उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना | आर्थिक सहायता राशि| लाभ, पात्रता और उद्देश्य

कोरोनावायरस जैसी महामारी से पूरा देश जूझ रहा है जिसके चलते देश के काफी नागरिक अपने रोजगार के साथ-साथ अपने परिवार के परिजनों को खो चुके हैं। जिस कारण उन पर विपत्तियों का पहाड़ टूट पड़ा है। देश भर में काफी ऐसे परिवार के बच्चे हैं जो कोरोनावायरस संक्रमण के कारण अपने माता पिता को खो चुके हैं जिस बजह से वह अनाथ हो चुके हैं। कोरोनावायरस संक्रमण से देश के नागरिकों को बचाने के लिए और कोरोनावायरस के कारण हुई मृत्यु व्यक्ति के परिवार को सरकार आर्थिक सहायता प्रदान कर रही है। ताकि परिवार के अन्य सदस्य अपनी आजीविका अच्छे ढंग से चला सके।

हमने आपको अपने पिछले आर्टिकल में कोरोनावायरस संक्रमण से अनाथ हुए बच्चों के लिए मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के बारे में बताया था। आज भी हम आपको एक ऐसी ही योजना के बारे में बताने जा रहे हैं जो उत्तराखंड सरकार के द्वारा शुरू की गई है। इस योजना का नाम उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना रखा गया हैं।

इस योजना के अंतर्गत उत्तराखंड राज्य में कोरोना वायरस के कारण अनाथ हुए बच्चों की देखभाल और उनका पूरा खर्चा सरकार उठाएगी। ताकि इन अनाथ बच्चों को किसी परेशानी का सामना ना करना पड़े। आज हम आपको इस योजना के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। इस योजना का लाभ अनाथ बच्चों को कैसे मिलेगा और इस योजना के अंतर्गत सरकार किस तरह की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी उसकी पूरी जानकारी आपके साथ मिलने वाली है –

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना | Mukhyamantri Vatsalya Yojana

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना  आर्थिक सहायता राशि लाभ,  पात्रता और उद्देश्य

साल 2020 में दुनिया भर में कोरोना का कहर काफी फैल चुका है। भारत देश में भी कोरोनावायरस के कारण लाखों लोगों की मृत्यु हो चुकी है। और अभी भी यह थमने के नाम नही ले रहा है। कोरोना वायरस से बचने और इस बीमारी के कारण मृत्य हुई परिजनों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए अलग – अलग राज्यो में सरकार विभिन्न प्रकार की योजनाएँ चला रही है।

जैसे कि उत्तराखंड सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस से अनाथ हुए बच्चो के लिए उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना को शुरू किया है। जिसके अंतर्गत प्रदेश सरकार अनाथ बच्चो के पालन पोषण के लिए प्रतिमाह 3000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रतिमाह प्रदान करेगी। यह आर्थिक सहायता राशि महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग की तरफ से बच्चों के बैंक खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से भेजी जाएगी।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना के अंतर्गत आर्थिक सहायता प्रदान करने के साथ-साथ प्रदेश सरकार ने इन अनाथ बच्चों की शिक्षा की तरफ विशेष ध्यान रखा है ताकि बच्चों को शिक्षा के लिए आर्थिक तंगी का सामना ना करना पढ़े? इस योजना का लाभ कैसे मिलेगा इसका उद्देश्य और आवेदन प्रक्रिया की पूरी जानकारी आपको नीचे दी गई है –

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना का लाभ बच्चो कैसे मिलेगा?

कोरोनावायरस जैसे गंभीर संक्रमण बीमारी के कारण राज्य में जो बच्चे अपने माता-पिता को खो चुके हैं। उन सभी अनाथ बच्चों को इस योजना का लाभ मिल सके इसलिए प्रदेश सरकार ने इसकी ज़िम्मेदारी बाल अधिकार संरक्षण आयोग और महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग को दी गई है। इन विभागों के द्वारा राज्य में कोरोनावायरस के कारण अनाथ हुए बच्चों की सूची तैयार कर प्रदेश सरकार के पास भेजी जाएगी। जिसके आधार पर इस योजना का लाभ बच्चों को दिया जाएगा।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना शिक्षा, स्वास्थ्य का लाभ

जब किसी बच्चे के माता – पिता की मृत्यु हो जाती है तो परिवार के बच्चों को अपने पालन-पोषण से लेकर शिक्षा स्वास्थ्य जैसी सभी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। क्योंकि जिन बच्चों के माता-पिता नहीं रहते हैं उनके पालन पोषण शिक्षा स्वास्थ्य पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता है। इसलिए प्रदेश सरकार ने उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना के अंतर्गत ₹3000 की आर्थिक सहायता देने के साथ-साथ कोरोनावायरस के कारण अपने माता पिता को खो चुके अनाथ बच्चों को राशन, शिक्षा, स्वास्थ्य जैसी सुविधाओं को भी प्रदान करेंगे। ताकि बच्चे का पालन पोषण के साथ-साथ शिक्षा और स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखा जा सके।

Mukhyamantri Vatsalya Yojana 2022 का उद्देश्य

उत्तराखंड राज्य में कोरोनावायरस जैसी गंभीर बीमारी के कारण अनाथ हुए बच्चों का पालन पोषण और उनकी शिक्षा अच्छी हो सके। इसलिए प्रदेश के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना को शुरू किया हैं। जिसके तहत प्रदेश सरकार अनाथ बच्चों को ₹3000 की आर्थिक सहायता के साथ-साथ अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य भी उपलब्ध कराएगी। ताकि राज्य अनाथ बच्चे भी अन्य बच्चों की तरह अच्छा पालन पोषण और अच्छी शिक्षा मिल सके।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

उत्तराखंड प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के क्या-क्या लाभ तथा क्या-क्या विशेषताएं हैं। उनके कुछ जरूरी बिंदु नीचे दिए गए हैं जिनके बारे में आपको जरूर पढ़ना चाहिए।

  • उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के द्वारा शुरू किया गया है।
  • इस योजना के अंतर्गत प्रदेश में कोरोनावायरस के कारण अपने माता पिता को खो चुके बच्चों के लिए ₹3000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना के अंतर्गत प्रदेश सरकार द्वारा दी जाने वाली आर्थिक सहायता राशि अनाथ बच्चों को 21 साल की आयु तक प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत अनाथ बच्चों को 5% का कोटा भी सरकारी नौकरी में दिया जाएगा।
  • उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना के अंतर्गत इन बच्चों को अच्छी शिक्षा मिल सके इसके लिए भी सरकार के शिक्षा केंद्र सुरक्षित करेगी।

Mukhyamantri Vatsalya Yojana का लाभ लेने के लिए पात्रता और जरूरी दस्तावेज़

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना कलाम प्रदेश सरकार कुछ पात्रता और कुछ जरूरी दस्तावेजों के आधार पर प्रदान करेगी जिनके बारे में आप नीचे जान सकते हैं –

  • इस योजना का लाभ सिर्फ उत्तराखंड राज्य के बच्चे ही ले सकते हैं।
  • योजना का लाभ सिर्फ अनाथ बच्चों को दिया जाएगा।
  • योजना का लाभ लेने के लिए आधार कार्ड होना जरूरी है।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए सरकार ने मृत्यु प्रमाण पत्र भी अनिवार्य किया है।
  • बच्चों और माता-पिता के संबंध के द्वारा का प्रमाण पत्र भी जरूरी है।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना में आवेदन कैसे करें? | Mukhyamantri Vatsalya Yojana Apply

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना का लाभ कोरोना वायरस के चलते अनाथ हुए प्रदेश के सभी बच्चों को मिल सके। इसलिए प्रदेश सरकार ने अनाथ बच्चो की पहचान करने के लिए बाल अधिकार संरक्षण आयोग और महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग को दी है। इन विभाग के संबंधित कर्मचारियों के द्वारा अनाथ बच्चों की पहचान करके उन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा। बाकी इस योजना में आवेदन करने के लिए अभी प्रदेश सरकार ने किसी वेबसाइट की घोषणा नहीं की है।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना से संबंधित प्रश्न उत्तर

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना से जुड़े कुछ जरूरी प्रश्न और उनके जवाब नीचे दिए गए हैं जिनके बारे में आपको पता होना जरूरी है –

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना क्या हैं?

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना उत्तराखंड सरकार के द्वारा शुरू की गई एक कल्याणकारी योजना है। इस योजना के अंतर्गत कोरोनावायरस के कारण अनाथ हुए बच्चों के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना को किसने शुरू किया हैं?

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना को प्रदेश के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के द्वारा शुरू किया गया है।

क्या सभी अनाथ बच्चे इस योजना का लाभ सकते हैं?

नही उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना का लाभ राज्य के सिर्फ वह अनाथ बच्चे ले सकते हैं जिन्होंने कोरोना वायरस संक्रमित की बीमारी से अपने माता – पिता को खो दिया हैं।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना के अंतर्गत कितनी आर्थिक सहायता दी जाएगी?

इस योजना के अंतर्गत अनाथ बच्चों को प्रतिमाह ₹3000 की आर्थिक सहायता राशि उनके पालन पोषण के लिए प्रदान की जाएगी।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना का लाभ कैसे मिलेगा?

इस योजना का लाभ संबंधित विभाग के कर्मचारियों के द्वारा अनाथ हुए बच्चों की पहचान करके दिया जाएगा।

निष्कर्ष

भारत भर में कोरोनावायरस संक्रमण के कारण कई परिवार अपने काफी परिजनों को खो चुके हैं। उत्तराखंड राज्य का भी ऐसे परिवार के सदस्य हैं। जो कोरोना संक्रमित जैसी बीमारी से मर चुके हैं जिस कारण परिवार के बच्चे अनाथ हो गए हैं। किन अनाथ बच्चों का पालन पोषण अच्छे ढंग से हो सके इसलिए उत्तराखंड सरकार ने उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना की शुरुआत की हैं। जिसके बारे में आज हमने आपको पूरी जानकारी दी हैं।

आज हमने आपको इस आर्टिकल में उत्तराखंड मुख्यमंत्री वत्सल्य योजना | आर्थिक सहायता राशि| लाभ, पात्रता और उद्देश्य जैसे सभी जानकारियों को साझा किया है मैं उम्मीद करती हूं कि आप इस आर्टिकल में योजना से जुड़ी सभी जानकारी मिल गई होगी। धन्यवाद

Spread the love

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।