(ऑनलाइन आवेदन) मेरा पानी मेरी विरासत योजना | Mera Pani Meri Virasat Yojana

Mera Pani Meri Virasat Yojana 2021:- इस वर्ष हरियाणा प्रदेश के कुछ ऐसे क्षेत्र है, जहां वर्षा कम हुयी है। जिससे वहां धान की फसल उगाने से किसान को काफी नुकसान हो सकता है और साथ ही पास – पास के क्षेत्र में पानी की किल्लत हो सकती है। क्योंकि धान की फसल उगाने के लिए अधिक सिचाईं और जल की आवश्यकता होती है। लेकिन इस समस्या से कुछ हद तक निपटने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा मेरा पानी मेरी विरासत योजना 2021 को शुरू किया गया है।

जिसके माध्यम से प्रदेश के किसानों को धान की फसल ना करने और वैकल्पिक फसलों को करने के लिए प्रोहत्साहित किया जायेगा तथा इसके लिए सरकार द्वारा 7,000 हजार रुपये प्रति एकड़ की वित्तीय प्रोहत्साहन राशि भी प्रदान की जायेगी। लेकिन इस योजना के तहत मिलने वाली प्रोहत्साहित राशि केवल वही किसान प्राप्त कर पाएंगे। जो सरकार द्वारा तैयार की गई लिस्ट में डार्क जोन में शामिल किए गये है।

इसलिए यदि आप हरियाणा किसान है और इस योजना के अंतर्गत लाभान्वित होना चाहते है। तो। आपको भी ज्ञात होना आवश्यक है। कि सरकार द्वारा किन – किन क्षेत्रों को। डार्क जोन में शामिल किया गया है। तभी आप इस योजना का लाभ उठाने में सक्षम हो सकेंगे। जिसके बारे में हमारे द्वारा नीचे विस्तार से चर्चा की गयी है। तो चलिए शुरू करते हैं –

मेरा पानी मेरी विरासत योजना क्या है? | What Is Mera Pani Meri Virasat Yojana

(ऑनलाइन आवेदन) मेरा पानी मेरी विरासत योजना  Mera Pani Meri Virasat Yojana

मेरा पानी मेरी विरासत योजना हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेश के किसानों को धान की खेती न करने के प्रति प्रोहत्साहित करने के लिए चालयी जा रही एक महत्वकांक्षी योजना है। जिसकी शुरुआत प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी द्वारा की गयी है। जिसके तहत किसानों को धान के स्थान पर मक्का, मूंग, कपास, तिल, उर्द, सब्जियों आदि की खेती करने के लिए अनुरोध किया जा रहा है और इन सब के केवल किसानों को धान की खेती करने वाले किसानों 7 हज़ार रुपये एकड़ की प्रोहत्साहन राशि भी प्रदान की जायेगी।

लेकिन इस राशि को केवल प्रदेश के 19 ब्लाकों के किसानों को ही प्रदान की जायेगी। जो कि अंतर्गत लिस्टेड हैऔर जहां जल स्तर 40 फुट या उससे नीचे है। इसके अलावा Mera Pani Meri Virasat Yojana के प्रदेश के उन क्षेत्रों को भी शामिल किया जायेगा। जहां 50 होर्स पावर से अधिक के ट्यूवेल को कृषि सिंचाई करने के लिए उपयोग में लाया जाता है।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना के अंतर्गत आने वाले विशेष क्षेत्र

वैसे तो इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के 19 ब्लॉकों को शामिल किया गया है। लेकिन विशेष तौर पर इस योजना के अंतर्गत 8 क्षेत्रों को शामिल किया गया है। जहां सबसे अधिक धान की रोपाई की जाती है। जो कि निम्न है –

  • गुहला
  • पिपली
  • सीवन
  • रतिया
  • सिरसा
  • बाबैन
  • शाहजनाबाद
  • इस्लामाबाद आदि।

 

मेरा पानी मेरी विरासत योजना आवेदन प्रक्रिया

कोई भी किसान यदि इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करके लाभान्वित होना चाहता है या इस योजना के तहत मिलने वाली 7 हज़ार रुपये एकड़ की सहायता राशि को प्राप्त करना चाहता है। इसके लिए उसे किसी भी विभाग या कार्यालय में जाने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि Mera Pani Meri Virasat Yojana 2021 की आवेदन प्रक्रिया को विभाग द्वारा ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से शुरू की गयी है।। जिससे ज्यादा – ज्यादा संख्या में किसान इस योजना के तहत आवेदन करके लाभान्वित हो सकें। इसके साथ भी आपकी उचित जानकारी के लिए हमने नीचे आवेदन प्रक्रिया के बारे में Step By Step बताया भी है।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना प्रोहत्साहन

आइये जानते है कि Mera Pani Meri Virasat Yojana के अंतर्गत किसानों क्या राशि प्रोहत्साहन दिया जायेगा। इसके बारे में जानते है। जो कि निम्न है –

  • इस योजना के अंतर्गत राशि प्राप्त करने के लिए किसान को गतवर्ष की अपेक्षा 50% या उससे अधिक फसल का विधिकरण करना होगा।
  • मेरा पानी मेरी विरासत योजना के तहत केवल वही किसान ही 7 हजार रुपये एकड़ की प्रोहत्साहन राशि को प्राप्त कर पाएंगे। जिन्होंने अपने खेतों में धान के स्थान पर अन्य कम जल में उगने वाली फसलों जैसे – तिल, कपास, उर्द,सब्जियां, बाजरा, मक्का आदि को उगाया है।
  • किसान द्वारा धान के स्थान पर उगाई गयी फसलों की न्यूनतम समर्थन दर पर खरीदारी भी जायेगी।जिससे उन्हें किसी को सही दामों में बेचने में किसी प्रकार की समस्या ना हो।
  • इस योजना के अंतर्गत मंडियों में मक्का सुखाने वाली मशीनों की स्थापना की जायेगी।। जिससे ज्यादा – ज्यादा मात्रा में खाद्यान्नों का भंडारण किया जा सके।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना संबंधित मुख्य तथ्य

अगर आप Mera Pani Meri Virasat Yojana In Hindi के बारे पढ़ रहे है। तो आपको इस योजना से जुड़े कुछ मुख्य तथ्यों के बारे में भी जानकारी का होना आवश्यक है। जो कि निम्नवत है –

  • जिन किसानों के खातों में 50 होर्स पावर या उससे अधिक के ट्यूबेल लगे है। तो उन्हें धान की खेती करने की अनुमति नहीं दी जायेगी।
  • वह क्षेत्र या ग्राम पंचायत जहां वाटर लेबल 35 फुट या उससे नीचा है तो वहां के किसानों को धान की फसल उगाने की अनुमति नहीं है।
  • इस योजना के शुरू होने से प्रदेश में जल संरक्षण को बढ़ावा मिलेगा तथा जल की किल्लत के कारण कृषि छोड़ चुके किसानों को भी बढ़वा मिलेगा।
  • जिन क्षेत्रों में पिछले वर्ष धान की खेती करने की अनुमति नहीं थी। उन क्षेत्रों के किसानों को इस वर्ष भी धान की खेती करने की अनुमति नहीं प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना का। लाभ किसानों तक पहुंचाने के लिए सरकार द्वारा एक ऑनलाइन पोर्टल को लांच कर दिया गया है तथा इसके प्रचार – प्रसार के लिए भी व्यापक इंतजाम किये गए है।
  • ड्रिप इरिगेशन सिस्टम से खेती करने किसानों को 85% की सब्सिडी भी प्रदान की जायेगी।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना आवश्यक दस्तावेज | My Water My Heritage Plan Required Document

अगर आप इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते है तो इसके लिये आपके पास कुछ पात्रताओं और दस्तावेजों का होना आवश्यक है। जो कि निम्न है –

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • जमीन संबंधित कागजात
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फ़ोटो
  • बैंक एकाउंट की पासबुक
  • आवेदक का पहचान पत्र
  • इन सब के अलावा लाभार्थी हरियाणा प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिये।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करें? | How to register my water my legacy plan online?

कोई भी इच्छुक किसान इस। योजना के तहत लाभान्वित होने के लिए पंजीकरण करना चाहता है। तो बहुत आसानी से ऑफिसियल पोर्टल पर जाकर कर सकता है। जिसके लिए नीचे बतायी गयी स्टेप्स को भी फॉलो कर सकता है। जो कि निम्न प्रकार है –

  • इसके लिए आपको सबसे पहले योजना से जुड़ी ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है।
  • आप चाहे तो यहां क्लिक करके डायरेक्ट भी योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जा सकते है।
  • जिसके बाद आपको वेबसाइट के Home Page पर “New Registration” का लिंक दिखायी देगा। जिसके ऊपर आपको क्लिक कर देना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा। जहां आपको आधार कार्ड नंबर दर्ज करना है और नेक्स्ट पर क्लिक कर देना है।
  • और फिर पूछी गयी अन्य पर्सनल इनफार्मेशन को दर्ज करना है।
  • फिर टोटल लैंड होल्डिंग और क्रॉप डिटेल्स। को भरना है।
  • जिसके बाद आखिर में सबमिट के। ऊपर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार आपकी पंजीकरण प्रक्रिया सफ़लतापूर्वक पूर्ण हो जायेगी।

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के लिए आवेदन कैसे करें? | How to apply for flood affected areas

  • सर्वप्रथम आपको इसके लिए विभाग की ऑफफिशल वेबसाइट पर जाना है।
  • जिसके बादआपकी स्क्रीन पर वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
  • जहां आपको “बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लिए” का ऑप्शन दिखायी देगा। जिसके ऊपर आपको क्लिक कर देना है।
  • अब आपकी स्क्रीन पर एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा। जिसमें आपको पूछी गयी सभी मूल जानकारीयों को सही प्रकार भरना होगा।
  • जानकारीयों को भरने के बाद एक बार दोबारा से उसकी जांच अवश्य कर लें। जिससे आपको बाद में किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़े।
  • जिसके बाद सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार आप बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के लिये सफ़लतापूर्वक आवेदन कर पाएंगे।

Mera Pani Meri Viraasat Yojana Related FAQ

मेरी पानी मेरी विरासत योजना हरियाणा सरकार द्वारा संचालित की जा रही एक अहम योजना है। लेकिन अभी भी बहुत से ऐसे नागरिक है। जिनके मन में योजना को लेकर बहुत से डाउट आ रहे है। उन्हीं डाउट को दूर करने के लिए हमने नीचे कुछ सवाल और उनके जबाबों को साझा किया है। जो अक्सर पाठकों द्वारा हमसे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछे जाते है।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना क्या है?

मेरा पानी मेरी विरासत योजना हरियाणा मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश किसानों को धान की खेती न करने के प्रति प्रोहत्साहित करने के लिए चालयी जा रही प्रोहत्साहन योजना है।

इस योजना के अंतर्गत कितनी राशि प्रोहत्साहन के रूप में प्रदान की जायेगी?

इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा 7,000 रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना के अंतर्गत आवेदन कैसे करें?

अगर आप इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो बहुत आसानी से ऑफिसियल पोर्टल पर जाकर कर सकते है। जिसके बारे में। ऊपर विस्तार से चर्चा की गयी है।

क्या इस योजना का लाभ हरियाणा प्रदेश के किसान ही प्राप्त कर पाएंगे?

जी हां! इस योजना का लाभ केवल हरियाणा प्रदेश के कुछ चिन्हित क्षेत्रों के किसान ही प्राप्त कर पाएंगे। जिन्हें ऊपर साझा किया गया है।

निष्कर्ष –

यदि आप हरियाणा किसान है। तो आपको हमारे द्वारा आर्टिकल में बतायी गयी Mera Pani Meri Viraasat Yojana 2021 In Hindi के बारे में पढ़कर काफी अच्छा लगा होगा। इसके अलावा यदि आप लेख में कोई सुधार या बदलाव चाहते है। तो कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते है।

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।