ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? योग्यता, पात्रता कार्य व सैलरी

हर व्यक्ति अपने जीवन को सरल बनाने के लिए एक अच्छी नौकरी की तलाश करता है। कुछ लोग अपने घर पर ही रहकर एक अच्छी नौकरी की तलाश करते हैं। तो यदि आप भी इन्हीं लोगों में से एक हैं। तो आज हम आपको VDO kaise bane? इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे। सरकारी नौकरी हर कोई करना चाहता है और यदि कोई सरकारी नौकरी घर बैठे आपको मिल रही हो तो इससे अच्छी बात क्या हो सकती है। तो इसीलिए आज हम आपको बताएंगे कि ग्राम विकास अधिकारी बनने की क्या प्रक्रिया होती है।

यदि आप भी हमारी बात सहमत है और ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए उसकी प्रक्रिया को जानना चाहते हैं। तो हमारे इसलिए के साथ आपको अंत तक जुड़ना होगा। आज हम आपको अपने एक लेख में VDO kaise bane? ग्राम विकास अधिकारी कौन होता है? ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए? VDO officer ki salary kitni hoti hai? साथ ही आपको बताएंगे कि आप को ऐसा क्या करना चाहिए जिससे आप पहले से ही VDO OFFICER बनने की तैयारी पूरी तरह से कर सके। अधिक जानकारी के लिए हमारे इस लेख से अंत तक जुड़े रहिए।

ग्राम विकास अधिकारी कौन होता है |Who is the Village Development Officer?

यह तो हम सब जानते ही है। कि ग्राम विकास अधिकारी को गांव की भाषा मे प्रधान सचिव के नाम से सम्बोधित करते है। गांव में लगने वाली पंचायत में पंचायत सचिव का एक बहुत बड़ा स्थान होता है। हमारे देश में पंचायत व्यवस्था है। जब भी कोई सरकारी व्यवस्था हमारे देश में लागू की जाती है। तब इसे पंचायत स्तर तक बांटा जाता है। इस तरह देश के हर कोने में योजनाओं की सुविधा को पहुँचाया जाता है। ग्राम विकास अधिकारी एक ऐसा पद होता है। जो पूरे गांव में इन योजनाओं को लागू करने का कार्य करता है।

ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? योग्यता, पात्रता कार्य व सैलरी

Village Development Officer एक ऐसा पद होता है। जो सरकारी नौकरी प्रदान करता है और साथ ही आप इस नौकरी को अपने गांव में रहकर पूर्ण कर सकते हैं। साथ ही एक अच्छा जीवन यापन कर सकते हैं। यदि आप ग्राम विकास अधिकारी बनना चाहते हैं। तो आपको यह पता होना आवश्यक है। कि ग्राम विकास अधिकारी कौन होता है? यह बात तो आपको पता होगी कि ग्राम विकास अधिकारी को सरकार के तौर पर सैलरी मिलती है। इसी प्रकार कोई भी योग्य व्यक्ति ग्राम विकास अधिकारी के पद पर कार्यरत हो सकता है।

वीडियो की फुल फॉर्म क्या होती है? What is the full form of vdo

VDO Officer की फुल फॉर्म की Village Development Officer hoti hai यदि आप जानना चाहते हैं। कि हिंदी में विलेज डेवेलोपेमेंट ऑफिसर को क्या कहते हैं। तो इन्हें हिंदी में ग्राम विकास अधिकारी के नाम से जाना जाता है। किसी गांव की आमतौर की भाषा में प्रधान सचिव के नाम से बुलाया जाता है।

ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? How to become an Village Development Officer?

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए नीचे दिए गए सभी स्टेप्स को फॉलो करना आपके लिए आवश्यक है।

1. 12th पास करें?

सर्वप्रथम आपको किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12th क्लास को पास करना होगा। आप 12th क्लास में अपने इच्छानुसार किसी भी सब्जेक्ट को ले सकते हैं। साथ ही आपको 12th में 55% मार्क्स लाने अनिवार्य होते हैं। ताकि आप एक अच्छे कॉलेज में एडमिशन लेने में सक्षम हो सकें।

2. स्नातक की डिग्री प्राप्त करें?

12th पास करने के तत्पश्चात आपको स्नातक की डिग्री प्राप्त करनी होती है। किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से आप स्नातक की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए एक मेरिट लिस्ट करती है। यदि आप 12th में 55% मार्क्स आते हैं। तभी आपका नाम उस मेरिट लिस्ट में आ पाता हैं। अन्यथा आपका एडमिशन किसी अच्छे कॉलेज में नहीं हो आता है। इसी प्रकार आपको स्नातक में भी 55% मार्क्स प्राप्त करने अनिवार्य होते हैं। ताकि आगे आने वाले किसी भी कंपटीशन एग्जाम में आप आसानी से शामिल हो सके।

3. ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए परीक्षा Exam for become an VDO

राज्य लोक सेवा आयोग के द्वारा हर वर्ष ग्राम विकास अधिकारी के लिए परीक्षा आयोजित की जाती है। यह परीक्षा तीन चरणों में पूर्ण होती है। जब आप इन तीनों चरणों को पास कर लेते हैं। उसके बाद आपको ग्राम विकास अधिकारी के पद पर नियुक्त कर दिया जाता है। और आपको एक सरकारी नौकरी दे दी जाती है। इस परीक्षा का फॉर्म हर साल राज्य लोक सेवा आयोग निकालती है। आपको यह फॉर्म इसकी ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर भरना होता है। आइए जानते हैं यह परीक्षा कौन-कौन से तीन चरणों में पूर्ण होती है।

  • प्राथमिक परीक्षा (premilinary Exam)
  • साक्षरता (Interview)
  • शारीरिक टेस्ट (Physical Test)

ग्राम विकास अधिकारी की प्रारंभिक परीक्षा VDO Preliminary Exam

राज्य लोक सेवा आयोग के द्वारा ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए सर्वप्रथम प्रारंभिक परीक्षा का आयोजन किया जाता है। इस परीक्षा में आपसे बहुविकल्पी प्रश्न पूछे जाते हैं। यह परीक्षा पूर्ण तरीके से पूरी करने के लिए आपको 1 घंटे 30 मिनट का समय दिया जाता है। इसके अंदर आपको अपने सारे क्वेश्चन की जवाब देने होते हैं। प्रारंभिक परीक्षा को पास करके ही आप इस परीक्षा के द्वितीय चरण में जा सकते हैं। आपको यह परीक्षा पास करनी होती है। जब इस परीक्षा का रिजल्ट आता है। तो एक मेरिट लिस्ट सकती है। यदि उस मेरिट लिस्ट में आपका नाम आता है। तो आपकी यह परीक्षा पास होती है। अन्यथा आप इस परीक्षा को पास नहीं कर पाते है।

साक्षरता (Interview)

राज्य लोक सेवा आयोग के द्वारा ग्राम विकास अधिकारी बनने की द्वितीय चरण की परीक्षा का आयोजन किया जाता है। जिसे interview के नाम से संबोधित करते हैं। यदि आप ने प्रारंभिक परीक्षा को अच्छे नंबरों से पास किया है। तो आप को द्वितीय चरण के लिए बुलाया जाता है और आपसे कुछ सवाल जवाब किए जाते हैं। यह इंटरव्यू 20 मिनट तक होता है। इसमें आपकी समझ और सूझबूझ को परखा जाता है। साथ ही आप के निर्णय लेने की क्षमता को भी जाना जाता है। इसमें आपसे ग्राम पंचायत से जुड़े प्रश्नों के कुल जवाब पूछे जाते हैं और उन्हीं से संबंधित निर्णय लेने की क्षमता को भी परखा जाता है।

शारीरिक चैकअप (Physical Test)

जो विद्यार्थी प्रारंभिक परीक्षा और इंटरव्यू परीक्षा में पास हो जाता है उसे ही तृतीय चरण में बुलाया जाता है जिसे हम शारीरिक चेकअप के रूप में जानते हैं। फिजिकल टेस्ट के चरण में अधिकारियों द्वारा विद्यार्थियों से 1 मील की दौड़, 4 मील की साइकिलिंग, लंबी कूद और 2 मील तक टहलना जैसी गतिविधियां कराई जाती है। जो विद्यार्थी निर्धारित समय पर यह गतिविधियां पूर्ण कर लेते हैं। उनका वह इस चरण से भी निकल जाते हैं और इस चरण को पास कर लेते हैं। अर्थात कह सकते हैं कि विद्यार्थी एकदम फिट और स्वस्थ होते हैं और उन्हें Village Develplopment Officer की नौकरी दे दी जाती है।

ग्राम विकास अधिकारी की परीक्षा का सिलेबस Syllabus of Village Development Officer

किसी भी परीक्षा को देने से पहले आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए। कि परीक्षा का सिलेबस क्या है? आखिर उस परीक्षा में किस विषय से संबंधित प्रश्नपूछे जाएंगे। यदि हमारे पास यह जानकारी होगी। तभी हम अपनी परीक्षा को पास कर सकते हैं। अन्यथा हम अपनी परीक्षा को पास करने में सफल नहीं होते हैं। यहां आपको ग्राम विकास अधिकारी की परीक्षा का सिलेबस देखने को मिलेगा। क्योंकि इसकी प्रारंभिक परीक्षा ही बहुविकल्पी क्वेश्चन के रूप में पूछी जाती है। तो उस परीक्षा में पूछे गए विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी आपको यहां नीचे दी गई है।

  • भारतीय इतिहास
  • भारतीय भूगोल
  • भारतीय अर्थव्यवस्था
  • भारतीय पंचायत व्यवस्था
  • सामान्य बुद्धि परीक्षण
  • पर्यावरण
  • करंट अफेयर्स
  • कंप्यूटर एप्लीकेशन
  • भारतीय संस्कृति
  • भारतीय संविधान
  • हिंदी साहित्य
  • हिंदी निबंध
  • हिंदी लेखन क्षमता
  • सामान्य ज्ञान
  • सामान्य विज्ञान
  • क्लास 10th की गणित

ऊपर दिए गए सभी टॉपिक को आपको एक अच्छी तरह से तैयार करना है। क्योंकि इन टॉपिक से ही आपसे प्राथमिक परीक्षा में प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रारंभिक परीक्षा 80 अंको की होती है। जिसमे 30 अंकों के प्रश्न हिंदी विषय से पूछे जाते हैं। 20 अंकों के प्रश्न रिजनिंग से पूछे जाते हैं तथा 20 अंक के अन्य टॉपिक से प्रश्न पूछे जाते हैं। इस प्रकार आप ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए तैयारी कर सकते हैं।

ग्राम विकास अधिकारी बनने की योग्यता? VDO Officer Eligibility?

हर परीक्षा के लिए सरकार द्वारा कोई ना कोई योग्यता रखी जाती है। इसी प्रकार राज्य लोक सेवा आयोग के द्वारा ग्राम विकास अधिकारी बनेगी भी योग्यता रखी गई है। आइए जानते हैं की इसके लिए कौन-कौन सी योग्यताएं है।

शैक्षणिक योग्यता:-

1.ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए आपको 12th क्लास और स्नातक की डिग्री किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड और यूनिवर्सिटी से पास करनी होगी। साथ ही आपके 12th एयर स्नातक में 60 प्रतिशत अंक होना अनिवार्य है।

2. यदि आप ग्राम विकास अधिकारी बनना चाहते हैं। तो आपके पास कंप्यूटर से संबंधित कोई भी डिप्लोमा होना जरूरी है।

आयु सीमा:-

1.ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा न्यूनतम आयु 18 वर्ष तथा अधिकतम आयु 40 वर्ष रखी गई है।

2. OBC के अंदर आने वाले विद्यार्थियों को 3 वर्ष तक की आयु की छूट मिलती है।

3. अनुसूचित जाति तथा जनजाति वर्ग में आने वाले विद्यार्थियों को 5 वर्ष तक की आयु सीमा की छूट जाती है।

ग्राम विकास अधिकारी के कार्य Work of Village Development Officer

ग्राम विकास अधिकारी के क्या कार्य होते हैं? इस पद पर किसी व्यक्ति को पहुंचने के बाद किस प्रकार के कार्यों के साथ संपर्क रखना होता है। इसकी जानकारी नीचे पॉइंट के माध्यम समझाई गई है।

  • गांव की स्वच्छता का प्रबंध करने का कार्य VDO officer का होता है।
  • गांव में खाने के सभी समान के भंडारण की व्यवस्था करने का कार्य।
  • गांव की शिक्षा व्यवस्था पर नजर रखने का कार्य।
  • अन्य जरूरी दस्तावेज जैसे:- Death Certificate, Marriage Certificate और Birth Certificate आदि दस्तावेजों का रजिस्ट्रेशन करने का कार्य।
  • गांव की कृषि और वाणिज्य उद्योगों को विकास के हेतु सुरक्षा प्रदान करना।
  • गांव में उत्पन्न हो रही समस्याओं को जिला परिषद के अंदर प्रस्तुत करना ताकि उन समस्याओं का हल मिल सके।
  • केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा जो योजनाएं गरीबों के लिए चलाए गए हैं। उन्हें गांव में पूर्ण रूप से संचालित करने का कार्य करें।
  • गांव की सड़क व्यवस्था, बिजली व्यवस्था और पानी व्यवस्था आदि को अच्छे से सुनिश्चित करने का कार्य करना।
  • गांव में होने वाले वार्षिक कार्यक्रम और योजनाओं को सही ढंग से संचालित करने का कार्य।
  • गांव में पल रहे सभी पशुओं के लिए चारागाह आदि की व्यवस्था करना।

ग्राम विकास अधिकारी का वेतन Village Development Officer Salary

दोस्तों कोई भी व्यक्ति सरकारी नौकरी इसलिए करना चाहता है। क्योंकि सरकारी नौकरी में एक अच्छी तनख्वाह और अन्य सुविधाएं मिलते हैं। जिससे हम अपने जीवन को सही ढंग से यापन करने में सक्षम होते हैं। इसी प्रकार जो लोग ग्राम विकास अधिकारी के पद के लिए तैयारी कर रहे हैं। तो उनको इस बात का पता होना आवश्यक है। कि आखिर ग्राम विकास अधिकारी का वेतन कितना होता है? Village Development Officer को ₹5200 से लेकर ₹20000 पर प्रतिमाह वेतन मिलता है। साथ ही साथ इसमें जॉब सिक्योरिटी भी होती है।

ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? से संबंधित प्रश्न व उत्तर (FAQs)

Q:- VDO की फुल फॉर्म क्या है?

Ans:- VDO की फुल फॉर्म Village Development Officer होती है। इसी को हम हिंदी में ग्राम विकास विकास अधिकारी के नाम से जानते हैं।

Q:- ग्राम विकास अधिकारी का कार्य क्या होता है?

Ans:- गांव की सभी सुरक्षा व्यवस्था तथा योजनाओं को सुनिश्चित करने का कार्य ग्राम विकास अधिकारी के द्वारा ही किया जाता है।

Q:- ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए क्या करना चाहिए?

Ans:- ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए राज्य लोक सेवा आयोग के द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा में शामिल होना होता है।

Q:- प्रारंभिक परीक्षा में कैसे प्रश्न पूछे जाते हैं?

Ans:- प्रारंभिक परीक्षा में प्रभु वैकल्पिक प्रश्न पूछे जाते हैं। जिनका सिलेबस ऊपर हमारे इस लेख में दिया गया है।

Q:- इंटरव्यू में किस प्रकार के क्वेश्चन पूछे जाते हैं?

Ans:- इंटरव्यू के अंदर ग्राम पंचायत से संबंधित प्रश्नों के उत्तर पूछे जाते हैं।

Q:- Village Development Officer का वेतन कितना होता है?

Ans:- Village Development Officer का वेतन ₹5200 से लेकर ₹20000 प्रति माह तक होता है।

Q:- ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए कितनी आयु की आवश्यकता होती है?

Ans:- ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए न्यूनतम 18 वर्ष तथा अधिकतम 40 वर्ष की आयु की आवश्यकता होती है। अन्य वर्ग के लिए आयु सीमा में छूट दी गई है।

निष्कर्ष (Conclusion) :- आज हमने अपने इस आर्टिकल में आपको ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान की है। हमने आपको बताया है कि ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए आपको कौन सी परीक्षा देनी होती है? ,उस परीक्षा का सिलेबस क्या होता है? Village Development Officer बनने की योग्यता, salary आदि की संपूर्ण जानकारी आप तक पहुंचाई है। यदि आप विकास अधिकारी बनना चाहते हैं। तो हमारे द्वारा बताए गए स्टेप्स को फॉलो करके VDO Officer बनने की प्रक्रिया शुरू कर सकते हैं। साथ ही आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताइए और अपने दोस्तों के साथ यह जानकारी शेयर करना ना भूले।

Spread the love

Main Points

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।