टीजीटी और पीजीटी क्या हैं? | TGT & PGT Full Form In Hindi

TGT & PGT Full Form In Hindi  :- आज के अपने इस आर्टिकल में हम आपको TGT और PGT की Full Form के बारे में जानकारी देगे, अगर आप एक टीचर बनना चाहते है तो यह जानकारी आपके लिए काफी जरुरी हो सकती है।

आज के समय में ऐसे बहुत से छात्र है जो टीचर बनना चाहते है जिनको TGT और PGT के बारे में सभी जानकारी नही होती है तो अगर आपको TGT और PGT के बारे में नही पता है तो आप इस आर्टिकल को पढ़ कर यह सभी जानकारी ले सकते है। इस आर्टिकल में आपको टी।जी।टी। क्या है, PGT क्या है, इसके फुल फॉर्म क्या होता है, इसके बारे में बताया जा रहा है।

टीजीटी की फुल फॉर्म क्या है? । TGT Full Form In Hindi

tgt-pgt-full-form-in-hindi-3169656

टीजीटी का हिंदी में फुल फॉर्म “प्रशिक्षित ग्रेजुएट टीचर” होता है, यह वो छात्र करते है जो टीचर बनना चाहते है और उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन की पढाई को पूरा कर लिया है।

अगर आप टीजीटी करना चाहते है तो इसके लिए आपको एग्जाम देना होता है। अगर अगर आप टीजीटी का एग्जाम पास कर लेते है तो आप टीचर के लिए आई हुई नौकरी के लिए फॉर्म अप्लाई कर सकते है।

TGT का English में Full Form “Trained Graduate Teacher” होता है। अगर कोई छात्र टीजीटी करना चाहता है तो वह अपनी ग्रेजुएशन करने के बाद टीजीटी कर सकता है। अगर आप यह सोच रहे है कि टीजीटी एक कोर्स होता है तो आप गलत सोच रहे है यह एक टाइटल होता है जो उस छात्र को दिया जाता है।

जो अपनी ग्रेजुएशन करने के बाद टीजीटी का एग्जाम पास करता है। अगर आपने B।ed कर लिया है तो आपको टीजीटी का एग्जाम देने की कोई आवश्यकता नही है।

टीजीटी क्यों किया जाता है?

टीजीटी का एग्जाम ऐसे लोगो के लिए कराया जाता है जिन्होंने अपनी ग्रेजुएशन कम्पलीट कर ली है और अब वह एक शिक्षक बनना चाहते है तो ऐसे लोगो को टीजीटी का एग्जाम देना होता है। अगर आप टीजीटी के एग्जाम को पास कर लेते है तो आप कक्षा 6 से कक्षा 8 तक के छात्रों को पढ़ाने के लिए योग्य हो जाते है।

यह टीजीटी का एग्जाम देने के बाद आपको एक इंटरव्यू भी पास करना होता है और अगर आप इस इंटरव्यू में पास हो जाते है तो आपको एक टीजीटी टीचर बना दिया जाता है। अगर आप टीजीटी एग्जाम को देना चाहते है तो आप इसका फॉर्म अप्लाई करके एग्जाम दे सकते है।

पीजीटी की फुल फॉर्म क्या है? । PGT Full Form In Hindi

PGT का फुल फॉर्म Post Graduate Teacher होता है और यह भी एक तरह का एग्जाम होता है जिसको वो लोग करते है जो इन्टर कॉलेज में टीचर होते है। पीजीटी की फुल फॉर्म पोस्ट ग्रेजुएशन टीचर होती है जिसका मतलब है कि आवेदक को पहले अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन पूरी करनी होती है और इसके बाद ही वह इस एग्जाम के लिए योग्य होता है।

जो भी व्यक्ति इस पीजीटी के एग्जाम को पास कर लेता है वह कक्षा 9 से लेकर इंटरमीडिएट तक के स्टूडेंट को पढ़ाने के योग्य हो जाता है। जो भी लोग इस पीजीटी के एग्जाम को पास कर लेते है उनको Primary Teacher भी कहा जाता है।

पीजीटी क्यों किया जाता है?

पीजीटी का एग्जाम वो लोग देते है जो किसी इन्टर कॉलेज में पढाना चाहते है और उन्होंने अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन को पूरा कर लिया है। अगर आप इस एग्जाम को पास कर लेते है तो आपको इन्टर कॉलेज में पढ़ाने का मौका मिलता है और इसमें काफी अच्छी सैलरी मिलती है।

TGT And PGT Releted FAQ

 टीजीटी की फुल फॉर्म क्या है?

टीजीटी का फुल फॉर्म “प्रशिक्षित ग्रेजुएट टीचर” होता है ।

 टीजीटी को कौन कर सकता है?

टीजीटी का एग्जाम वो लोग दे सकते है जिन्होंने अपनी ग्रेजुएशन को पूरा कर लिया है।

पीजीटी का फुल फॉर्म क्या होता है?

पीजीटी का फुल फॉर्म “Post Graduate Teacher” होता है।

पीजीटी को कौन कर सकता है?

पीजीटी को करने के लिए उम्मीदवार का पोस्ट ग्रेजुएट होना जरुरी है।

Conclusion

आज हमने आपको अपने इस आर्टिकल में टीजीटी और पीजीटी क्या हैं? | TGT & PGT Full Form In Hindi के बारे में विस्तार से जानकारी साझा की है. जो किसी भी छात्र बहुत जरूरी हैं.

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।