खंड शिक्षा अधिकारी कौन होता है? | खंड शिक्षा अधिकारी कैसे बने? | सैलरी, योग्यता और कार्य

खंड शिक्षा अधिकारी अपने आप में एक बहुत अच्छी जॉब है। जिसके बारे में बहुत से विद्यार्थी जानना चाहते हैं। कि खंड शिक्षा अधिकारी क्या होता है? और खंड शिक्षा अधिकारी कैसे बने? हमारे देश की सरकार आए दिन शिक्षा से संबंधित नई से नई योजना लाती रहती है। ताकि हमारे देश में शिक्षा का स्तर तक मजबूत स्तर बन सके। पूरे देश में परियोजनाओं को लागू करने के लिए बहुत सारे अफसर लोगों की जरूरत होती है। हमारे देश में बहुत सारे जिले हैं। तथा उसके अंदर बहुत सारे ब्लॉक होते हैं। जहाँ शिक्षा परियोजना लागू करने के लिए अफसरों की आवश्यकता होती है। जिनमें से एक खंड शिक्षा अधिकारी होता है।

किसी जिले में शिक्षा परियोजना लागू करने की जिम्मेदारी बेसिक शिक्षा अधिकारी के होती है। इसी प्रकार किसी ब्लॉक में शिक्षा परियोजना लागू करने की जिम्मेदारी खंड शिक्षा अधिकारी की होती है। यदि आप शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करना चाहते हैं। और खंड शिक्षा अधिकारी बनने के इच्छुक हैं। तो आज हम आपको अपने इस लेख में खंड शिक्षा अधिकारी क्या होता है? खंड शिक्षा अधिकारी कैसे बने? खंड शिक्षा अधिकारी बनने की योग्यता आदि से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे। यदि आप शिक्षा अधिकारी संबंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। तो हमारे इस लेख को अवश्य पढ़ें।

Main Points

खंड शिक्षा अधिकारी क्या होता है? (What is BEO?)

खंड शिक्षा अधिकारी के पद पर जाने के लिए आपको एक परीक्षा से गुजरना होता है। यह एक सरकारी नौकरी है। क्योंकि खंड शिक्षा अधिकारी का काम बहुत ही जिम्मेदारी से भरा होता है। इसे अपने ब्लॉक के शिक्षा स्तर में विकास को बढ़ाना होता है। तथा सरकार के द्वारा लाई गई विभिन्न प्रकार की परियोजनाओं को सुचारू रूप से अपने ब्लॉक में संचालित करने का कार्य करना होता है। खंड शिक्षा अधिकारी शिक्षा स्तर तक की संपूर्ण जिम्मेदारी उठाते हैं। यदि आप भी खंड शिक्षा अधिकारी बनना चाहते हैं? और शिक्षा के प्रति जागरूकता फैलाना चाहते हैं। तो Block Education Officer Kaise Bane? इसके बारे में आपको जाना होगा।

खंड शिक्षा अधिकारी कौन होता है? | खंड शिक्षा अधिकारी कैसे बने? | सैलरी, योग्यता और कार्य

सरल रूप में बताया जाए तो खंड शिक्षा अधिकारी वह व्यक्ति होता है। जो अपने ब्लॉक के अंतर्गत शिक्षा के क्षेत्र पुरो जिम्मेदारियों को उठाता है। यदि आप खंड शिक्षा अधिकारी बन जाते हैं। तो आपको भी अपने ब्लॉक के सभी विद्यालयों में किताबें, परीक्षा आदि का आयोजन कराने की जिम्मेदारी उठानी होगी। खंड शिक्षा अधिकारी अपने आप में एक बहुत बड़ा पद है। यह शिक्षा के क्षेत्र में आने वाली परियोजनाओं को लागू तथा उनका लाभ पहुचाने का कार्य करता है। यदि आप भी खंड शिक्षा अधिकारी बनना चाहते हैं। तो नीचे हमारे द्वारा इसके बारे में जानकारी दी है।

खंड शिक्षा अधिकारी बनने की योग्यता? (Eligibility to become a BEO?)

यदि आप खंड शिक्षा अधिकारी बनना चाहते हैं। तो इसके लिए सरकार द्वारा कुछ योग्यताएं रखी गयी है। यदि आप इन योग्यताओं को पूरा करते हैं। तो खंड शिक्षा अधिकारी बनने के लिए आवेदन करने हेतु सक्षम होते हैं। यह योग्यताएं निम्न प्रकार हैं-

  • Block education officer बनने के लिए आवेदन करने हेतु आपको किसी भी मान्यता प्राप्त बहुत से 12th को पास करना अनिवार्य होता है।
  • 12th की परीक्षा में आप को न्यूनतम 50% अंकों की आवश्यकता होती है।
  • इसके बाद ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर बनने हेतु आपको किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन यानी स्नातक की डिग्री प्राप्त करनी होगी।
  • कुछ समय पहले ही इसकी योग्यता में थोड़े बदलाव किए गए हैं। अब आप को B.Ed की डिग्री प्राप्त करनी आवश्यक होती है। यदि आपने B.ed नहीं किया है। तो आप किसी भी सरकारी शिक्षा प्रशिक्षण केंद्र या फिर किसी भी ट्रेनिंग कॉलेज से L.T. Diploma कर सकते हैं। क्योंकि यह अनिवार्य है।

उम्र सीमा (Age limit):-

यदि आप ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर बनना चाहते हैं। तथा अपने ब्लॉक की शिक्षा के स्तर को बढ़ावा देना चाहते हैं। तो इसके लिए आप की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष होनी चाहिए। तथा अधिकतम आप 40 वर्ष तक खंड शिक्षा अधिकारी बनने हेतु आवेदन करने में सक्षम होते हैं। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और पिछड़ा वर्ग के अनुसार कुछ विद्यार्थियों को उम्र सीमा में छूट प्रदान की जाती है।

खंड शिक्षा अधिकारी कैसे बने? (How to become a Block Education officer?)

खंड शिक्षा अधिकारी एक सिविल सर्विस की पोस्ट होती है। तो आप इस बात को भलीभांति जानते होंगे। कि हर सिविल सर्विस प्राप्त करने के लिए आपको एक कठिन परीक्षा से होकर गुजरना होता है। यदि आप खंड शिक्षा अधिकारी बनना चाहते हैं। तो आपको इसके लिए सर्वप्रथम यूपीएससी की ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा। इस पद पर खंड शिक्षा अधिकारी को चुनने हेतु हर वर्ष परीक्षा आयोजित की जाती है। जो कि 3 चरणों में पूर्ण होती है। यदि आपके मन में यह सवाल है। कि खंड शिक्षा अधिकारी कैसे बने? और आपको इसके लिए 3 चरणों की परीक्षा देनी होगी।

शिक्षा अधिकारी चयन प्रक्रिया? (Selection process of BEO?)

यह परीक्षा तीन चरणों में पूर्ण होती है। तब जाकर आप खंड शिक्षा अधिकारी के पद पर पहुंच सकते हैं। इन तीन चरणों को नीचे हमारे द्वारा विस्तार पूर्वक वर्णित किया है। इससे संबंधित सभी जानकारी आपको मिल जाएगी। यह तीन चरण निम्न प्रकार हैं-

प्राथमिक परीक्षा (Preliminary Exam):-

प्रारंभिक परीक्षा को प्रथम चरण की परीक्षा कहा जाता है। यह परीक्षा आपको सर्वप्रथम देनी होती है। इस परीक्षा में आप से 300 अंक प्रश्न के उत्तर पूछे जाते हैं। तथा इन प्रश्नों को हल करने के लिए 2 घंटे का समय दिया जाता है। 120 प्रश्न आपको 2 घंटे की निर्धारित समय अवधि में करने होते हैं। प्रारंभिक परीक्षा में आपसे बहुविकल्पीय प्रश्नों के उत्तर पूछे जाते हैं। इसका सरल मतलब यह है। कि आपको एक क्वेश्चन के चार उत्तर दिए होंगे। उनमें से आपको एक सही उत्तर को सुनना होता है। प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद ही आप आगे के चरणों में पहुंच सकते हैं।

प्राथमिक परीक्षा सिलेबस (preliminary exam syllabus):-

प्रारंभिक शिक्षा की बात करें। तो परीक्षा में किसी न किसी विषय से प्रश्न तो अवश्य ही पूछे जाते होंगे। तो आपके मन में यह सवाल अवश्य आया होगा। कि आखिर कौन से विषय से प्रारंभिक परीक्षा में प्रश्न पूछे जाते हैं। यदि आप जानना चाहते हैं। कि प्रारंभिक परीक्षा का सिलेबस क्या है? तो नीचे हमने इसके बारे में आपको जानकारी दी है। नीचे हमने उन विषय के बारे में बताया है। जिनसे प्रारंभिक परीक्षा में प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रारंभिक परीक्षा का सिलेबस निम्न प्रकार है-

  • सामान्य ज्ञान (General Knowledge)
  • भारतीय इतिहास (Indian history)
  • भारतीय भूगोल (Indian geography)
  • इंडियन इकोनॉमिक्स (Indian economics)
  • करंट अफेयर (Current affair)
  • सामान्य विज्ञान (General Science)
  • भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन (Indian national movement)
  • भारतीय राजनैतिक (Indian Polity)
  • विश्व भूगोल (World Geography)
  • भारतीय जनसंख्या (Indian population)
  • तार्तिक एंड विश्लेषणात्मक (Reasoning)

मुख्य परीक्षा (Mains exam):-

खंड शिक्षा अधिकारी बनने के मुख्य परीक्षा के बारे में बात की जाए तो जब आप प्रारंभिक परीक्षा पास कर लेते हैं। तो उसके बाद ही आप मुख्य परीक्षा देने के लिए सक्षम हो पाते हैं। मुख्य परीक्षा के अंतर्गत विद्यार्थियों के 2 पेपर होते हैं। और दोनों पेपर 200-200 अंक के होते हैं। यदि प्रथम पेपर की बात की जाए। तो उसमें आपसे जनरल नॉलेज और करंट अफेयर से संबंधित प्रश्नों के उत्तर पूछे जाते हैं। इसके अंतर्गत सभी प्रश्न बहु वैकल्पिक तरीके के होते हैं। जिनका उत्तर आपको 2 घंटे के समय अंतराल में देना होता है।

 दूसरा पेपर हिंदी का होता है। जिसमें हिंदी और हिंदी के निबंध से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। इस पेपर में कुल 40 लॉन्ग क्वेश्चन के उत्तर आपको देने होते हैं। यह एक लिखित परीक्षा होती है। 40 प्रश्नों में से 10 प्रश्न सामान्य उत्तर के होते हैं। इन प्रश्नों का 125 शब्दों में उत्तर आपको देना होता है। जबकि बचे हुए 10 प्रश्नों का उत्तर आप 50 शब्दों में दे सकते हैं। तथा अन्य बचे 20 प्रश्नों के उत्तर आप 25 शब्दों के अंदर दे सकते हैं। हिंदी में निबंध पूछे जाते हैं और निबंध भी दो प्रकार के होते हैं। हर निबंध आपको 700 शब्दों में लिखना होता है। यह निबंध किस प्रकार के हैं। इसकी जानकारी निम्न प्रकार दी गई है-

  • प्रथम निबंध आपको राष्ट्रीय विकास योजना, साहित्य, संस्कृति राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सामयिक सामाजिक समस्या के ऊपर या उसके निदान के ऊपर लिखने को आता है।
  • दूसरा निबंध आपको विज्ञान पर्यावरण, प्राकृतिक आपदा एवं उनके निवारण कृषि उद्योग और व्यापार के ऊपर लिखना होता है।
  • हिंदी में आपसे पत्र लेखन से संबंधित प्रश्नों के उत्तर भी पूछे जाते हैं।

मुख्य परीक्षा सिलेबस?

(Mains exam syllabus?)

मुख्य परीक्षा का सिलेबस प्रकार है-

  • हिंदी (Hindi)
  • अंग्रेजी (English)
  • इतिहास (History)
  • भूगोल  (Geography)
  • सामान्य विज्ञान (General Science)
  • अर्थशास्त्र (Economics)
  • विश्व इतिहास (World history)
  • भारतीय राज्य (Indian state)
  • राजनीतिक शास्त्र (polity)
  • राष्ट्रीय आंदोलन (National movement)
  • करंट अफेयर (Current Affair)
  • सामान्य कंप्यूटर ज्ञान (General Computer Knowledge)
  • भारतीय संस्कृति (Indian Culture)
  • भारतीय एजुकेशन प्रणाली एवं शिक्षा नीति

(Indian Education system and Shiksha niti)

साक्षात्कार (Interview):-  जब आप मुख्य परीक्षा को पास कर लेते हैं। तब आपको interview के लिए बुलाया जाता है। इसमें आपके प्रेजेंस ऑफ माइंड से संबंधित प्रश्नों के उत्तर पूछे जाते हैं। तथा आसपास हो रही गठित घटनाओं से संबंधित वार्तालाप की जाती है। आप को उसके जवाब  मौखिक रूप से देने होते हैं। जब आप इंटरव्यू में अच्छे नंबरों से पास हो जाते हैं। तो आपको खंड शिक्षा अधिकारी के पद पर नियुक्त कर दिया जाता है। आपको इंटरव्यू के लिए भी अपनी तैयारी अच्छी रखनी होगी। तब जाकर ही आपका चयन शिक्षा अधिकारी के रुप में किया जाएगा। क्योंकि यह पूरे ब्लॉक की स्थिति को संभालने का सवाल होता है। इसलिए आपको बहुत मेहनत से खंड शिक्षा अधिकारी बनने के लिए पढ़ाई करनी होती है।

खंड शिक्षा अधिकारी के अधिकार व कर्तव्य? (Rights and Works of BEO?)

खंड शिक्षा अधिकारी के क्या क्या अधिकार होते हैं? तथा इसे किन कार्यों को करने के लिए नहीं किया जाता है। इसकी जानकारी निम्न प्रकार है-

  • विकास खंड / क्षेत्र पंचायत के अध्यापकों की वरिष्ठता सूची को तैयार करना तथा जनपद स्तर पर वरिष्ठता सूची तैयार करने वाले बीएसए समुदाय की मदद करना।
  • अधीनस्थ निरीक्षक तथा निरीक्षकाओं के भ्रमण कार्यक्रम को अनुमोदित करने का कार्य तथा इनके अनुसार अधिकारियों के कर्तव्य पालन को सुनिश्चित कराना।
  • अपने क्षेत्र के अंदर अनुशासधात्मक कार्यवाही करने हेतु बीएसए को प्रस्तावित करके बुलाना। यदि किसी अधिकारी का वेतन कट करना है तो बीएसए से अनुमति प्राप्त कर उस पर आगे की कार्यवाही करना।
  • अध्यापक और अध्यापिकाओ की उन्नति हेतु अभिलेख और प्रस्ताव को पीएसी के समक्ष प्रस्तुत करने का कार्य करना।

खंड शिक्षा अधिकारी की सैलरी? Salary of Block Education Officer?)

हर व्यक्ति एक अच्छी और सरकारी नौकरी करना चाहता है। ताकि उसकी सैलरी बहुत अच्छी हो और वह अपना जीवन अच्छे से यापन कर सकें। साथ ही अपने परिवार को सभी सुख-सुविधाओं का भोग करा सकें। यही कारण है कि आप खंड शिक्षा अधिकारी या सिविल सर्विस की तैयारी करते हैं। आज हम आपको बताएंगे कि खंड शिक्षा अधिकारी की सैलरी क्या होती है? शिक्षा अधिकारी को प्रतिमाह ₹9300 से लेकर ₹34800 तक वेतन प्रदान किया जाता है। ग्रेट के तौर पर ₹4800 प्रतिमाह भी दिए जाते हैं। यह सैलरी वक्त के साथ बढ़ती जाती है। साथ ही आपको सरकार की तरफ से बहुत ही सुख सुविधाएं प्रदान की जाती है।

खंड शिक्षा अधिकारी कैसे बने? इससे संबंधित प्रश्न व उत्तर (FAQs):-

Q:- खंड शिक्षा अधिकारी कौन होता है?

Ans:- खंड शिक्षा अधिकारी वह व्यक्ति होता है। जो ब्लॉक स्तर पर शिक्षा से संबंधित योजनाओं को लागू करने का कार्य करता है। और शिक्षा स्तर को बढ़ावा देता है।

Q:- खंड शिक्षा अधिकारी का क्या कार्य है?

Ans:- खंड शिक्षा अधिकारी ब्लॉक में उपस्थित सभी विद्यालयों और अध्यापकों से जरूरी संसाधन उपलब्ध कराने का कार्य करता है। साथ ही शिक्षा के क्षेत्र में विकासशील कार्य करता है।

Q:- खंड शिक्षा अधिकारी की चयन प्रक्रिया क्या होती है?

Ans:- खंड शिक्षा अधिकारी की चयन प्रक्रिया तीन चरणों में पूरी होती है। प्रथम- प्राथमिक परीक्षा,  द्वितीय- मुख्य परीक्षा, तृतीय- इंटरव्यू।

Q:- शिक्षा अधिकारी की सैलरी कितनी होती है?

Ans:- खंड शिक्षा अधिकारी को करीब ₹9300 से लेकर ₹34800 तक सैलरी दी जाती है। साथ ही ग्रेड के तौर पर ₹4800 हर महीने दिए जाते हैं।

Q:- खंड शिक्षा अधिकारी बनने की उम्र सीमा कितनी होती है?

Ans:- खंड शिक्षा अधिकारी बनने के लिए आवेदन करने हेतु आप की न्यूनतम आयु 21 वर्ष तथा अधिकतम 40 वर्ष होनी चाहिए।

Q:- खंड शिक्षा अधिकारी बनने की शैक्षणिक योग्यता क्या है?

Ans:- खंड शिक्षा अधिकारी बनने के लिए आपको स्नातक डिग्री के साथ-साथ B.Ed या फिर L. T. Diploma करना जरूरी होता है। है।

निष्कर्ष (Conclusion) :- आज हमने आपको इस लेख में khand shiksha adhikari kise kehte hai? इससे संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यदि आप ही शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करना चाहते हैं। और एक अच्छे पद की नौकरी प्राप्त करना चाहते हैं। तो खंड शिक्षा अधिकारी के बारे में संपूर्ण जानकारी जानना आपके लिए बहुत आवश्यक है। हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपको अवश्य ही पसंद आई होगी। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पसंद आई हो तो कमेंट बॉक्स में लिखकर अवश्य बताइए। साथ ही हमारे इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले।

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।