मैथ के अध्यापक कैसे बने? | मैथ टीचर बनने के लिए क्या करे?

आज के दौर में हर व्यक्ति कुछ ना कुछ बनने का सपना देखता है।  लेकिन आज हम आपको बताएंगे कि मैथ के अध्यापक कैसे बने? यदि आप math के अच्छे अध्यापक बनने की सोच रहे हैं और चाहते हैं। कि आगे चलकर आप मैथ के टीचर बने। तो आपको पूर्णता math में बहुत मेहनत करनी होगी और साथ ही यदि आपको math ke teacher kaise bane?  इससे संबंधित कोई जानकारी नहीं है। तो इसकी जानकारी को ढूंढना होगा। यदि आप बिल्कुल भी इस बारे में नही जानते है। तो आज आप बिल्कुल सही जगह आये है। आज हम आपको गणित के अध्यापक कैसे बने? से संबंधित जानकारी देंगे।

मैथ टीचर बनने के लिए क्या करे? | How to become a Math Teacher?

यदि आप प्राइमरी और माध्यमिक विद्यालय में मैथ के टीचर बनना चाहते हैं। तो आप इतना तो जान गए होंगे। कि आपके पास math subject होना अनिवार्य है। साथ ही साथ आपको मैथ बहुत अच्छी तरीके से आनी चाहिए। यदि आप आसान भाषा में Math ke teacher kaise bane?  माध्यमिक और प्राइमरी कक्षाओं में टीचर बनने के लिए क्या-क्या करना चाहिए? योग्यता, सैलरी आदि के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। तो हमारे साथ इस लेख पर बने रहिए। आज हम आपको बिल्कुल सरल भाषा लगा में इन सब बातों की जानकारी प्रदान करने वाले है।

मैथ के अध्यापक कैसे बने? | मैथ टीचर बनने के लिए क्या करे?

वैसे तो बहुत से लोग मैथ से डिग्रियां प्राप्त किए होते हैं। परंतु उनमें मैथ के टीचर बनने की काबिलियत नहीं होती है। आप किस तरीके से मैथ के टीचर बनने के लिए काबिलियत ला सकते हैं? और अपनी पढ़ाई को किस प्रकार कर सकते हैं? टीचर बनने के लिए आपको कौन कौन से एग्जाम पास करने होंगे। साथ ही टीचर बनने के लिए कौन-कौन सी योग्यताएं सरकार द्वारा रखी गई है। यह सारी जानकारी आपको आज यहीं मिलेगी। अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे इस पोस्ट को अंत तक पढ़िए।

10th में जिन विद्यार्थियों ने साइंस सब्जेक्ट का अध्यन किया है। वह मैथ या जीव विज्ञान की टीचर बनने के लिए पात्र होते हैं। आइए जानते हैं। की मैथ की टीचर बनने के लिए आपको नीचे दी गई प्रक्रिया को पूर्ण रूप से follow करना चाहिए।

1. 11th और 12th परीक्षा साइंस मैथमेटिक्स के साथ पास करें?

यदि आप मैथ के टीचर बनना चाहते हैं। तो आपको 11th में साइंस विषय का चुनाव करना होता है। इसमें भी आपको दो विषय दिए जाते हैं। जीव विज्ञान और math यदि आप जीव विज्ञान का चयन करते हैं। तो जीव विज्ञान के अध्यापक बनने के लिए पात्र होते हैं और यदि आप मैथ के विषय का चयन करते हैं तो आप मैथ के टीचर बनने के लिए पात्र हो जाते हैं। आपको अध्यापक पात्रता एग्जाम में बैठने के लिए 12th में कम से कम 50 % मार्क्स लाना अनिवार्य होता है। आरक्षित वर्ग में आने वाले व्यक्तियों को 5% की छूट दी जाती है। इसके बाद आपको साइंस विषय से ही ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करनी होती है।

12वीं के बाद प्राथमिक टीचर कैसे बने?

यदि आप 12वीं के बाद ही टीचर बनना चाहते हैं और आगे की पढ़ाई नहीं करना चाहते है। तो इसके लिए आप एक डिप्लोमा डीएलएड (D.EL.ED) कर सकते हैं। जिसे हम डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन कहते हैं। प्राइमरी शिक्षा के अध्यापक बनने के लिए आपको या इसके समकक्ष डिग्री प्राप्त करना आवश्यक है। इन डिग्री/डिप्लोमा की न्यूनतम अवधि 2 वर्ष होती है।

साथ ही साथ आपको अध्यापक पात्रता परीक्षा (Teacher Eligibility Test) को भी पास करना होता है। केंद्र सरकार द्वारा यह अध्यापक पात्रता परीक्षा CTET तथा अन्य राज्य द्वारा अपने-अपने राज्य के लिए आयोजित की जाती हैं। केंद्र द्वारा आयोजित की जाने वाली सीटेट परीक्षा को पास करने के बाद आप केंद्रीय विद्यालय संगठन द्वारा आयोजित की जाने वाली  टीचर भर्ती में आवेदन करने के लिए सक्षम होते हैं। इस प्रकार प्राइमरी मैथ के टीचर बन सकते हैं।

केंद्रीय विद्यालय शिक्षक भर्ती पात्रता और चयन प्रक्रिया –

किसी भी को जॉब प्राप्त करने के लिए सरकार द्वारा कुछ न कुछ योग्यताएं रखी जाती है। इसी प्रकार यदि आप केंद्रीय विद्यालय में प्राइमरी के टीचर बनना चाहते हैं। तो उसके लिए केंद्र सरकार द्वारा कुछ योग्यताएं रखी गई हैं। जो कि निम्न प्रकार है-

  • 12वीं कक्षा न्यूनतम 50% अंक के साथ पास होना अनिवार्य है।
  • डीएलएड डिप्लोमा या फिर कोई अध्यापक प्रशिक्षण डिग्री होना अनिवार्य है।
  • केंद्र सरकार द्वारा आयोजित की गई अध्यापक पात्रता परीक्षा में उत्तीर्ण होना आवश्यक है।

उपयोग दिए हुए योग्यता यदि आपके पास है। तो आप विभिन्न राज्यों में आयोजित की जाने वाली प्राइमरी अध्यापक भर्ती के लिए आवेदन करने में सक्षम होते हैं और उन परीक्षाओं को उत्तरीण करने के बाद आप प्राथमिक टीचर बन सकते हैं।

2. 12th के बाद बीएससी की डिग्री प्राप्त करें?

यदि आपने 12th अच्छे नंबरों से पास कर लिया है। तो इसके बाद आपको बीएससी की डिग्री प्राप्त करनी होगी। आपको मैथमेटिक्स सब्जेक्ट के साथ ही बीएससी कंप्लीट करनी होगी। इसके लिए आपके 12th में कम से कम 50% अंक प्राप्त करने होंगे। आरक्षित वर्ग में आने वाले व्यक्ति के लिए 5% की छूट होती है। बीएससी की बात करें तो बीएससी 3 साल की डिग्री होती है। जिसमें आप PCM (Physics, Chemistry aur Math)  के द्वारा अपनी  स्नातक की डिग्री हासिल करते हैं।

बीएससी मैथ के बाद प्राइमरी और माध्यमिक टीचर कैसे बने?

जिन विद्यार्थियों ने स्नातक में मैथ सब्जेक्ट के साथ पढ़ाई की है। टीचर बनने के लिए उनके स्नातक के 50% अंक आने अनिवार्य है। आरक्षित वर्ग में आने वाले छात्रों को 5% की छूट दी जाती है। इसके बाद आप शिक्षा में डिप्लोमा या डिग्री प्राप्त करके प्राइमरी और माध्यमिक शिक्षा में मैथ के टीचर बनने के लिए पात्र होते है। आमतौर पर B.Ed इसके लिए ज्यादा सफल माना जाता है। यह 2 साल की डिग्री होती है। जिसे अच्छे नंबरों के साथ पास करने के बाद आप प्राइमरी और माध्यमिक टीचर बनने के लिए सक्षम होते हैं।

प्राथमिक और माध्यमिक स्तर की टीचर बनने के लिए आपको अध्यापक पात्रता परीक्षा उत्तरीण करनी जरूरी होती है। पहले TGT ( सेकंड ग्रेड टीचर ) बनने के लिए यह आवश्यक नहीं होती थी। टीजीटी के टीचर बनने के बाद आप 9 से 10 तक के बच्चों को पढ़ाने में उसके लिए सक्षम होते हैं।

केंद्रीय विद्यालय में TGT के टीचर कैसे बने?

यदि आपके केंद्र विद्यालय में TGT (second grade teacher) का टीचर बनना चाहते हैं। तो आपको केंद्र सरकार द्वारा आयोजित किए जाने वाले अध्यापक पात्रता परीक्षा CTET की परीक्षा को उत्तीर्ण करना आवश्यक है। इस CTET Exam को पास करने के बाद आप केंद्रीय विद्यालय द्वारा आयोजित होने वाली शिक्षा भर्ती के लिए आवेदन कर सकते हैं। साथ ही साथ आप किसी भी राज्य के द्वारा आयोजित होने वाली शिक्षा भर्ती परीक्षा में आवेदन करने के लिए सक्षम होते हैं। इस प्रकार आप केंद्रीय विद्यालय में TGT (Trained Graduate teacher) के टीचर बन सकते हैं।

केंद्रीय विद्यालय TGT  teacher बनने के लिए योग्यता-

केंद्र सरकार द्वारा TGT teacher बनने के लिए कुछ योग्यताएं रखी गई है। जो कि निम्न प्रकार है-

  • बीएससी मैथ सब्जेक्ट से 50% नंबर से पास होनी आवश्यक है।
  • B.Ed या शिक्षा में समकक्ष प्राप्त करनी आवश्यक है।
  • विद्यार्थी को केंद्र सरकार द्वारा आयोजित अध्यापक पात्रता परीक्षा (CTET) पास करनी अनिवार्य  है।

3. एनएससी (M.sc.) करके टीचर कैसे बने?

एमएससी की डिग्री प्राप्त करने के लिए आपको ग्रेजुएशन में 55% मार्क्स लाना अनिवार्य है। आरक्षित वर्ग वालों को प

5% मार्क्स छुट की सुविधा प्रदान की जाती है। MSC करने के बाद आप PGT के टीचर बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए भी टीजीटी के समान ही योग्यताएं सरकार द्वारा रखी गई है। पीजीटी की शिक्षा भर्ती किसी भी राज्य और केंद्र के द्वारा निकाली जाती हैं। यदि आप किसी राज्य स्पेशल अध्यापक पात्रता परीक्षा को पास करते हैं। तो आप केवल उसी राज्य में निकलने वाली टीजीटी और पीजीटी शिक्षा भर्ती में आवेदन कर सकते हैं।

एमएससी के बाद केंद्रीय विद्यालय में PGT (Post graduate teacher) के टीचर कैसे बने?

PGT (post graduate teacher) के टीचर बनने के लिए आपको टीजीटी के समान ही केंद्र सरकार द्वारा आयोजित अध्यापक पात्रता परीक्षा पास करनी होगी। इसके बाद ही आप केंद्रीय विद्यालय द्वारा आयोजित किए जाने वाली पीजीटी टीचर भर्ती में आवेदन करने के लिए सक्षम होंगे। पीजीटी के अंतर्गत आपको 11th और 12th के बच्चों को पढ़ाना होता है।

केंद्रीय विद्यालय में पीजीटी टीचर बनने के लिए योग्यता-

केंद्रीय विद्यालय में PGT (post graduate teacher)  के टीचर बनने के लिए सरकार द्वारा योग्यता रखी गई है। जो कि निम्न प्रकार-

  • बीएससी और एमएससी math subject से कम से कम 50% मार्क्स के साथ पास होना अनिवार्य है।
  • इसके लिए आपको B.Ed degree/diploma की आवश्यकता नहीं होती है।
  • केंद्र द्वारा आयोजित की जाने वाली अध्यापक पात्रता परीक्षा (CTET) को पास करना अनिवार्य है।

4. PHD करके प्रोफेसर कैसे बने?

यदि आप किसी कॉलेज में गणित के लेक्चरर बनना चाहते हैं। इसके लिए आपको एमएससी पास करने के बाद पीएचडी में एडमिशन लेना होगा। उसी के बाद आप किसी भी कॉलेज में गणित के लेक्चरर के पद पर कार्यरत हो सकते हैं। यदि आप एमएससी के बाद B. ed नहीं करना चाहते और PHD करके सेटल होना चाहते हैं। तो यह आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन है। आप किसी भी कॉलेज के मैथ्स लेक्चरर के रूप में काम करने में सक्षम हो सकते है।

Math Teacher के लिए योग्यताएं?

गणित विषय का टीचर बनने के लिए यह तो आप सब जान ही गए होंगे। कि आपको साइंस विषय से पढ़ाई करनी होगी।  12वीं में आपको मैथ सब्जेक्ट चुनना होगा। साथ ही साथ इन दोनों का विषयों में कम से कम 50% अंक लाने अनिवार्य है। साथ ही गणित विषय से स्नातक की डिग्री प्राप्त करनी होगी। मैथ का टीचर बनने के लिए आवश्यक योग्यताएं निम्न प्रकार है-

  • 12th क्लास में कम से कम 50% अंक लाना अनिवार्य है।
  • स्नातक की डिग्री मैथ में प्राप्त करना अनिवार्य है।
  • शिक्षा में B.Ed या अन्य डिप्लोमा करना आवश्यक है।
  • अध्यापक पात्रता परीक्षा को सरकार द्वारा निर्धारित नंबरों के साथ पास करना अनिवार्य है।
  • कॉलेज प्रोफेसर बनने के लिए एमएससी को अच्छे नंबर से पास करना अनिवार्य है।
  • किसी भी परीक्षा में शिक्षक भर्ती में आवेदन करने के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 40 वर्ष होनी चाहिए। परंतु यह आयु सीमा हर राज्य में अलग-अलग रखी गई है।

Private Math Teacher सैलरी कितनी होती है?

जब तक आपकी गवर्नमेंट टीचर नहीं बन जाते है। तब तक आप प्राइवेट कॉलेज में पढा सकते है। और प्राइवेट कॉलेज में मैथ टीचर के रूप में कार्य करते हैं। आपको प्राइवेट में मैथ टीचर के आधार पर ₹20000 से ₹70 हजार प्रतिमाह मिल सकती है। इसके साथ ही यदि आप अपना कोचिंग सेंटर खोल लेते है। तो आप  महीने भर आराम से बहुत अच्छे पैसे कमा सकते हैं।

Government Math Teacher सैलरी कितनी होती है?

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया है। कि मैथ के टीचर दो प्रकार के हो सकते हैं। फर्स्ट ग्रेड टीचर और सेकंड ग्रेड टीचर होते है। फर्स्ट ग्रेड टीचर की सैलरी ₹100000 पर महीना होती है। जबकि सेकंड ग्रेड टीचर की सैलरी ₹80000 प्रति महीना होती है। इसके अलावा सरकार द्वारा सरकारी भत्ते भी दिए जाते हैं। यदि आप पीएचडी कर के किसी कॉलेज में लेक्चरर होते हैं तो उसे कम से कम डेढ़ लाख रुपए प्रति महीना सैलरी प्रदान की जाती है।

मैथ के टीचर कैसे बने? इससे संबंधित प्रश्न व उत्तर-

Q:- Math teacher कौन होता है?

Ans:- यह वह व्यक्ति होता है। जो प्राइमरी, सेकेंडरी व अन्य पद पर कार्यरत होकर बच्चों को मैथ पढ़ाता है।

Q:- किसी भी राज्य मे मैथ टीचर बनने के लिए कौन सा एग्जाम देना आवश्यक है?

Ans:- किसी भी राज्य में math teacher बनने के लिए आपको राज्य स्पेशल यानी TET का अध्यापक पात्रता परीक्षा देना अनिवार्य है।

Q:- केंद्रीय विद्यालय में मैथ का टीचर बनने के लिए कौन सा एग्जाम देना चाहिए

Ans:- केंद्रीय विद्यालय मैथ का टीचर बनने के लिए केंद्र सरकार द्वारा आयोजित किए जाने वाले अध्यापक पात्रता परीक्षा (CTET) को पास करना आवयश्क है।

Q:- प्राइवेट स्कूल में Math teacher की सैलरी क्या होती है?

Ans:- प्राइवेट स्कूल में मैथ टीचर की सैलरी ₹20000 से ₹70000 प्रति महीना होती है।

Q:- सरकारी स्कूल में Math teacher की सैलरी कितनीहोती है?

Ans:- सरकारी स्कूलों में मैथ टीचर को सैलरी दो तरह से मिलती है। फर्स्ट ग्रेड टीचर को ₹100000 प्रति महीना सैलरी  प्रदान की जाती है। तथा सेकंड ग्रेड टीचर को ₹80000 सैलरी मिलती है।

निष्कर्ष

आज हमने आपको अपने आर्टिकल में math teacher kaise bane? से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यदि आप मैथ के टीचर बनना चाहते हैं। तो मैथ टीचर बनने के लिए पात्रता, योग्यता और सैलरी आदि की जानकारी हमने आपको ऊपर दी है। उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी की जानकारी पसंद आई हो।

तो हमें अवश्य बताइए। यदि मैथ के टीचर कैसे बने? से संबंधित कोई भी क्वेश्चन आपके मन में आता है। तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर बता सकते हैं। तथा हमारे इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले।

Spread the love

Main Points

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।