बिहार विकलांग सशक्तिकरण योजना | ऑनलाइन आवेदन फॉर्म | लाभ, पात्रता, उद्देश्य

Bihar Disabled Empowerment Scheme apply Form :- जब कोई व्यक्ति को विकलांग या दिव्यांग होता है तो उसे अपने जीवन को यापन करने के लिए बहुत से संघर्षों के सामना करना पड़ता है। क्योंकि विकलांग होने के करना उनके पास आय के साधन उपलब्ध नहीं होते है और उन्हें अधिकतर कामों को करने में अन्य लोगों की आवश्यकता होती है।

लेकिन हमारे समाज में ऐसी मानसिकता बनी हुयी है कि विकलांग व्यक्ति कुछ नहीं कर पाता है जिस कारण बहुत से विकलांग लोगों का टेलेंट दुनिया भी सामने नहीं आ पता है। जिस कारण बहुत से विकलांग व्यक्ति गलत कदम उठा लेते है।

लेकिन आगे से ऐसा ना हो और विकलांग व्यक्ति भी अपने प्रतिभा को निखार सकें। इसके लिए बिहार सरकार द्वारा बिहार विकलांग सशक्तिकरण योजना 2021 को शुरू किया गया है। जिससे संबंधित सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं पर नीचे आर्टिकल में विस्तार से चर्चा की ग़यी है। इसलिए के आखिर तक हमारे साथ बने रहें।

बिहार विकलांग सशक्तिकरण योजना 2021 क्या है? | What is Bihar Disabled Empowerment Scheme

 Bihar Disabled Empowerment Scheme Apply Form

बिहार विकलांग सशक्तिकरण योजना बिहार प्रदेश के विकलांग नागरिकों के जीवन स्तर को ऊंचा करने और उन्हें आत्मनिर्भर या सशक्त बनाने के लिए चलायी जा रही कल्याणकारी योजना है। जिसकी शुरुआत राजस्थान प्रदेश के वर्तमान मुख्य श्री नीतीश कुमार जी द्वारा की है।

जिसके अंतर्गत सरकार द्वारा विकलांगों की शिक्षा, नौकरी कोटा, आर्थिक सहायता आदि के संबंध में बेहतर कदमों को उठाया जाएगा। जिससे विकलांग नागरिकों को अपना भविष्य में आगे बढ़ने का मौका मिल सकेगा और उन्हें अपना जीवन जीने के लिए पूर्णतया किसी पर निर्भर नहीं होना पड़ेगा। तो आइये Bihar Viklang Sashaktikaran Yojana 2021 In Hindi के बारे में विस्तार से जानते है।

मुख्यमंत्री सशक्तिकरण योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सुविधाएं

यदि कोई भी विकलांग व्यक्ति बिहार सशक्तिकरण योजना के बारे में पढ़ रहा है और इसके अंतर्गत लाभान्वित होना चाहता है तो उसे इस बारे में विशेष रूप से ज्ञान का होना आवश्यक है कि इस योजना के अंतर्गत विकलांग नागरिकों को क्या – क्या सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। जो निम्नवत है –

  • विकलांग हेतु ऋण उपलब्ध
  • विकलांगों नागरिकों के लिए नौकरी आरक्षण सुनिश्चित
  • दिव्यांग जनों के लिए दैनिक वित्तीय सहायता की व्यवस्था
  • विकलांग सर्टिफिकेट जारी करना
  • दिव्यांगजनों के लिए निःशुल्क बस और ट्रेन
  • विकलांगों के लिए विशेष विद्यालय

बिहार मुख्यमंत्री सशक्तिकरण योजना जरूरी पात्रता | Bihar Chief Minister empowerment scheme required eligibility

बिहार सरकार द्वारा इस योजना के लिये कुछ पात्रताओं को निर्धारित किया गया है। यदि विकलांग व्यक्ति उन पात्रताओं को रखता है तभी वह इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी बन सकता है। जो कि निम्न प्रकार है –

  • आवेदक व्यक्ति बिहार प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता न्यूनतम 40% या उससे अधिक विकलांग होना चाहिए।
  • आवेदन करने वाला विकलांग व्यक्ति किसी सरकारी पद पर कार्यरत नहीं होना चाहिए।
  • लाभार्थी पहले से किसी कल्याणकारी योजना के अंतर्गत लाभान्वित नहीं हो रहा हो।
  • आवेदनकर्ता के पास विकलांगता प्रमाण पत्र उपलब्ध होना चाहिए।
  • विकलांग व्यक्ति की न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए। तभी वह इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकता है।

विकलांग सशक्तिकरण योजना अन्य उद्देश्य | Disabled empowerment scheme Other objective

आइये जानते है कि इस योजना के शुरू करने के पीछे क्या – क्या उद्देश्य है और इसके तहत किन – किन कदमों को उठाया जाएगा। जो कि निम्न प्रकार है –

  • इस योजना के अंतर्गत व्यंजनों के विकास संबंधी केंद्र सरकार की नीतियों एवं कार्यक्रमों का कार्यान्वयन किया जाएगा।
  • विकलांग सशक्तिकरण आयोजनेतर और आयोजनागत योजनाओं के माध्यम से दिव्यांगजनों का सामाजिक, शैक्षिणक एवं आर्थिक विकास करना।
  • दिव्यांगजनों के लिए गैर सरकारी संस्थाओं में विकास संबंधित कार्य के लिए सहायता प्रदान करना।
  • विकलांग नागरिकों के विकास हेतु संस्थानों के साथ समन्वय स्थापित करना।
  • केंद्रीय और राज्य सरकार के साथ मिलकर सार्वजनिक फोटो को तथा निजी क्षेत्रों में संगठनों सिद्ध व्यंजनों के विकास के लिए सहयोग प्रदान करना।
  • दिव्यांगजनों को जीवन सहायक उपकरण उपलब्ध करवाना।
  • इस योजना के अंतर्गत विकलांगों को आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराई जाएगी जिससे आर्थिक रूप से मजबूत हो और अपने जीवन को यापन करने के लिए पूर्णतया किसी अन्य व्यक्ति पर निर्भर ना होना पड़े।

विकलांगों के लिए लोन सुविधा

विकलांग सशक्तिकरण योजना के अंतर्गत विकलांग नागरिकों को भाभी के फायदे दरों पर लोन उपलब्ध कराया जाएगा जिससे वह अपना स्वरोजगार शुरू करने में सक्षम होता हों और जीवन सही प्रकार यापन कर सकें।

दिव्यांगजनों के लिए नौकरी में कोटा

जब किसी व्यक्ति के पास एक सही रोजगार उपलब्ध होता है तो उसे किसी अन्य व्यक्ति पर पूर्णता निर्भर नहीं होना पड़ता है। लेकिन विकलांग व्यक्ति अपनी शिक्षा को निखारने के लिए ज्यादा समय नहीं दे पाते है। जिस कारण है नौकरी प्राप्त करने में असमर्थ हो जाते हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हो योजना के अंतर्गत विकलांगों को नौकरी में कोटा भी प्रदान किया जायेगा। जिससे वह नौकरी प्राप्त करने में सक्षम हो।

विकलांगों को निशुल्क बस, ट्रेन यात्रा

बिहार के विकलांग नागरिकों को आवागमन में किसी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े। इसलिए विकलांग सशक्तिकरण योजना के अंतर्गत निशुल्क बस और ट्रेन यात्रा की व्यवस्था की गई है जिसके लिए ट्रेन और बसों में विकलांग नागरिकों हेतु सीटें सुनिश्चित कर दी जाएंगी। जिस पर अन्य व्यक्तियों को बैठने की अनुमति नहीं होगी।

विकलांगों हेतु विद्यालय

प्रदेश के विकलांग लोगों को सही प्रकार शिक्षा मिल सकें और शिक्षा प्राप्त कर रोजगार प्राप्त करने में सक्षम हों। इसके लिए बिहार सरकार द्वारा विशेष रूप से विकलांगों के लिए विद्यालय स्थापित करने की योजना को तैयार किया गया है।

दिव्यांगजनों के लिए दैनिक खर्च की व्यवस्था

हर व्यक्ति की अपनी जरूरत होती है और उसी प्रकार विकलांग व्यक्तियों की भी अपनी बहुत सी जरूरत होती है जिन को पूरा करने के लिए बिहार सरकार द्वारा बिहार विकलांग सशक्तिकरण योजना के अंतर्गत दैनिक खर्च की व्यवस्था भी की गई है जिससे वे अपनी जरूरतों को पूरा करने में सक्षम होंगे।

बिहार विकलांग सशक्तिकरण योजना FAQ

क्या इस योजना के तहत केवल बिहार के विकलांग व्यक्तियों को ही मान्य माना जाएगा।

जी हां! इस योजना के अंतर्गत केवल बिहारी प्रदेश के विकलांग नागरिकों को ही मान्य माना जाएगा।

बिहार विकलांग सशक्तिकरण के अंतर्गत दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ कैसे प्राप्त करें?

इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ लेने के लिए आप ऑनलाइन या ऑफलाइन माध्यम से आवेदन करके प्राप्त कर सकें। जिससे संबंधित अधिक जानकारी के लिए आप भी विभाग में या विभाग की ऑफिशल वेबसाइट विजिट कर सकते हैं।

इस योजना का लाभ लेने के लिए विकलांग व्यक्ति के पास कम से कम कितने प्रतिशत विकलांगता का प्रमाण पत्र होना चाहिए?

बिहार विकलांग सशक्तिकरण योजना के अंतर्गत किसी भी सुविधा का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक के पास कम से कम 40% का विकलांग सर्टिफिकेट होना चाहिए।

निष्कर्ष –

आज हमारे द्वारा इस लेख में बिहार विकलांग सशक्तिकरण योजना के बारे में विस्तार से जानकारी साझा की गई है। उम्मीद करते हैं कि यह आपको पसंद आयी होगी।

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।