एएनएम कोर्स क्या होता है? | एएनएम कोर्स कैसे करें?

आजकल के दौर में प्रत्येक विद्यार्थी अपने भविष्य में सफल होने की भाग दौड़ में लगा हुआ है। सब अपनी इच्छा के बहुत सारे कोर्स इसको करते हैं और अपने जीवन में सफल भी होते हैं। परंतु आजकल लोग चिकित्सा के क्षेत्र में अपना अधिकतर भविष्य चुनते हैं। कोई डॉक्टर बनना चाहता है, तो कोई नर्स बनने के लिए कोर्स करता है। यह तो आप सब जानते है कि विद्यार्थी अपने जीवन में सफल होने के लिए कोर्स करते हैं। आज हम कोर्स के बारे में आपको बताएंगे। परंतु बहुत से लोगों को इसकी सही जानकारी नहीं होती है। हमारे द्वारा आज आपको ANM Kya hota hai? इसके बारे में बताया जा रहा है। साथ ही साथ एएनएम कोर्स से संबंधित सभी जानकारी आपको इस लेख में विस्तारपूर्वक जानने को मिलेंगी।

यह तो सभी जानते हैं कि नर्स बनने के लिए दो प्रमुख कोर्स बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है। एएनएम और जीएनएम। परंतु आज हम आपको एएनएम कोर्स के बारे में बताने वाले है। इस कोर्स को अधिकतर लड़कियों के द्वारा किया जाता है। परंतु एएनएम कोर्स को लड़के नहीं कर सकते हैं। यदि लड़के भी इस क्षेत्र में अपने भविष्य को बनाना चाहते है। सुबह जीएनएम कोर्स कर सकते हैं। इसीलिए यदि आप एएनएम कोर्स करना चाहते है और उसके पास इससे संबंधित कोई भी जानकारी नहीं है तो आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आज हम आपको अपने इस लेख में What is ANM Course? इससे संबंधित सभी जानकारी बताने वाले हैं। अधिक जानकारी के लिए हमारे सिलीकान तक अवश्य पढ़ें।

Contents show

एएनएम कोर्स क्या होता है? (What is the ANM Course?)

एएनएम कोर्स से संबंधित संपूर्ण जानकारी को प्राप्त करने से पहले आपको यह जानकारी होनी चाहिए की ANM Course kya hota hai? इसलिए हमारे द्वारा यहां आपको इसके बारे में बताया जा रहा है। एनम कोर्स चिकित्सा से संबंधित होता है। यह एक प्रकार का डिप्लोमा कोर्स होता है। इस कोर्स को करने के बाद विद्यार्थी सहायक नर्स के रूप में कार्यरत होते हैं। यह 2 वर्ष का कोर्स होता है। यह कोर्स केवल महिलाओं के द्वारा ही किया जा सकता है। इस कोर्स को करने में अक्षम होते हैं। पुरुष जीएनएम करके चिकित्सा के क्षेत्र में अपना भविष्य बना सकते हैं। जीएनएम कोर्स पुरुष और महिलाएं दोनों कर सकते हैं।

एएनएम कोर्स क्या होता है एएनएम कोर्स कैसे करें

इस कोर्स में सभी छात्र-छात्राओं को चिकित्सा से संबंधित जानकारी देने के बाद इसकी ट्रेनिंग भी दी जाती है। इस ट्रेनिंग के अंतर्गत छात्राओं को मरीजों को इंजेक्शन लगाना दवा देना, कपड़े चेंज करना, मरीजों को प्रथम उपचार देना और रिकॉर्ड मेंटेन करने हेतु ट्रेनिंग दी जाती है। इसके साथ-साथ हॉस्पिटल में उन्हें डॉक्टर के साथ सहायक नर्स के तौर पर काम करने की ट्रेनिंग भी दी जाती है। यह नर्स गांव व शहरों में बच्चों को टीका लगवाने का कार्य भी करती है। हॉस्पिटल में उपस्थित बहुत सारे उपकरणों की जानकारी भी इन्हें प्रदान की जाती है। ताकि यह मरीज की देखभाल के दौरान इन उपकरणों का रखरखाव अच्छे से कर सकें।

एएनएम की फुल फॉर्म क्या होती है? (What is the full form of ANM?)

एएनएम एक शॉर्ट फॉर्म है, परंतु सभी को इसकी फुल फॉर्म की जानकारी होनी चाहिए। तो हम आपको बता दें एएनएम की फुल फॉर्म “Auxiliary Nurse Midwifery” होती है। इस कोर्स को हिंदी में “सहायक नर्स प्रसूति विद्या कोर्स” के नाम से जाना जाता है। यदि सरल भाषा में बताया जाए तो यह कोर्स चिकित्सा से संबंधित होता है। जिसके अंतर्गत छात्राओं को सहायक नर्स और प्रसूति विद्या से संबंधित शिक्षा प्रदान की जाती है। एएनएम कोर्स एक प्रकार का डिप्लोमा कोर्स होता है। इस कोर्स के अंतर्गत छात्राओं को ट्रेनिंग भी दी जाती है। इस कोर्स को करके आप एक अच्छी सहायक नर्स बन सकती है।

एएनएम का कोर्स कितने साल का होता है? (ANM Course duration?)

यह सवाल आपके मन में अवश्य होगा, कि आखिर एएनएम कोर्स कितने साल का होता है? तो हम आपको बता दें एएनएम कोर्स 2 वर्ष का होता है। इस कोर्स के अंतर्गत छात्राओं को चिकित्सा से संबंधित पाठ्यक्रम पर शिक्षा प्रदान की जाती है। 2 साल की संपूर्ण कोर्स के अंतर्गत 18 महीने तक छात्राओं को प्रैक्टिकल और थ्योरी के माध्यम से शिक्षा दी जाती है। परंतु अंतिम छह महीनों में छात्राओं को इंटर्नशिप का अनुभव प्रदान किया जाता है ताकि वह अपनी पड़ी रही सभी थ्योरी और प्रैक्टिकल का अप्लाई कर सकें। कुछ कॉलेज के द्वारा इस कोर्स में एडमिशन लेने से पहले एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता है। यह कोर्स बहुत ही कम समय का होता है। जो आपका एक अच्छा भविष्य प्रदान करने में सक्षम होता है।

एएनएम कोर्स फीस कितनी होती है? (ANM Course fees?)

अब हम आपको यहाँ ANM Course ki fees kitni hoti hai? इसके बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। जो भी महिलाएं इस कोर्स को करना चाहती है। उनको यह जानकारी होना जरूरी है कि ANM Course fees कितनी होती है? सरकारी कॉलेज की बात करें, तो सरकारी कॉलेजों में प्राइवेट संस्थानों की तुलना में एएनएम कोर्स की फीस बहुत कम होती है। साथ ही साथ जो महिला विद्यार्थी आरक्षित वर्ग से आते हैं। उन्हें सरकारी कॉलेजों में फीस जमा नहीं करनी पड़ती है। जबकि जो महिलाएं सामान्य जाति की होती है। उन्हें भी बहुत कम फीस देनी होती है। जिसकी मात्रा ₹5000 से लेकर ₹10000 तक होती है। सरकारी संस्थानों से इस कोर्स को करने पर आपको परेशानी नहीं होगी।

परंतु आपको यह जानकारी पता होनी चाहिए कि सरकारी कॉलेजों में प्रवेश लेने से पहले छात्राओं को एक एंट्रेंस एग्जाम से होकर गुजरना पड़ता है। इसके तत्पश्चात ही मेरिट के आधार पर सरकारी संस्थान में उन्हें सीट आवंटित की जाती है। हालांकि प्राइवेट कॉलेजों में आप बिना एंट्रेंस एग्जाम के एडमिशन ले सकते हैं। परंतु अलग-अलग प्राइवेट संस्थानों में कोर्स की फीस भी अलग-अलग होती है। यदि औसत के अनुसार प्राइवेट संस्थानों की फीस के बारे में जानकारी दी जाए, तो ₹50000 से लेकर 2 लाख रुपए तक 1 वर्ष में एएनएम कोर्स की फीस चली जाती है। इस फीस को सभी छात्राएं देने में सक्षम नहीं होते है।

एएनएम कोर्स में कौन-कौन से विषय होते हैं? (ANM Course syllabus?)

जो विद्यार्थी एएनएम कोर्स करने के इच्छुक हैं। उनके मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि आखिर एएनएम कोर्स में कौन-कौन से विषय से संबंधित पढ़ाई की कराई जाती है। तो आज हम आपको यहां ANM Course Syllabus? के बारे में जानकारी दी गई है। यह तो आप सब जानते हैं कि इसका पूरा पाठ्यक्रम चिकित्सा पर आधारित होता है। यदि आप संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। तो हमारे द्वारा नीचे वर्ष के अनुसार पाठ्यक्रम की जानकारी दी गई है। जो कि निम्न प्रकार है-

फर्स्ट ईयर सिलेबस (1st year ANM Course Syllabus?)

यहां हमारे द्वारा आपको फर्स्ट ईयर सिलेबस की जानकारी दी गई है-

  • स्वास्थ्य प्रचार (Health promotion)
  • सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग (Community Health Nursing)
  • बाल स्वास्थ्य नर्सिंग (Child Health Nursing)
  • प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल नर्सिंग (Primary Health Care Nursing)

ऊपर दिए गए संपूर्ण पाठ्यक्रम के अनुसार एएनएम कोर्स के प्रथम वर्ष में छात्राओं को पढ़ाया जाता है। इन सभी की जानकारी छात्राओं को विस्तार पूर्वक पूरे वर्ष दी जाती है। इसी के आधार पर उनकी परीक्षा भी ली जाती है।

सेकंड ईयर सिलेबस (2nd year ANM Course Syllabus?)

यहां हमारे द्वारा आपको सेकंड ईयर सिलेबस की जानकारी दी जा रही है। इसके अंतर्गत छात्राओं को जिस पाठ्यक्रम के अनुसार पढ़ाया जाता है। उसके बारे में हमने नीचे पॉइंट के माध्यम से बताया है।

  • दाई का काम (Midwifery)
  • स्वास्थ्य केंद्र प्रबंधन (Health Centre Management)

एएनएम कोर्स कैसे करें? (How to do ANM Course?)

जैसे कि हमारे द्वारा आपको बताया गया है कि एएनएम कोर्स महिला के द्वारा किया जा सकता है। पुरुष इस कोर्स को नहीं कर सकते हैं इसीलिए हमारे द्वारा यहां आपको यह भी बताया गया है, कि How to do ANM Course? इसकी जानकारी नीचे पॉइंट के माध्यम से विस्तार पूर्वक दी गई है। जो कि निम्न प्रकार है-

  • एएनएम कोर्स करने हेतु छात्राओं को सर्वप्रथम 12वीं कक्षा तक अपनी पढ़ाई पूरी करनी होगी। आप 12वीं कक्षा तक पढ़ाई किसी विषय में कर सकते हैं। परंतु आपके पास इंग्लिश होना आवश्यक है।
  • जब आप 12वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी कर ले। तब आप एएनएम कोर्स एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी के सिलेबस को इकट्ठा करें और उसकी तैयारी करें। यह सारा सिलेबस 12वीं कक्षा तक की पढ़ाई पर आधारित होता है।
  • आप जिस सरकारी संस्थान से एएनएम कोर्स करने के इच्छुक हैं। उस सरकारी संस्थान के एंट्रेंस एग्जाम का आवेदन पत्र अवश्य भरे। यह आवेदन पत्र कॉलेज के ऊपर निर्भर करते हैं। कि वह आपको ऑनलाइन आवेदन पत्र उपलब्ध कराते हैं या ऑफलाइन। परंतु आजकल अधिकतर ऑनलाइन आवेदन पत्र उपलब्ध कराए जाते हैं।
  • यदि आप एंट्रेंस एग्जाम को अच्छे नंबरों के साथ पास कर लेते हैं। तो काउंसलिंग हेतु आपको कॉलेज में बुलाया जाता है। मेरिट के आधार पर आपको सरकारी संस्थान में 1 सीट आवंटित कर दी जाएगी।
  • प्रवेश होने के पश्चात शुरू के 18 महीने आपको थ्योरी और प्रैक्टिकल के आधार पर शिक्षा प्रदान की जाएगी। जिस की परीक्षा आपको अच्छे नंबर से बात करनी होगी। फिर कॉलेज के द्वारा आपको संबंधित हॉस्पिटल में 6 महीने की इंटर्नशिप का अनुभव भी प्रदान किया जाएगा।
  • जैसे ही आप इस कोर्स के 2 साल पूरे कर लेते हैं। तो आपको इस डिप्लोमा कोर्स का सर्टिफिकेट प्रदान कर दिया जाएगा। इसके साथ आप किसी भी हॉस्पिटल में जॉब के लिए अप्लाई करने में सक्षम हो सकते हैं।

भारत में एएनएम कोर्स के लिए कॉलेज? (Top college for ANM Course in india?)

भारत में एएनएम कोर्स करने के लिए बहुत सारे कॉलेज उपस्थित है। प्रत्येक छात्राओं को एक अच्छे कॉलेज से ही इस डिप्लोमा को प्राप्त करना चाहिए। ताकि उन्हें आगे जॉब मिलने में किसी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े। साथ ही साथ उन कॉलेजों में आपको एएनएम कोर्स की अच्छी शिक्षा प्रदान की जाती है। परंतु बहुत से लोगों को इसकी सही जानकारी नहीं होती है। आज हमारे द्वारा आपको नीचे Top college for ANM Course in india? की जानकारी दी गई है। यह जानकारी निम्न प्रकार है-

  • विवेकानंद कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग, लखनऊ
  • राजीव गांधी पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट, दिल्ली
  • एरा नर्सिंग कॉलेज, लखनऊ
  • रोहिलखंड मेडिकल कॉलेज, बरेली
  • जवाहरलाल इंस्टीट्यूट आफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च
  • सिंबोसिस इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी
  • बोरा इंस्टीट्यूट ऑफ अलाइड हेल्थ साइंस
  • क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर, तमिलनाडु
  • अपोलो स्कूल ऑफ नर्सिंग, दिल्ली
  • अहिल्याबाई कॉलेज ऑफ नर्सिंग, दिल्ली
  • बरेली इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी
  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज,भुवनेश्वर
  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज, दिल्ली
  • ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हाइजीन एंड पब्लिक हेल्थ, कोलकाता

यदि आप ऊपर दिए गए किसी भी संस्थान से एएनएम कोर्स का डिप्लोमा प्राप्त करते हैं। तो आपको मिलने वाली जॉब के अवसर बहुत अधिक बढ़ जाते हैं। इसके अलावा भी भारत मे बहुत संस्थान है। जो एएनएम कोर्स कराते हैं।

एएनएम कोर्स के लिए योग्यताएं? (Eligibility for ANM course?)

हर कोर्स के लिए प्रत्येक व्यक्ति के पास कोई ना कोई योग्यता होनी चाहिए। तभी वह व्यक्ति उस कोर्स को करने के लिए सक्षम होता है। इसी प्रकार एएनएम कोर्स को करने के लिए महिलाओं के अंदर कुछ योग्यता होनी आवश्यक है। यदि आपको नहीं पता कि एएनएम कोर्स के लिए किस प्रकार की योग्यता की आवश्यकता है? तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। क्योंकि हमारे द्वारा आपको Eligibility for ANM Course? के बारे में बताया गया है। जो कि निम्न प्रकार है-

  • इस कोर्स में जो भी विद्यार्थी एडमिशन लेना चाहता है। उसका महिला होना आवश्यक है। पुरुष इस कोर्स में प्रवेश नहीं ले सकते हैं।
  • यदि कोई छात्रा एएनएम कोर्स के अंतर्गत विवेक लेना चाहती है। तो उसे 12वीं कक्षा की मार्कशीट एक मान्यता प्राप्त विद्यालय से प्राप्त करनी है।
  • विद्यार्थी 12th कक्षा को किसी भी विषय से प्राप्त कर सकते हैं। परंतु कुछ कॉलेजों में यह अनिवार्यता रखी गई है, कि विद्यार्थी के पास अंग्रेजी विषय होना आवश्यक है।
  • एएनएम कोर्स के अंतर्गत प्रवेश लेने हेतु छात्राओं की उम्र न्यूनतम 17 वर्ष होनी आवश्यक है।
  • किसी भी कॉलेज एएनएम कोर्स में एडमिशन लेने हेतु आपको एंट्रेंस एग्जाम पास करना अनिवार्य होता है।
  • कुछ कॉलेज में अंकों के आधार पर मेरिट लगाई जाती है और उसके बाद कॉलेज में एएनएम कोर्स के अंतर्गत प्रवेश लिया जाता है।

एएनएम कोर्स के बाद जॉब? (Job after ANM Course?)

जो भी छात्राएं एएनएम कोर्स को करने के पश्चात जॉब करना चाहती है। उनके लिए भारत में विभिन्न प्रकार की जॉब उपलब्ध होती है। विद्यार्थियों के लाभ के लिए सबसे पहले उन विभागों के बारे में जानते हैं। जहां एएनएम कोर्स से प्राप्त छात्राओं को जॉब के बहुत से अवसर प्रदान किए जाते हैं।

  • सरकारी अस्पताल
  • सरकारी डिस्पेंसरी
  • प्राइवेट अस्पताल
  • नर्सिंग होम्स
  • निजी क्लीनिक

ऊपर दिए गए सभी विभागों में एएनएम कोर्स डिप्लोमा प्राप्त सभी विद्यार्थियों को जॉब दी जाती है। परंतु आपको अवश्य यह जानकारी प्राप्त होनी चाहिय। की एएनएम कोर्स डिप्लोमा प्राप्त विद्यार्थियों को किस के रूप में जॉब प्रदान की जाती है। यदि आपको इसकी जानकारी नहीं है तो हमारे द्वारा आपको यह जानकारी नीचे दी गई है। यह जानकारी नीचे दी गयी है। जो कि निम्न प्रकार है-

  • सामुदायिक स्वास्थ्य नर्स
  • नर्सिंग स्कूल में शिक्षक
  • आईसीयू नर्स (ICU nurse)
  • पोषक शिक्षक
  • स्टाफ नर्स (Staff nurse)
  • नर्सिंग ट्यूटर (nursing tutor)
  • सीनियर नर्स एजुकेटर (Senoir nurse educator)
  • होम केयर नर्स (Home care nurse)

एएनएम कोर्स क्या कार्य होते हैं? (What is the work of ANM Course?)

एएनएम कोर्स करने के पश्चात छात्राएं एक सहायक नर्स के रूप में कार्यरत हो जाती है। परंतु उन्हें किसी भी विभाग में क्या कार्य करने होते हैं? यह जानकारी प्रत्येक छात्रा को होनी आवश्यक होती है। यदि आपको इसकी जानकारी नहीं है। तो हमारे द्वारा नीचे आपको What is the work of ANM Course? के बारे में संपूर्ण जानकारी दी जा रही है। यह जानकारी निम्न प्रकार है-

  • किसी भी अस्पताल या नर्सिंग होम के अंतर्गत मरीज के संपूर्ण इलाज के दौरान डॉक्टर की पूरी तरह सभी कार्यों में मदद करना।
  • हॉस्पिटल में भर्ती होने वाले सभी मरीजों की देखभाल करना। उनके सभी टेस्ट की रिपोर्ट लेना और उनकी सभी जानकारी को मेंटेन करना।
  • मरीज को समय समय पर दवाई देना, उनकी देखभाल करना, कपड़े चेंज करना तथा सभी रिकॉर्ड को मेंटेन करने का कार्य एक नर्स का होता है।
  • अस्पताल में उपस्थित सभी मेडिकल उपकरणों की देखभाल करना, उनका अच्छे से रखरखाव करना तथा उनकी सफाई का ध्यान रखने का कार्य।
  • गांव, कस्बों और शहरों में राज्य सरकार व केंद्रीय सरकार के द्वारा पोलियो हेतु बच्चों को टीका लगवाने का कार्य, ड्राप पिलाने का कार्य आदि नर्सों के द्वारा किया जाता है।
  • ऊपर दिए गए सभी काम एएनएम कोर्स डिप्लोमा प्राप्त व्यक्ति को करने होते हैं।

एएनएम कोर्स की सैलरी कितनी होती है? (ANM Course Nursing Salary?)

हर व्यक्ति कोई भी कोर्स अपने अच्छे भविष्य के लिए करता है। ताकि वह उससे अच्छी कमाई कर सके और अपने जीवन को बहुत ही सुगम तरीके से व्यतीत कर सकें। एएनएम कोर्स की संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के बाद आपके मन में यह सवाल अवश्य आया होगा कि ANM course ki salary kitni hoti hai? तो हमारे द्वारा आपको यहां इसके बारे में बताया गया है। यह जानकारी नीचे दी गई है-

औसत के अनुसार बात की जाए, तो शुरुआत में एएनएम कोर्स डिप्लोमा प्राप्त व्यक्ति को ₹10000 से ₹20000 प्रति माह सैलरी प्रदान की जाती है। इसके पश्चात जैसे-जैसे व्यक्ति का अनुभव बढ़ता जाता है। उनकी सैलरी में भी बढ़ोतरी होती जाती है। कुछ लोग एएनएम कोर्स की डिग्री प्राप्त करके विदेश चले जाते हैं। तो वह इस कोर्स के माध्यम से भारत के मुकाबले कई ज्यादा अधिक पैसे कमा पाते हैं। परंतु भारत मे भी आगे चलकर लोगों की सैलरी 30000 से ऊपर तक पहुंच जाती है।

एएनएम कोर्स क्या होता है? इससे संबंधित प्रश्न व उत्तर (FAQs)

Q:-1. एएनएम कोर्स क्या होता है?

Ans:-1. एएनएम एक चिकित्सा से संबंधित कोर्स है। इस कोर्स को करने के पश्चात कोई भी महिला एक नर्स के रूप में किसी भी अस्पताल और विभाग में कार्यरत होती है। एएनएम कोर्स एक प्रकार का डिप्लोमा कोर्स होता है।

Q:-2. एएनएम की फुल फॉर्म क्या होती है?

Ans:-2. अनेक प्रकार की शॉर्ट फॉर्म होती है। एएनएम की फुल फॉर्म “Auxiliary Nurse Midwifery” होती है। जिसे हिंदी में सहायक नर्स प्रस्तुति विद्या कोर्स के नाम से जाना जाता है।

Q:-3. एएनएम कोर्स कौन कर सकता है?

And:-3. एएनएम कोर्स केवल महिलाओं के द्वारा ही किया जाता है। यदि कोई पुरुष चिकित्सा के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहता है। तो वह जीएनएम कोर्स कर सकता है। जिसके साथ वह एक नर्स की भांति ही अस्पताल में नौकरी कर पाता है।

Q:-4. एएनएम कोर्स कितने साल का होता है?

Ans:-4. एएनएम कोर्स 2 वर्ष का होता है। जिसमें से 18 महीने थ्योरी और प्रैक्टिकल के माध्यम से विद्यार्थियों को पढ़ाई कराई जाती है। इसके 6 महीने पश्चात इंटर्नशिप प्रदान की जाती है।

Q:-5. एएनएम कोर्स डिप्लोमा प्राप्त व्यक्ति की सैलरी कितनी होती है?

Ans:-5. एएनएम कोर्स डिप्लोमा प्राप्त व्यक्ति की सैलरी शुरुआत में ₹10000 से लेकर ₹20000 तक होती है। जो आगे चलकर अनुभव के आधार पर बढ़ा दी जाती है और 30000 से ऊपर तक पहुंचाती है। विदेशों में भारत की तुलना में अधिक सैलरी प्रदान की जाती है।

Q:-6. एएनएम कोर्स में प्रवेश कैसे लें?

Ans:-6. एएनएम कोर्स में प्रवेश लेने से पहले विद्यार्थी को एक एंट्रेंस एग्जाम से होकर गुजरना पड़ता है। प्रवेश परीक्षा केवल सरकारी संस्थानों में मिल जाती है।

एएनएम कोर्स की फीस कितनी होती है?

एएनएम कोर्स की फीस सरकारी संस्थान में सामान्य वर्ग की महिलाओं के लिए ₹5000 से ₹10000 तक होती है। परंतु आरक्षित वर्ग की महिलाओं को फीस जमा नहीं करनी पड़ती है। जबकि प्राइवेट संस्थान में यह फीस औसतन ₹50,000 से लेकर दो लाख तक पहुंच जाती है।

एएनएम कोर्स के लिए भारत में सबसे अच्छे संस्थान कौन से है?

एएनएम कोर्स के लिए भारत में सबसे अच्छे संस्थानों की जानकारी हमारे द्वारा ऊपर दी गई है। आप ऊपर से संस्थानों की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

निष्कर्ष (Conclusion):- आज हमारे द्वारा आपको इस लेख में ANM COURSE KYA HOTA HAI? इसके बारे में संपूर्ण जानकारी बताई गई है। यदि आप चिकित्सा के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते थे। परंतु आपको इससे संबंधित कोई भी जानकारी नहीं थी। तो हमें उम्मीद है कि हमारे इस लेख के जरिए आपको अवश्य ही इस कोर्स की सभी जानकारी प्राप्त की गई होगी। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी अवश्य ही पसंद आई होगी। यदि आपको हमारे द्वारा दिया गया यह आर्टिकल पसंद आया हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताइए। साथ ही साथ हमारे इस लेख को अपने जरूरतमंद दोस्तों व रिश्तेदारों के साथ शेयर करना ना भूलें।

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।