बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स | B.Sc. Agriculture in Hindi

भारत की जनसंख्या लगभग 130 करोड़ है। यहां की ज्यादातर आबादी कृषि पर निर्भर है, इसलिए भारत को कृषि प्रधान देश भी कहा जाता है। भारत में कृषि को व्यवसाय के रूप में अपनाने के लिए राज्य सरकार तथा केंद्र सरकार निरंतर रूप से कार्यरत है। उन्हें कृषि के माध्यम से आय को दुगनी करने का भी तरीका बताती है। जिसको करके किसान अपनी आय दुगनी कर सकता है परंतु इन सभी वैज्ञानिक तथा अनुसंधान के बीच है। कृषि संस्थान तथा विश्वविद्यालयों का हाथ होता है, इसीलिए कृषि के क्षेत्र में इंटर तथा स्नातक कोर्स करवाए जाते हैं।

आज हम इस लेख में आपको B.Sc. Agriculture in Hindi के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे तथा यह भी बताएंगे कि बी.एस.सी. एग्रीकल्चर करने के बाद आप किन किन क्षेत्रों में कार्य कर सकते हैं। इसके साथ ही वह कौन से पद है, जिसे आप B.Sc. Agriculture करने के बाद पा सकते हैं। ज्यादातर देखा गया है कि 12वीं के बाद बच्चों को बड़ी समस्याएं होती है कि वह कौन सा कोर्स करें। ताकि उनका भविष्य अच्छा बन सके।

ज्यादातर माता-पिता उन्हें डॉक्टर, इंजीनियर, चार्टर्ड अकाउंट आदि बनाने की कोशिश करते हैं परंतु एग्रीकल्चर एक ऐसा विषय है, जहां पर रोजगार की अपार संभावना है क्योंकि यहां पर बहुत ही कम Competition होता है।

बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स क्या है? | What is B.Sc Agriculture course?

बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स B.Sc. Agriculture in Hindi

यह एक विज्ञान का विषय है। इसे कृषि क्षेत्र में प्रदान किया जाता है। यह 3 वर्ष या 4 वर्ष का कोर्स होता है। यह भारत के लगभग हर राज्य में उपलब्ध है। इसके अंतर्गत आपको कृषि तथा कृषि विज्ञान के बारे में विस्तार पूर्वक पढ़ाया जाता है। इसके साथ ही इसमें प्रैक्टिकल भी करवाया जाता है ताकि विद्यार्थियों को किसान के साथ मिलकर कार्य करने का मौका मिले। इसके अंतर्गत विद्यार्थियों को एक सेमेस्टर किसानों के साथ Training करवाई जाती है। जिससे वह उनकी समस्या तथा समाधान करने में मदद करें।

जो भी नई तकनीक विश्वविद्यालय तथा कृषि अनुसंधान संस्थान द्वारा निकाली गई है। उसे किसानों तक बताया जाए ताकि वह उसे अपना कर अपनी फसल का उत्पादन बढ़ा सकें। इस B.Sc. Agriculture के अंतर्गत किसान दिवस, गाजर घास उन्मूलन दिवस आदि मनाया जाता है ताकि इन दिवस के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा सके। B.Sc. Agriculture एक महत्वपूर्ण विषय है।

यह भारत के रीड की हड्डी कहे जाने वाले किसानों से संबंधित है। ज्यादातर यह भी देखा गया है कि B.Sc. Agriculture करने वाले छात्र के माता-पिता किसान होते हैं। यह कोर्स करते समय आपको उद्यानिकी, पशुपालन, वानिकी आदि जैसे महत्वपूर्ण Subject भी पढ़ाए जाते हैं। इसके साथ ही आपको फसल कटाई की मशीन, फसल बुवाई की मशीनें, भूसा अलग करने की मशीन आदि के बारे में भी जानकारी दी जाती है।

यदि कोई संस्थान ने उन्नत किस्म तैयार की है तो उसके बारे में पढ़ना तथा उन्हें रिसर्च के माध्यम सेअपने Feild में लगाना है, इसके साथ ही समय-समय पर वर्कशॉप, ट्रेनिंग प्रोग्राम, कॉन्फ्रेंस आदि भी करवाया जाता है ताकि विद्यार्थी एक विश्वविद्यालय से दूसरे विश्वविद्यालय के बीच में ज्ञान तथा अनुसंधान का प्रसार कर सकें। इससे कई सारे सवालों के जवाब मिल जाते हैं।

बीएससी के लिए पात्रता

  • आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • आवेदक 12 वीं में Science Stream से होना चाहिए, जिसके न्यूनतम अंक 50% या उससे अधिक होना चाहिए।
  •  आवेदक की आयु 18 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए।

बीएससी के लिए प्रवेश परीक्षा

B.Sc. Agriculture एक प्रोफेशनल कोर्स है। जिसे पूरे भारत में करवाया जाता है। इसके लिए राज्यों के अनुसार परीक्षाएं ली जाती है ताकि हर कोई इस परीक्षा में बैठ सके परंतु पूरे भारत में केवल ICAR (Indian council of agricultural research) के माध्यम से एक परीक्षा ली जाती है, जिसे ICAR AIEEA कहा जाता है। B.Sc. Agriculture में Admission के लिए आपको निम्नलिखित परीक्षाएं देनी होगी जो भी आवेदक अपनी आवश्यकता अनुसार परीक्षाएं दे सकता है जो इस प्रकार है:-

  • ICAR AIEEA
  • Rajasthan JET
  • IKGV CET
  • OUAT
  • SHIATS Entrance Exam
  • MHT CET
  • GBPUAT
  • UPCATET
  • CG PAT
  • MP PAT
  • KEAM
  • CCSHAU Entrance Exam
  • AgriCET
  • BHU UET

B.Sc Agriculture Entrance Exam के लिए Syllabus

परीक्षा में पूछे जाने वाले निम्नलिखित विषय जो इस प्रकार है:-

  • जीव विज्ञान
  • गणित
  • कृषि विज्ञान
  • रसायन विज्ञान
  • भौतिक विज्ञान

B.Sc Agriculture Entrance Exam Pattern

All India तथा राज्य के अनुसार ली जाने वाली परीक्षाओं में वैकल्पिक प्रश्न पूछे जाते हैं, जो लगभग 100 नंबर के होते हैं। कुछ राज्यों में यह 100 नंबर के भी होते हैं। जिनमें से विषयों को अंक अनुसार बांट दिया जाता है।

बीएससी एग्रीकल्चर के टॉप कॉलेज (Top Colleges for B.Sc Agriculture)

B.Sc Agriculture करने के लिए भारत भर में कुछ प्रमुख कॉलेज है जो इस प्रकार है:-

  • इंडियन एग्रीकल्चरल रिसर्च इंस्टीट्यूट (IARI), नई दिल्ली
  • इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय
  • प्रोफेसर जयशंकर तेलंगाना स्टेट एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी, हैदराबाद
  • जवाहरलाल नेहरू कृषि विज्ञान विश्वविद्यालय, मध्य प्रदेश
  • चौधरी चरण सिंह हरियाणा एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी (CCSHAU)
  • डॉ. राजेंद्र प्रसाद एग्रिकल्चर यूनिवर्सिटी, बिहार
  • तमिलनाडु एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी
  • उड़ीसा कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय
  • GB पंत यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, उत्तराखंड
  • जूनागढ़ कृषि विश्वविद्यालय
  • नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्टीट्यूट, करनाल

B.Sc Agriculture की फीस कितनी है

जैसा कि हम सब जानते हैं यह कोर्स प्रोफेशनल कोर्स है इसलिए इसकी Fees अन्य की तुलना में कम होगी। यह फीस विश्वविद्यालय पर निर्भर करती है कि वह कितनी फीस ले रही है। वैसे तो सामान्य तौर पर 7000 से ₹15000 प्रति वर्ष ली जाती है परंतु प्राइवेट कॉलेज की बात करें तो यह फीस 20000 से ₹80000 प्रति वर्ष हो जाती है। यदि कोई विद्यार्थी विदेश से भी कोर्स करना चाहता है तो उसकी फीस 100000 से 200000 हो जाती है। यह पूर्णता विश्वविद्यालय पर निर्भर करती है।

B.Sc Agriculture में पढ़ाई जाने वाले महत्वपूर्ण कोर्स के नाम:-

  • पौधा प्रजनन के सिद्धांत
  • बीज उत्पादन प्रौद्योगिकी
  • पशुधन उत्पादन और प्रबंधन
  • फसल उत्पादन के मूलभूत सिद्धांत
  • मृदा विज्ञान के मूलभूत सिद्धांत
  • खरपतवार प्रबंधन
  • मृदा उर्वरक
  • मौलिक फसल शरीर क्रिया विज्ञान
  • वानिकी एवं कृषि वानिकी
  • कृषि मौसम विज्ञान
  • फसल रोग
  • आनुवंशिकी के तत्व

B.Sc Agriculture करने के बाद नौकरी  एग्रीकल्चर करने के बाद आप निम्नलिखित संस्थानों में नौकरी कर सकते हैं:-

  • Council of agricultural research
  • National dairy development board
  • Food Corporation of India
  • National bank for agriculture and rural development (NABARD)
  • Indian agricultural research institute
  • National Seeds Corporation

B.Sc Agriculture करने के बाद आप प्राइवेट कंपनी में भी नौकरी कर सकते हैं जिनकी सूची इस प्रकार है:-

  • एग्रीकल्चर मार्केटिंग
  • प्राइवेट कॉलेज
  • एग्री बायोटेक ऑर्गेनाइजेशन
  • फर्टिलाइजर कम्पनी
  • एग्रो इंडस्ट्रीज

B.Sc Agriculture के बाद आपको निम्नलिखित पद प्राप्त होगी:-

  • Seed technologist
  • ICAR Scientist
  • Research assistant
  • Agricultural Officer
  • Plant breeder
  • Agriculture Technician

बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स से जुड़े प्रश्न उत्तर

बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स फ़ीस कितनी होती है?

बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स फीस की बात की जाए तो प्राइवेट कॉलेज में 7000 से ₹15000 प्रति वर्ष ली जाती है परंतु प्राइवेट कॉलेज की बात करें तो यह फीस 20000 से ₹80000 प्रति वर्ष हो जाती है। यदि कोई विद्यार्थी विदेश से भी कोर्स करना चाहता है तो उसकी फीस 100000 से 200000 हो जाती है।

बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स करने के क्या फायदे है?

भारत एक कृषि प्रधान देश है इसलिए यहाँ एग्रिकल्चर से पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट के लिए नौकरीं के अच्छे अवसर मिल जाते है।

बीएससी एग्रीकल्चर करने के बाद कितनी सैलरी मिल सकती है?

बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स करने के बाद आपको नार्मल 15000 से 3000 रुपये प्रतिमाह तक कि सैलरी मिल जाएगी।

क्या 12th करने के बाद बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स कर सकते है?

जी हाँ, बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स आप 12th पास करने के बाद कर सकते सकते है।

निष्कर्ष

आशा करती हूं की आप मेरे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे। इस लेख का उद्देश्य B.Sc Agriculture in Hindi के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान करना है। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस प्रोफेशनल कोर्स को करके अपने भविष्य को बेहतर बना सके। यह कोर्स अत्यधिक महत्वपूर्ण तथा लाभकारी है क्योंकि यह बहुत ही कम फीस में किया जा सकता है।

इसके साथ ही यदि कोई व्यक्ति अपना खुद का बिजनेस Start करना चाहता है तो वह भी कर सकता है इसके अंतर्गत आप ऑर्गेनिक फार्मिंग, पशुपालन, मत्स्य पालन, मुर्गी पालन आदि जैसे महत्वपूर्ण फार्मिंग कर सकते हैं, जिससे कम दिनों में आप अधिक लाभ कमा सकते हैं।

Main Points

4 thoughts on “बीएससी एग्रीकल्चर कोर्स | B.Sc. Agriculture in Hindi”

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।