तहसीलदार कैसे बने? | योग्यता, सैलरी | तैयारी कैसे करें?

आज के दौर में कंपटीशन इतना बढ़ चुका है कि किसी भी तरह की नौकरी को प्राप्त करना लगभग असंभव है। लेकिन फिर भी कई ऐसे छात्र है जो इस कंपटीशन के दौर में भी सरकारी नौकरी प्राप्त करने के लिए पूरी मेहनत और लगन के साथ प्रयास करते हैं और सफलता हासिल करते हैं। कई ऐसे छात्र है, जो सरकारी नौकरी के अंतर्गत तहसीलदार के रूप में कार्य करना चाहते हैं।

यदि आप भी उन लोगों में से है जो तहसीलदार बनना चाहते हैं तो आपके लिए यह ब्लॉक पोस्ट बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाली है, क्योंकि इस ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से आज हम आपको तहसीलदार कैसे बने? तहसीलदार बनने के लिए योग्यताएं, तहसीलदार के कार्य, तहसीलदार की सैलरी आदि के बारे में समुचित जानकारी उपलब्ध कराने वाले हैं।

इसीलिए आपको बिना एक स्टेप छोड़ें इस आर्टिकल को पूरा लास्ट तक पढ़ना है. तो अब ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए चलिए हम जान लेते हैं तहसीलदार अधिकारी क्या होता है? तथा तहसीलदार बनने के लिए  तैयारी कैसे करें?

तहसीलदार क्या होता है? | What is a Tehsildar

तहसीलदार कैसे बने

वैसे तो ज्यादातर लोग जानते हैं कि तहसीलदार क्या होता है लेकिन यदि आप इसके बारे में नहीं जानते तो आपको निराशा होने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि यहां हम आपको तहसीलदार क्या होता है के बारे में बताने जा रहे हैं तहसीलदार प्रत्येक जिले में मौजूद सभी तहसील का हर एक अलग तहसीलदार अधिकारी होता है जिसका मुख्य कार्य राजस्व एकत्र करें, अपने उप समन्वयक का मार्गदर्शन करें, राजस्व रिकॉर्ड बनाए रखें, उप मंडल अधिकारियों को रिपोर्ट करें, और अन्य अधिकारियों के साथ मिलें, आदि होता है।

इसलिए इससे एक बहुत ही जिम्मेदारी का पद माना जाता है। जो अभ्यर्थी तहसीलदार बनना चाहते है उन्हें State Level पर आयोजित की जाने वाली परीक्षा को पास करना पड़ता है। जिसके लिए उम्मीदवार के पासकई योग्यता होनी अनिवार्य है। यदि आप जानना चाहते हैं कि तहसीलदार अधिकारी बनने के लिए आपके पास कौन-कौन सी योग्यताएं होनी चाहिए। तो आप लास्ट तक हमारी वेबसाइट पर बने रहें हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं।

तहसीलदार बनने के लिए महत्वपूर्ण योग्यताएं | Important Qualifications to become Tehsildar

नायाब तहसीलदार के पद को प्राप्त करने हेतु क्या योग्यताएं है यह प्रश्न आपके दिमाग में जरूर होगा। अगर आपको तहसीलदार बनने के लिए महत्वपूर्ण योग्यताओं के बारे में जानकारी नहीं है तो हमने इसकी समुचित जानकारी नीचे सूचीबद्ध रूप में उपलब्ध कराई है। जो कुछ इस प्रकार हैं-

  • यदि आप नायब तहसीलदार बनना चाहते हैं तो पहले आपको किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी विषय से ग्रेजुएशन पूरी करनी होगी।
  • तहसीलदार के रूप में कार्य करने के लिए यह जरूरी है कि आपको उस स्थान के स्थानीय भाषा का भरपूर ज्ञान होना चाहिए जहां आप तहसीलदार के रूप में नियुक्त होना चाहते हैं।
  • इतना ही नहीं अभ्यर्थियों की आयु 21 वर्ष से लेकर 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को सरकार द्वारा आयु सीमा पर 5 साल तक की विशेष छूट प्रदान की जाती है।
  • तहसीलदार बनने के लिए उम्मीदवार का भारत का मूल निवासी होना अनिवार्य होता है।

तहसीलदार बनने की चयन प्रक्रिया Selection Process to become Tehsildar|

तहसीलदार के रूप में कार्य करने के लिए सबसे पहले आपको राज्य स्तर पर आयोजित की जाने वाली स्टेट सिविल सर्विस एक्जाम पास करना होगा। जिसमें आपको मुख्य तीन चरणों से होकर गुजरना होगा पहला प्रारंभिक परीक्षा दूसरा मुख्य परीक्षा तथा तीसरा इंटरव्यू।

प्रारंभिक परीक्षा

यह तहसीलदार बनने के लिए पहला कदम होता है जिसमें उम्मीदवार को स्टेट सिविल सर्विस एग्जाम के लिए अप्लाई करने के बाद प्रारंभिक परीक्षा देनी होती है। इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने के बाद ही उम्मीदवार को मुख्य परीक्षा में सम्मिलित किया जाता है। यदि कोई उम्मीदवार इस परीक्षा में पास नहीं होता तो वह मुख्य परीक्षा में शामिल होने की योग्य नहीं माना जाता है।

मुख्य परीक्षा

प्रारंभिक परीक्षा या फिर कहे स्क्रीन टेस्ट देने के बाद आपको मुख्य परीक्षा से होकर गुजरना पड़ता है इस परीक्षा में कई ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न पूछे जाते हैं. जिन्हें सही तरीके से हल करते हुए आपको अच्छा स्कोर करना होगा। अगर आप इस परीक्षा को अच्छे नंबरों से पास कर लेते हैं तो आप इंटरव्यू के लिए बुलाए जाएंगे।

इंटरव्यू

जब आप इन दोनों परीक्षाओं को उस दिन कर लेंगे तब आपको अंतिम चरण में बुलाया जाएगा इस प्रक्रिया के दौरान उम्मीदवार ऐसे प्रश्न पूछे जाते हैं। जिससे उनकी योग्यताओं और परिस्थिति के समय निश्चय करने की क्षमता को जांचा जा सके साथ ही यह भी देखा जाता है, उम्मीदवार पूछे गए प्रश्नों का किस प्रकार से और आधार पर प्रश्न का उत्तर देता है जो उम्मीदवार इंटरव्यू में पूछे गए सभी प्रश्नों का उत्तर संतोषजनक देता है उसे सफल घोषित कर दिया जाता है।

तहसीलदार के क्या कार्य होते है?

तहसीलदार जितना सम्मानजनक और उच्च पद है इतनी भी अधिक जिम्मेदारी है किस पद पर कार्य करने वाले व्यक्ति के कंधों पर होती हैं।तहसीलदार को कई कार्य करने पड़ते हैं। जो निम्न प्रकार है-

  • तहसील के अंतर्गत भूमि संबंधित विवादों को सुनना और उसका निदान करना तहसीलदार का ही कार्य होता है।
  • तहसीलदार का कार्य पटवारी द्वारा किए गए कार्यों का पर्यवेक्षण करना और भूमि अभिलेख के बारे में समुचित जानकारी रखना होता है।
  • भूमि स्वराज का उचित संग्रह सुनिश्चित करना तहसीलदार का ही कार्य होता है ताकि किसान आसानी से अपने रिकॉर्ड के बारे में जानकारी प्राप्त कर सके।
  • नागरिकों के लिए जारी किए जाने वाले जाति प्रमाण पत्र निवास प्रमाण पत्र आय प्रमाण पत्र तथा अन्य तरह के प्रमाण पत्र तहसीलदार के द्वारा ही मान्यता प्राप्त के बाद उपयोग में लाया जा सकता है।
  • इन सभी कार्य के अतिरिक्त तहसीलदार का मुख्य कार्य प्राकृतिक आपदाओं या बाधाओं से होने वाली हानि से राहत दिलाने के लिए अभियान शुरू करना होता है।
  • इतना ही नहीं तहसीलदार का सबसे महत्वपूर्ण कार्य तहसील के बीज और उनकी आवश्यकताओं की आपूर्ति पर नजर रखना होता है।

तहसीलदार की सैलरी (tehsildar salary)

विभिन्न राज्यों में तहसीलदार पद हेतु ₹9300 से लेकर ₹34800 प्रति माह वेतन दिया जाता है इसके अतिरिक्त तहसीलदार पद पर कार्य करने वाले व्यक्ति को कई सरकारी योजनाओं जैसे निवास हेतु भवन खाना पकाने हेतु रसोईया तथा सिक्योरिटी गार्ड के साथ-साथ कई अन्य सुविधाएं भी प्रदान की जाती है इससे आप समझ सकते हैं कि तहसीलदार कितना सम्मान देना और करियर के नजरिए से कितना अच्छा विकल्प है।

तहसीलदार बनने के लिए क्या करे?

अगर आप एक तहसीलदार बनना चाहते हैं लेकिन आप तो इसके बारे में सही जानकारी नहीं है तो हम आपको नीचे कुछ टिप्स दे रहे हैं जिन्हें फॉलो करके आप निश्चित रूप से एक तहसीलदार बनने का अपना सपना पूरा कर पाएंगे।

अपने लक्ष्य को स्थिर करें।

अगर आप तहसीलदार करना चाहते हैं तो पहले यह सब करने की आपको अपने इस सपने को पूरा करने के लिए अब पीछे नहीं आना है अगर आप एक बार अपने लक्ष्य को निर्धारित कर लेते हैं तो आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता इसीलिए अपने लक्ष्य को निर्धारित कर कर पूरी लगन और मेहनत के साथ तहसीलदार बनने के लिए मेहनत करें।

परीक्षा के लिए तैयारी करें।

तहसीलदार बनने के लिए आपको पूरी मेहनत के साथ स्टेट लेवल पर आयोजित होने वाली यह प्रतियोगिता परीक्षा में हिस्सा लेना होगा पता सही टाइम टेबल बनाकर प्रतिदिन अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए तहसीलदार की परीक्षा हेतु तैयारी करनी होगी और सिलेबस को बहुत ही समझ कर पूरा पढ़ सकेंगे।

रिवीजन करना शुरू करें।

अगर आपने सही टाइम टेबल बना लिया है और आप उसके अनुसार रोजाना पढ़ते हैं तो आप तो सिर्फ चीजों को पढ़ना और समझना नहीं है बल्कि आपको परीक्षा के सिलेबस को बार-बार रिवीजन करते हुए खड़ा करने में आपको थोड़ी परेशानी जरूर होगी लेकिन यह आपके छोटे से छोटे दाउद को क्लियर करने में आप की काफी मदद करेगा।

पुराने प्रश्न पत्र को हल कीजिए।

परीक्षा में अच्छे नंबर लाने के लिए आपको यह समझना बेहद आवश्यक है कि परीक्षा में किसका के प्रश्न पूछे जाते हैं और आपको उनका किस तरह किए उत्तर देना होगा तहसीलदार परीक्षा का पैटर्न समझने के लिए आप पुराने प्रश्न पत्र को हल कर सकते हैं यह आप परीक्षा पैटर्न और एग्जाम में किस प्रकार से प्रश्न पूछे जाते हैं यह सारी जानकारी प्रदान करने में काफी हेल्पफुल होगा।

सभी विषयों पर पूरा ध्यान दे।

नायाब तहसीलदार की परीक्षा में जनरल नॉलेज करंट अफेयर्स से कई तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं इसीलिए आपको सभी विषयों पर ध्यान देते हुए अपनी पढ़ाई शुरू कर रहे हैं साथ में आपको देश विदेश में हो रहे घटनाओं और समाचार के बारे में अपडेट रहना है देश दुनिया में हो रही घटनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए आप न्यूजपेपर, मैगजीन आदि का सहारा ले सकते हैं।

FAQ

नायब तहसीलदार कैसे बने?

नायाब तहसीलदार बनने के लिए आपको सेंट्रल सिविल सर्विस के द्वारा तहसीलदार के लिए आयोजित की जाने वाली प्रतियोगिता परीक्षा में भाग लेकर परीक्षा को अच्छे नंबरों से उत्तीर्ण करना होगा।

तहसीलदार बनने के लिए कितनी आयु होनी चाहिए?

यदि आपका सपना एक नायाब तहसीलदार बनने का है तो इसके लिए आपकी न्यूनतम आयु 21 वर्ष तथा अधिकतम 42 वर्ष तक की होनी चाहिए इसके अतिरिक्त यदि आप आरक्षित वर्ग से संबंध रखते हैं तो आपको 5 वर्ष की छूट भी मिल सकती है।

क्या तहसीलदार के लिए प्रतियोगिता परीक्षा कठिन है?

तहसीलदार का पद एक बहुत ही सम्मान और जिम्मेदारी वाला पद है जिसे प्राप्त करने के लिए उम्मीदवारों को स्टेट सिविल सर्विस परीक्षा करना पड़ता है जिसे पाना बहुत ही कठिन है इस परीक्षा को बात करने के लिए सही दिशा में पढ़ाई और मेहनत करनी पड़ती है।

तहसीलदार को कौन-कौन से सरकारी सेवाएं मिलती है?

तहसीलदार को अच्छी सैलरी के साथ-साथ सरकार द्वारा रहने के लिए सरकारी मकान, मुफ्त बिजली, मुफ्त पानी, खाना पकाने के लिए रसोईया, सिक्योरिटी गार्ड, सरकारी वाहन आदि सुविधाएं मिलती हैं।

निष्कर्ष

प्रत्येक वर्ष कई छात्र तहसीलदार बनने के लिए पूरी मेहनत के साथ पढ़ाई करते हैं लेकिन सही जानकारी ना होने के कारण वह एक बार में अपना लक्ष्य नहीं प्राप्त कर पाते हैं। हमने आज अपने आर्टिकल के माध्यम से तहसीलदार क्या है? तहसीलदार बनने के लिए क्या करें? के बारे में पूरी जानकारी उपलब्ध कराई है। अगर आपको हमारी वेबसाइट का आज का यह लेख पसंद आया हो तो उसे अपने सभी दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Main Points

3 thoughts on “तहसीलदार कैसे बने? | योग्यता, सैलरी | तैयारी कैसे करें?”

  1. पूर्व से सेवा में कार्यरत कर्मचारी डिपार्टमेंटल एग्जाम पास कर के भी तहसीलदार बनते हैं . तहसीलदार बनने का एक तरीका यह भी है. For information only

    Reply

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।