारण है आपको detective बनने के लिए फोटोग्राफी  सीखनी चाहिए।

6. कानूनी प्रक्रिया के बारे में जाने?

यदि आप Detective बनना चाहते हैं। तो आपको कानूनी प्रक्रिया के बारे में सारी जानकारी पता होनी चाहिए। यानी यदि आप किसी व्यक्ति की फोटो और वीडियो बना रहे हैं। तो उससे कोई कानूनी प्रक्रिया तो आप पर नहीं हो सकती है। आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए। तथा आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए।

कि आप जिस व्यक्ति की जासूसी कर रहे हैं। वह राष्ट्रीय सिक्योरिटी से तो संबंधित नहीं है। क्योंकि यदि ऐसा होता है। तो आप पर सरकारी प्रतिक्रिया हो सकती है। इसलिए आपको जासूसी का कोई ऐसा केस अपने अंडर में नहीं रहना है। जिससे आप कानून की चपेट में न आए। इसीलिए आपको कानूनी प्रक्रिया की जानकारी देनी होती है।

7. एक फॉरेंसिक विशेषज्ञ बने?

एक अच्छा डिटेक्टिव बनने के लिए आपको फॉरेंसिक विशेषज्ञ भी होना चाहिए। क्योंकि जब कोई डिटेक्टिव किसी दूसरे व्यक्ति की जासूसी करता है। और इंफॉर्मेशन इकठ्ठी करता है। तो उसे कुछ ऐसी जानकारी भी मिल सकती है। जो detective के समझ मे नहीं आती है। तथा उन्हें उन वस्तु से संबंधित कोई जानकारी नहीं होती है। तो ऐसे में डिटेक्टिव की फॉरेंसिक विशेषज्ञ की सहायता लेनी होती है। ताकि आपको उन वस्तुओं की जानकारी प्राप्त हो सकें।

यदि आप डिटेक्टिव बनना चाहते हैं। तो आपके पास कुछ जानकारी फोरेंसिक विशेषज्ञ की भी रखनी चाहिए। तो आप डिटेक्टिव बनने में काफी अच्छे होंगे। क्योंकि आपको इन सब बातों के लिए किसी भी फॉरेंसिक विशेषज्ञ की आवश्यकता नहीं होगी और आप एक अच्छे डिटेक्टिव बन पाएंगे। परंतु यदि किसी कारणवश आप विशेषज्ञ नहीं बन पाते हैं। तो आप अपनी जासूसी के दौरान किसी फॉरेंसिक विशेषज्ञ की मदद ले सकते हैं।

8. क्रिएटिव बनें?

यदि आप क्रिएटिव होंगे। तभी आप किसी इंसान की अच्छे से जासूसी कर सकते है। अच्छे detective को क्रिएटिव होना बेहद आवश्यक होता है। क्योंकि डिटेक्टिव एक ऐसा फील्ड है। जहां आपको कदम कदम पर क्रिएटिविटी करनी होती है। आपकी यह क्रेटिविटी तब काम आती है। जब आप किसी व्यक्ति की जासूसी कर रहे हैं और उसे पता भी ना लगे। कि आप उसकी जासूसी करने के लिए उसके पीछे लगे है। आप कुछ इस तरीके से अपने भेश को बदल कर उसकी जासूसी कर सकते हैं। इसी कार्य को क्रिएटिविटी कहते हैं।

साथ ही जब आप किसी व्यक्ति से बातों बातों में उसका सच उगलवाना चाहते हैं। तब भी यह क्रिएटिविटी आपकी पूर्ण मदद करेगी। क्योंकि आप उसके राज को जान पाने में सक्षम होंगे। साथी उस व्यक्ति को आप पर किसी प्रकार का कोई शक भी नहीं होना चाहिए। एक अच्छे डेटेक्टिव की सबसे खास बात उसकी क्रिएटिविटी ही होती है। क्योंकि इसके द्वारा ही वह किसी को कुछ भी बताएं अपने सारे जवाब पा लेता है।

9. निडर बने?

यह तो आप सब जानते हैं। की डेटेक्टिव बनने के लिए आपको अपनी जान हथेली पर रखनी होती है। क्योंकि इस व्यवसाय में आपकी जान को भी खतरा हो सकता है। तो इसके लिए आपको निडर होना पड़ेगा। यदि आप दिल के कमजोर है। तो आपको इस व्यवसाय के बारे में नहीं सोचना  चाहिए। यदि आप को कोई व्यक्ति पर्सनली हायर करता है। और किसी दूसरे व्यक्ति की जासूसी करने का कार्य देता है। तो इसमें आपको खतरे का सामना करना पड़ता है।

डिटेक्टिव बनने में यदि आप किसी व्यक्ति के जासूसी कर रहे हैं। और उसको आपकी सच्चाई पता चल जाती है। तो आपको धमकियां भी मिलती हैं। जिसमें डर के  कारण आप अपने निर्णय बदल सकते हैं। इसीलिए आपको निडर होना चाहिए। ताकि आप अपने कार्य को सफलतापूर्वक पूरा कर सकें और बिना किसी डर के अपनी जिंदगी को जी सकें। डिटेक्टिव कोई भी कमजोर और डरपोक व्यक्ति नहीं बन सकता है। यदि आपको डेटेक्टिव बनना है। तो आपको निडर होना पड़ेगा।

डिटेक्टिव का कार्य क्या होता है? What is the work of a detective?

यदि आप जानना चाहते हैं कि डिटेक्टिव के मुख्य कार्य क्या क्या होते हैं? तो हमने नीचे आपको डिटेक्टिव के काम पॉइंट में बताएं है।

  • डिटेक्टिव प्राइवेट और सरकारी दोनों क्षेत्रों में होते हैं। डिटेक्टिव detective agencies के अंदर कार्य करते है। प्राइवेट एजेंसी में कार्य करने वाले डिटेक्टिव को पर्सनली कोई भी व्यक्ति हायर कर सकता है। परंतु government detective  सरकारी कार्य  करते हैं।
  • कुछ कार्य ऐसे होते हैं। जिनको पुलिस के द्वारा सुलझाना मुश्किल होता है। और वह कार्य डेटेक्टिव के द्वारा सुलझाए जाते है।
  • डिटेक्टिव बिना अपनी आइडेंटिटी दिखाएं। दूसरे व्यक्ति की जासूसी करने का कार्य करता है।

डिटेक्टिव का वेतन कितना होता है? | Salary of detective?

किसी भी डिडेक्टिक का वेतन उसकी डिटेक्टिव एजेंसी पर निर्भर करता है। यदि आप detective बन जाते हैं। तो आपको कोई डिटेक्टिव कंपनी जॉब देती है। इस detective agency द्वारा आपको सैलरी दी जाती है । परंतु कोई पर्सनल व्यक्ति भी अपने कार्य के लिए आपको हायर कर सकता है। इसलिए आपका पेमेंट उसके ऊपर भी निर्भर करता है। यदि आप सरकारी डिटेक्टिव होते हैं। तो आपको ₹70000 प्रति महीना सैलरी दी जाती है।

डिटेक्टिव कैसे बने से संबंधित प्रश्न व उत्तर(FAQs)

Q:- डिटेक्टिव कौन होता है?

Ans:- detective वह व्यक्ति होता है। जो किसी डिटेक्टिव एजेंसी में कार्य करता है। और अपने कार्य को इमानदारी से निभाता है।

Q:- डिटेक्टिव का कार्य क्या होता है?

Ans:- डिटेक्टिव बिना अपनी पहचान बताएं दूसरे व्यक्ति की जासूसी करता है। यह गवर्नमेंट और प्राइवेट दोनों सेक्टर होता है।

Q:- प्राइवेट डिटेक्टिव का वेतन कितना होता है?

Ans:- प्राइवेट डिटेक्टिव का वेतन डिटेक्टिव एजेंसी पर निर्भर करता है। और साथ ही जिस व्यक्ति ने आपको पर्सनली हायर किया है। उस व्यक्ति के ऊपर भी आपका वेतन निर्भर करेगा।

Q:- सरकारी डिटेक्टिव का वेतन कितना होता है?

Ans:- सरकारी डिटेक्टिव का वेतन ₹70000 प्रति महीना होता है।

Q:- डिटेक्टिव बनने के लिए आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

Ans:- डिटेक्टिव बनने के लिए आपको ऊपर बताई गई विभिन्न प्रकार की बातों का ध्यान रखना चाहिए।

निष्कर्ष

आज हमने आपको  इस आर्टिकल में आपको Detective kya hota hai? इससे संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यदि आप भी डिटेक्टिव बनना चाहते हैं। और आपके पास इससे संबंधित कोई जानकारी नहीं है। तो आज हमारे इस लेख में आपको Detective क्या है? Detective kaise bane? 

डिटेक्टिव बनने के लिए क्या-क्या करना चाहिए? इससे संबंधित सारी जानकारी प्राप्त हो गई होगी। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अवश्य पसंद आई होगी। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है तो हमे कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताइए। साथ ही इस आर्टिकल का अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें।

Spread the love

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।