एसडीएम कैसे बने? | योग्यता, पात्रता, सैलरी | तैयारी कैसे करें?

प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवन में उच्च शिक्षा प्राप्त करके एक प्रशासनिक या कहीं सरकारी नौकरी प्राप्त करना चाहता है। सरकारी नौकरी सिर्फ एक पद के लिए ही नहीं बल्कि विभिन्न विभिन्न पदों के लिए होती हैं। जिन्हें प्राप्त करने के लिए युवा कड़ी मेहनत करते हैं। ताकि वह अपने लक्ष्य की प्राप्ति कर सकें। ऐसे ही कुछ युवा है जिन का सपना आगे चलकर एसडीएम बनने का है।

यदि आप भी उन युवाओं में से हैं जो सरकारी पद एसडीएम को प्राप्त करना चाहते हैं तो आप को एसडीएम कैसे बने? के बारे में समुचित जानकारी का ज्ञान होना बेहद आवश्यक है। इसीलिए आज हम आपके लिए इस आर्टिकल के माध्यम से एसडीम ऑफिसर क्या है? तथा एसडीएम कैसे बने? से जुड़ी पूरी जानकारी विस्तार से प्रदान करेंगे। ताकि आप एसडीएम का पद प्राप्त करने के लिए सही दिशा में मेहनत कर सकें। तो आपका ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए शुरू करते हैं-

एसडीएम क्या है? | What is SDM in Hindi

एसडीएम उच्चतम प्रशासनिक पद होता है। जिसे Sub divisional magistrate के नाम से जाना जाता है और हिंदी भाषा में इसे उप प्रभागीय न्यायालय दिस कहा जाता है। जो एक बहुत ही जिम्मेदारी का पद होता है इस पद पर विराजमान व्यक्ति का मुख्य कार्य अपने जिले से संबंधित जमीन से जुड़े हर तरह के व्यापार पर निगरानी रखना है तथा जिले में जमीन की खरीद अथवा बिक्री का पूरा लेखा-जोखा एसडीएम के अंतर्गत होता है।

प्रत्येक जिले के सभी तहसीलदार एसडीएम के अधीन कार्य करते हैं। इसके अतिरिक्त लोकसभा अथवा विधानसभा के चुनाव को जिले में आयोजित कराना तथा दुकानों या वाहनों को लाइसेंस जारी करना आदि सारे कार्य को करवाना एसडीम का अधिकार होता है। इस पद को प्राप्त करने के लिए उम्मीदवार को कई योग्यताओं की पूर्ति करनी होती है जो पात्र नागरिक इन योग्यताओं की पूर्ति करते हैं वह एसडीएम पद के लिए सेलेक्ट कर लिए जाते है।

एसडीएम ऑफिसर कैसे बने?

अगर आप कड़ी मेहनत करके एसडीएम कि सरकारी पद को प्राप्त करने का सपना देख रहे हैं और इस पद को प्राप्त करना चाहते हैं तो आप यूपीएससी की परीक्षा उत्तरण करके एसडीएम ऑफिसर का पद प्राप्त कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त एसडीम बनने के लिए आप पीसीएस की परीक्षा जोकि सिविल सर्विस परीक्षा होती है।

इस परीक्षा की सबसे खास बात यह है, कि इस परीक्षा में हर कैटेगरी और स्ट्रीम के बच्चे भाग ले सकते हैं। पीसीएस की परीक्षा क्रॉस करके एसडीएम पद प्राप्त करने का अपना सपना साकार कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए भी आपको कुछ योग्यताओं को पूरा करना होगा अधिक जानकारी के लिए आप आर्टिकल में लास्ट तक बने रहें आपको पूरी जानकारी विस्तार से प्रदान की जा रही है।

एसडीएम बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता | Education Qualification For SDM Officer in Hindi

जो भी व्यक्ति एक एसडीएम ऑफिसर बनना चाहते हैं उनके पास किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय पर 55% से अधिक अंकों के साथ ग्रेजुएशन की डिग्री होना अनिवार्य है। जो लोग आरक्षित वर्ग के अंतर्गत आते हैं उन्हें 5% अंक तक की छूट प्रदान की जाती है। यानी कि एसडीम बनने के लिए आपको लगभग 50% अंक के साथ ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करनी होगी।

एसडीएम ऑफिसर बनने के लिए आयु सीमा | Age Limit For SDM Officer

अब आपके मन में प्रश्न उठता होगा कि एसडीएम ऑफिसर बनने के लिए आयु सीमा कितनी तय की गई है तो आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है हम आपको नीचे सभी वर्ग के लोगों के लिए एसडीम ऑफिसर बनने के लिए निर्धारित की गई आयु सीमा के बारे में बताएंगे।

आमतौर पर एसडीएम ऑफिसर बनने के लिए अभ्यार्थी की आयु न्यूनतम 21 वर्ष तथा अधिकतम 40 वर्ष निर्धारित की गई है लेकिन सरकार के द्वारा आरक्षित वर्ग के अभ्यार्थियों के लिए आयु सीमा पर कुछ छूट प्रदान की जाती है जैसे-

  • एसडीएम की परीक्षा देने वाले ओबीसी कैटेगरी के अंतर्गत आने वाले उम्मीदवारों को सिविल परीक्षा के लिए आयु सीमा पर 5 वर्ष तक की छूट प्रदान की जाती है।
  • जो अभ्यार्थी एसटी और एससी कैटेगरी में आते हैं उनके लिए भी एसडीम पद के लिए 5 वर्ष की आयु सीमा पर छूट प्रदान की जाती है।
  • जो लोग जिला या राज्य स्तर पर किसी खेल के खिलाड़ी हैं उन्हें भी इस पद के लिए 3 वर्ष से लेकर 5 वर्ष तक की छूट प्रदान की गई है।
  • शारीरिक रूप से किसी भी तरह से विकलांग लोगों के लिए यह आयु सीमा 15 वर्ष निर्धारित की गई है।

एसडीएम परीक्षा का पैटर्न | Exam Pattern of SDM in Hindi

जो अभ्यार्थी एसडीम बनने के लिए परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं उन्हें परीक्षा पैटर्न के बारे में पूरा ज्ञान होना बेहद आवश्यक होता है इसीलिए हम आपको बता दें कि एसडीएम की परीक्षा को तीन भागों में बांटा गया है जिनमें से पहली दो परीक्षाएं लिखित होती हैं इन परीक्षाओं में सामान्य अध्ययन से जुड़े बहुत सारे ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न पूछे जाते हैं।

जो लोग राज्य स्थल पर पीसीएस की परीक्षा देते हैं उन परीक्षाओं में राज्य से संबंधित सामान्य अध्ययन से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं तथा हिंदी और अंग्रेजी से संबंधित कई प्रश्न पूछे जाते हैं जिन्हें सफलतापूर्वक पाठ करने वाले उम्मीदवार को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

इंटरव्यू सफल करने के बाद अभ्यार्थी को एसडीएम पद के लिए चुन लिया जाता है जिसे प्राप्त करना बहुत ही कठिन है इसके लिए आपको कड़ी मेहनत और लगन के साथ सही दिशा में कार्य करना होगा।

एसडीएम ऑफिसर की सैलरी

एसडीम का पद एक बहुत ही जिम्मेदारी भरा पद होता है इस पद पर कार्य करने वाले व्यक्ति को हर महीने 34800 रुपए तक सैलरी प्रदान की जाती है इसके अतिरिक्त सरकार की ओर से प्रतिमाह ₹54000 तक ग्रेड पे के तौर पर प्रदान किए जाते हैं पुलिस स्टाफ यानी कि हम कह सकते हैं कि एक एसडीएम अधिकारी की मासिक सैलरी ₹84800 होती है।

एसडीम को कौन-कौन सी सुविधाएं प्राप्त होती हैं?

अच्छी सैलरी के अतिरिक्त एचडी में पद पर कार्य करने वाले उम्मीदवार को सरकार की ओर से कई अन्य सुविधाएं भी प्रदान की जाती हैं जिनके बारे में आप नीचे पढ़ सकते हैं जो कुछ इस प्रकार है-

  • इस प्रशासनिक पद पर कार्य करने वाले व्यक्ति को सरकार की ओर से रहने के लिए सरकारी निवास सिक्योरिटी गार्ड तथा खाना बनाने के लिए रसोईया प्रदान किया जाता है।
  • इसके साथ ही आने जाने के लिए सरकारी वाहन तथा फ्री बिजली और फ्री टेलिफोन की सेवाएं भी प्रदान की जाती है।
  • इस पद पर कार्य करने वाले व्यक्ति के रिटायर होने के बाद पेंशन भी प्रदान की जाती है।
  • इस पद की सबसे खास बात यह है कि इस पद पर कार्य करने वाले व्यक्ति को जॉब सिक्योरिटी मिलती है जो अन्य सरकारी पदों पर प्रदान नहीं की जाती है।
  • यदि एसडीएम को किसी कार्य से किसी दूसरे राज्य में जाना पड़े तो उसे रहने के लिए कई सुविधाएं प्रदान की जाती हैं।

FAQ

एसडीएम का क्या कार्य होता है?

एसडीएम का मुख्य कार्य राज्य में जमीन संबंधित हर तरह के व्यापार पर निगरानी करना तथा राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखना होता है जिसके अधीन राज्य के सभी तहसीलदार कार्य करते है। एसडीएम को यह अधिकार होता है कि वह किसी भी मामले में डायरेक्ट हस्तक्षेप कर सकता है।

एसडीएम को कितनी सैलरी मिलती है?

एसडीएम पद पर कार्य करने वाले व्यक्ति को प्रतिमाह ₹80000 तक मासिक वेतन प्रदान किया जाता है जिसमें ग्रेड पर भी शामिल होता है। सैलरी के अतिरिक्त भी एसडीएम पद पर कार्य करने वाले को सरकार द्वारा कई सुविधाएं प्रदान की जाती हैं जिससे आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि यह पद कितना लाभकारी और जिम्मेदारी भरा होता है।

एमडीएम बनने के लिए कौन सी परीक्षा देनी होगी?

यदि आप भविष्य में एक एसडीएम ऑफिसर बनना चाहते हैं तो आपको राज्य स्तर पर आयोजित होने वाली पीसीएस परीक्षा के दोनों एग्जाम को पास पास करने होंगे जिसके लिए आपको कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता है।

पीसीएस की परीक्षा कौन से वर्ग के छात्र या उम्मीदवार दे सकते हैं?

यह राज्य स्तर पर सिविल सर्विस के लिए आयोजित की जाने वाली बहुत ही बड़ी प्रतियोगिता परीक्षा होती है जिसमें राज्य के सभी वर्ग के छात्र भाग ले सकते हैं और अपना एसडीएम बनने का सपना पूरा कर सकते हैं।

एसडीएम बनने के लिए आयु सीमा कितनी निर्धारित की गई है?

एसडीएम बनने के लिए उम्मीदवार की आयु 21 वर्ष से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए लेकिन आरक्षित वर्ग के अंतर्गत आने वाले उम्मीदवारों को आयु सीमा पर विशेष छूट प्रदान की जाती है जिसके बारे में आप ऊपर पढ़ सकते हैं।

निष्कर्ष

किसी भी लक्ष्य की प्राप्ति करने के लिए हमें उसके बारे में कुछ जानकारी और सही मार्गदर्शन होना बेहद जरूरी होता है। क्योंकि सही मार्गदर्शन से ही आप शीघ्र अपना लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं। यदि आप एसडीएम पद को पाने का लक्ष्य रखते हैं। तो आज हमने आपके लिए अपने इस ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से एसडीएम गया है? तथा एसडीएम बनने के लिए आपको क्या करना होगा? के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है अगर आपको हमारे द्वारा बताई गई जानकारी अच्छी लगी हो तो नीचे कमेंट सेक्शन में अपने विचार हमारे साथ जरूर शेयर करें।

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।