ग्राम पंचायत सचिव के कार्य और ग्राम पंचायत सचिव की नियुक्ति कौन करता है?

वर्तमान समय में इतनी अच्छी प्राइवेट नौकरियां होने के बावजूद भी गवर्नमेंट जॉब के लिए Competition कम नही हुआ है। आज भी सभी लोग गवर्नमेंट जॉब करना चाहते हैं। जैसे ही कोई विद्यार्थी ग्रेजुएशन में आता है। वैसे ही उसके अभिभावकों की इच्छा होती है। कि वह किसी तरह सरकारी नौकरी में लग जाए। ग्राम पंचायत सचिव भी एक ऐसा ही पद है। जिसके लिए राज्यों में बहुत बड़े पैमाने पर बहुत सारी भर्तियां निकलती हैं। जिसमें पेपर को पास करके किसी भी व्यक्ति की सरकारी नौकरी लग सकती है। यदि आपको Gram Panchayat Sachiv Ke Karya? के बारे में जानकारी नहीं है। तो हम इस लेख में संबंधित संपूर्ण जानकारी देंगे।

यदि आप गांव में रहते हैं। तो ग्राम पंचायत सचिव के कार्य के बारे में जानना आपके लिए बेहद आवश्यक है। ताकि आपको इस बात का पता हो की ग्राम पंचायत सचिव आपके कौन-कौन से कार्य करने के लिए बनाया जाता है। आज हम आपको अपनी पोस्ट में ग्राम पंचायत सचिव के कार्य की संपूर्ण जानकारी देंगे। साथ ही यदि आप सरकारी नौकरी करना चाहते हैं। तथा ग्राम पंचायत सचिव के पद पर कार्यरत होना चाहते हैं। तो हम यह भी बताएंगे कि किस प्रकार ग्राम पंचायत सचिव की नियुक्ति की जाती है। यदि आपको यह जानकारी प्राप्त करनी है। तो हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़े।

Main Points

ग्राम पंचायत क्या होती है? (What is Gram Panchayat?)

जो व्यक्ति गांव से संबंधित नहीं है और ग्राम पंचायत सचिव के बारे में जानना चाहता है। तो उसे सबसे पहले ग्राम पंचायत क्या होती है? इसके बारे में जानना होगा। ग्राम पंचायत हर गांव में होती है। हमारे भारत देश में 51 हज़ार से भी अधिक ग्राम पंचायतें उपस्थित हैं। ग्राम पंचायत के द्वारा गांव के विकास कार्य और योजनाओं को लागू करने का कार्य किया जाता है। साथ ही ग्राम पंचायत गांव के मूलभूत आवश्यकताओं के ढांचे का प्रस्ताव सरकार के सामने रखती है। राज्य सरकार ही उनके प्रस्तावों को मंजूरी प्रदान करती है। ग्राम पंचायत ग्राम स्तर की सरकार होती है।

ग्राम पंचायत सचिव की नियुक्ति कौन करता है? (Who appoints the Gram Panchayat Secretary?)

ग्राम पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत सचिव का पद भी होता है यह पूरी तरह से सरकारी नौकरी होती है लगभग सभी राज्यों में ग्राम पंचायत सचिव की नियुक्ति करने का अधिकार ग्राम पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के पास ही होता है ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा ही ग्राम पंचायत सचिव के रिक्त पदों की सूचना कर्मचारी चयन आयोग को प्रदान की जाती है सूचना कर्मचारी चयन आयोग के द्वारा इस पद से संबंधित परीक्षा का आयोजन किया जाता है साथ ही यह आयोग भर्ती की प्रक्रिया को पूरा कराता है। यह सारे कार्य सरकारी नियम के अनुसार होते है।

पंचायत सचिव नियुक्ति की प्रक्रिया क्या होती है? इसके लिए कितने पेपर होते हैं? (What is the process of appointment of panchayat Secretary, how many papers are there for this?)

ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा ग्राम पंचायत में स्थित सभी रिक्त स्थानों का विज्ञापन जारी किया जाता है। जो उम्मीदवार इसकी योग्यता को पास कर लेते हैं। वह निर्धारित तिथि के अंदर इसमें आवेदन कर देते हैं। इसी के पश्चात कर्मचारी चयन आयोग के द्वारा परीक्षा आयोजित की जाती है। पंचायत सचिव नियुक्ति के पद पर कार्यरत होने के लिए दो पेपर होते हैं। प्रथम प्रश्न पत्र में 100 प्रश्नों के उत्तर पूछे जाते है।  जिसमें प्रत्येक प्रश्न के सही उत्तर पर आपको 1 अंक दिया जाएगा। अर्थात प्रथम प्रश्न पत्र 100 अंको का होता है। प्रथम प्रश्न पत्र को आपको 2 घंटे में करना होता है।

इसी प्रकार दूसरे प्रश्न पत्र की बात करें। तो उसके अंतर्गत भी आप से 100 प्रश्नों के उत्तर पूछे जाते हैं। अर्थात दूसरा प्रश्न पत्र भी 100 अंकों का होता है। साथ ही साथ प्रथम प्रश्नपत्र के समान इसमे भी 2 घंटे की समय अवधि प्रश्न पत्र को हल करने के लिए दिए जा रहे हैं। इसके अंतर्गत आपसे सामान्य जागरूकता, रीजनिंग, अंग्रेजी, हिंदी और गणित से संबंधित विषयों के सवाल पूछे जाते हैं। इस परीक्षा को अच्छे नंबरों के साथ जो भी उम्मीदवार पास कर लेता है। उसे ग्राम पंचायत में ग्राम पंचायत सचिव के रूप में नौकरी मिल जाती है। जो कि एक सरकारी नौकरी होती है।

पंचायत सचिव बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या होती है? (Educational eligibility for Panchayat Secretary?)

ग्राम पंचायत सचिव के पद के लिए योग्यताओं की बात करें। तो सरकार द्वारा हर पद के लिए कोई न कोई योग्यता रखी जाती है। प्रत्येक राज्य में ग्राम पंचायत सचिव के पद के लिए विभिन्न विभिन्न योग्यताएं निर्धारित की जाती है। परंतु यदि पंचायत सचिव बनने के लिए शैक्षिक योग्यता की बात की जाए तो इसकी जानकारी निम्न प्रकार है-

  • जो भी उम्मीदवार ग्राम पंचायत सचिव के पद पर कार्यरत होना चाहता है। उसके पास कम से कम स्नातक की डिग्री होनी आवश्यक है।
  • उत्तर प्रदेश में यदि कोई व्यक्ति ग्राम पंचायत सचिव के पद पर कार्यरत होना चाहता है। तो उम्मीदवार के मैट्रिक मानक या उच्च शिक्षा तक हिंदी और संस्कृत होना आवश्यक होती है।
  • हिमाचल प्रदेश के अंतर्गत इस भर्ती के लिए कोटा निर्धारित किया जाता है। इस हिसाब से शैक्षिक योग्यता में छूट प्रदान की गई है।

ग्राम पंचायत सचिव के पद के लिए आयु सीमा? (Age Eligibility For Panchayat Secretary?)

ग्राम पंचायत के पद के लिए आयु सीमा भी रखी गई है। जिसके बारे में हमने आपको निम्न प्रकार से जानकारी प्रदान की है-

  • यदि ग्राम पंचायत सचिव की भर्ती में आवेदन करने की आयु सीमा की बात की जाए। तो इसकी न्यूनतम आयु सीमा 18 वर्ष तथा अधिकतम आयु 45 वर्ष रखी गई है। परंतु कहीं-कहीं 42 वर्ष रखी गई है।
  • कुछ ग्राम पंचायत सचिव के पद पर सीधी भर्ती की जाती है। तथा इसी के साथ साथ कुछ पंचायत सचिव के पद पर कोटे के साथ भर्ती करने का प्रावधान होता है। इस बात का निर्णय सरकार द्वारा अपनी सहूलियत के हिसाब से लिया जाता है।

ग्राम पंचायत सचिव भर्ती नियमों में संशोधन क्या हुआ है? (What is the amendment in the gram panchayat secretary requirement Rules?)

राज्य सरकार द्वारा अपनी जरूरतों के हिसाब से ग्राम पंचायत सचिव के पद पर बहुत सारे संशोधित करती रहती है। उदाहरण के तौर पर हिमाचल प्रदेश सरकार में ग्राम पंचायत सचिव के भर्ती नियमों में कुछ समय पहले ही संशोधन कार्य समाप्त किया है। इसी में नए नियमों के तहत 300 पदों पर ग्राम पंचायत सचिव के भरे जाएंगे। इसी प्रकार प्रत्येक राज्य की सरकार के द्वारा ग्राम पंचायत सचिव भर्ती नियमो में संशोधन किया जा सकता है। जिसके तहत ग्राम पंचायत सचिव की भर्तियां बढ़ भी सकती है। साथ ही कम भी की जा सकती हैं। यह पूरी तरह से राज्य सरकार की सहूलियत पर आधारित होता है।

ग्राम पंचायत सचिव पद की खासियत क्या होती है? (What are the specialties of the post of Gram panchayat Secretary?)

ग्राम पंचायत सचिव का पद बहुत ही जिम्मेदारी वाला पद होता है। इस प्रकार व्यक्ति के कार्य पर सब की नजर होती है। पंचायत का संपूर्ण कार्य उसकी दक्षता पर भी निर्भर करता है। किसी कारण कई बार तो ऐसा भी होता है। कि ग्रामीण पंचायत सचिव को कई आरोपों का सामना करना पड़ता है। अधिकतर ग्राम पंचायत सचिव पर उसकी मनमानी और सरकारी राशि के बेफिजूल उपयोग के आरोप लगते है।

ग्राम पंचायत सचिव के खिलाफ शिकायत सरपंच, उपसरपंच ही नहीं बल्कि गांव में रहने वाले नागरिक भी कर सकते हैं। हाल ही में उत्तर प्रदेश के झांसी जिले में ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत सचिव के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। कई बार ग्राम पंचायत सचिव और सरपंच अधिकारियों के साथ मिलकर ग्रामीण के अधिकारों का दोहन करते हैं।

ग्राम पंचायत सचिव के क्या कार्य होते हैं? (Work of Gram Panchayat Secretary?)

ग्राम पंचायत सचिव के क्या कारण होते हैं? तथा वह गांव में किन कार्यों को करने में सक्षम होता है। इसके बारे में हमने नीचे विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की है। जो कि निम्न प्रकार है-

  •  ग्राम पंचायत सचिव गांव के विकास कार्यों के लिए प्रस्ताव बनाने में ग्राम पंचायत की मदद करता है।
  • ग्राम पंचायत सचिव के द्वारा लिपिकीय कार्य और धन का लेखा जोखा रखने का भी कार्य किया जाता है।
  • ग्राम पंचायत सचिव के द्वारा ऑडिट के लिए इस लेखे जोखे को मुहैया कराना होता है।
  • ग्राम पंचायत सचिव कार्यालय का प्रभावी कहलाता है।
  • ग्राम पंचायत सचिव के द्वारा ग्रामीणों के बीच सरकारी योजनाओं का प्रचार प्रसार करने का कार्य किया जाता है।
  • ग्राम सचिव ग्राम पंचायत और सरकार के बीच की एक कड़ी होता है।
  • ग्राम सचिव का मुख्य कार्य ग्राम पंचायत द्वारा पारित प्रस्तावो का रिकॉर्ड रखना और उसे क्रियान्वयन में मदद करना होता है।
  • ग्राम सचिव के द्वारा गांव में विकास कार्य हेतु आने वाली नई योजनाओं को लागू करने के साथ-साथ उनसे मिलने वाले लाभ के बारे लोगों को जागरुक करने का काम भी किया जाता है।

ग्राम पंचायत सचिव के कार्य में कौन सहायता करता है? (Who helps in the work of Gram panchayat secretary?)

ग्राम पंचायत सचिव अपना कार्य स्वयं करता है। परंतु बिना किसी की सहायता से वह अपना कार्य नहीं कर सकता। ग्राम सचिव का कार्य करने में ग्राम पंचायत उसकी पूरी तरह मदद करती है। पंचायत सहायक द्वारा पंचायत सचिव के कार्य में मदद की जाती है। जिन कार्य में ग्राम पंचायत सचिव की सहायता पंचायत सहायक करते हैं। वह निम्न प्रकार है-

  • ग्राम पंचायत के अभिलेखों के रखरखाव में सहायता।
  • पंचायत के नियामक कार्य के निष्पादन में सहायता।
  • किसी कार्य के नियोजन में सहायता।
  • कार्यान्वयन और ग्राम पंचायत योजना की रिपोर्टिंग में सहायता।
  • विकास के निर्माण कार्य में ग्राम पंचायत सचिव की सहायता।
  • ग्राम सभा और ग्राम पंचायत की बैठक कराने में ग्राम सचिव की सहायता।
  • ग्राम पंचायतों की संपत्ति के रखरखाव में सहायता।
  • जिला पंचायती राज अधिकारी यानी डीपीआरओ की तरफ से समय-समय पर सौंपे गए कार्य के साथ ही पदीय दायित्व में सहायता।

ग्राम पंचायत सचिव की सैलरी क्या होती है? (Salary of Gram panchayat Secretary?)

कोई व्यक्ति सरकारी नौकरी इसीलिए करना चाहता है। ताकि उसे एक अच्छी सैलरी मिल सके। साथ ही वह अपना जीवन सुखमय तरह से व्यतीत कर सकें। हमने आपको ग्राम पंचायत सचिव से संबंधित सभी जानकारी प्रदान कर दी है। तो आपके मन में ग्राम पंचायत सचिव की क्या सैलरी होती है? यह सवाल अवश्य तौर पर आया होगा।

अब हम आपको ग्राम पंचायत सचिव की सैलरी के बारे में बताएंगे। ग्राम पंचायत सचिव का वेतन 2400 ग्रेड के साथ 5200- 20230 वेतनमान दिया जाता है। इसी प्रकार नए वेतनमान के अनुसार ग्राम पंचायत सचिव को ₹35000 से ₹40000 वेतन प्रतिमाह प्राप्त होगा। ग्राम पंचायत सचिव को मिलने वाली सैलरी बहुत अच्छी होती है। जिसके द्वारा आप अपना पूरा जीवन बहुत ही आसानी के साथ बीता सकते हैं।

ग्राम पंचायत के क्या कार्य होते हैं? इससे संबंधित प्रश्न का उत्तर (FAQs):-

Q:- ग्राम पंचायत सचिव कौन होता है?

Ans:- गांव में सरकारी योजना को लागू करने का कार्य ग्राम पंचायत द्वारा किया जाता है। इस बात का सारा लेखा-जोखा देखने वाले व्यक्ति की नियुक्ति सरकार के द्वारा होती है। उसी को “ग्राम पंचायत सचिव” कहते हैं।

Q:- ग्राम पंचायत सचिव की नियुक्ति किसके द्वारा होती है?

Ans:- ग्राम पंचायत सचिव की नियुक्ति ग्राम पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा की जाती है।

Q:- ग्राम पंचायत सचिव की शिकायत कहां करें?

Ans:- यदि आपकी ग्राम पंचायत का सचिव कोई भी गलत कार्य कर रहा है। या सरकारी धनराशि का गलत इस्तेमाल कर रहा है। तो आप उसकी शिकायत जिलाधिकारी के पास जाकर कर सकते हैं।

Q:- ग्राम पंचायत सचिव का वेतन कितना होता है?

Ans:- नए वेतनमान के अनुसार ग्राम पंचायत सचिव का वेतन ₹25000 से लेकर ₹40000 प्रति माह होता है।

Q:- ग्राम पंचायत सचिव का क्या कार्य होता है?

Ans:- ग्राम पंचायत के द्वारा लागू की जाने वाली सरकारी योजनाओं का लेखा-जोखा रखने का कार्य ग्राम पंचायत सचिव का होता है।

Q:- ग्राम पंचायत सचिव का पद कैसा होता है?

निष्कर्ष (Conclusion):- आज हमने अपने एक लेख में ग्राम पंचायत सचिव के क्या क्या कार्य है? इससे संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यदि आप गांव में रहते हैं। तो आपको इसकी जानकारी होनी चाहिए। यदि आप गांव में नहीं रहते हैं। तथा ग्राम पंचायत सचिव के पद पर कार्य करना चाहते हैं।

तो इसके लिए आपको हमारी इस पोस्ट में बताई गई एग्जाम प्रक्रिया से होकर गुजरना पड़ता है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी बेहद पसंद आई होगी। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पसंद आई हो तो हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर बताइए। साथ ही हमारे इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें।

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।