परम्परागत कृषि विकास योजना | ऑनलाइन पंजीकरण | लाभ, पात्रता और दस्तावेज

Prampargat Krashi Vikas Yojana 2022 In Hindi  :- भारत एक कृषि प्रधान देश है। क्योंकि एक मात्र भारत में 15 जलवायुविक क्षेत्र पाये जाते है। इसलिए कृषि को भारत की अर्थव्यवस्था की रीढ़ कहा जाता है।लेकिन पिछले कुछ वर्षों से किसानों द्वारा कृषि की उत्पादन क्षमता में वृद्धि करने के लिए तरह – तरह की रासायनिक दवाइयों को प्रयोग में लाया जा रहा है। जिससे उगायी गयी फसलों का सेवन करना मनुष्य स्वस्थ्य के लिए हानिकारक है और इससे कृषि योग्य फसल भी बंजर होती है। इसलिए अब किसानों को जैविक तरीके से कृषि करने के लिए प्रोहत्साहित किया जा रहा है। 

जिसके लिए केंद्र सरकार द्वारा परम्परागत कृषि विकास योजना को शुरू किया है। जिसके अंतर्गत जैविक तरीकों का उपयोग करके कृषि करने वाले किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी। तो अगर आप भी एक किसान है तो Prampargat Krashi Vikas Yojana 2022 In Hindi के बारे में पढ़कर आपको काफी अच्छा लगेगा। जिससे संबंधित सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं जैसे – परम्परागत कृषि योजना क्या है?, विशेषताएँ,लाभ, पात्रता, आवेदन प्रक्रिया आदि के बारे में नीचे विस्तार से जानकारी साझा की गयी है। इसलिये आर्टिकल में एंड तक हमारे साथ बने रहें। तो चलिये शुरू करते है –

परम्परागत कृषि विकास योजना | Prampargat Krashi Vikas Yojana

परम्परागत कृषि विकास योजना  ऑनलाइन पंजीकरण  लाभ, पात्रता और दस्तावेज

परम्परागत कृषि विकास योजना किसानों को जैविक तरीक़े से कृषि करने के लिए प्रोहत्साहित करने के लिए शुरू की प्रोहत्साहित योजना है। जिससे मिट्टी की ओर उर्वरता में वृद्धि होगी और किसानों को उत्पादन क्षमता में वृद्धि करने वाली रासायनिक दवाइयों का भी उपयोग नहीं करना होगा और उगायी गयी फसलें मनुष्य के लिए बहुत ज्यादा एनर्जेटिक होंगी।

जिसके तहत किसानों को प्रोहत्साहन राशि भी प्रदान की जायेगी और इसका वितरण किस प्रकार की जायेगा। इसके बारे में नीचे बताया गया है। इसके अलावा आपको बता दें कि परम्परागत कृषि विकास योजना को वर्ष 2015 – 16 में प्रधानमंत्री जी द्वारा सॉइल हेल्थ योजना के तहत शुरू किया गया है।

परम्परागत कृषि योजना के तहत दी जाने वाली प्रोहत्साहन राशि

हम आपको पहले ही बता चुके है कि परम्परागत कृषि विकास योजना किसानों को जैविक तरीके से कृषि करने के लिए प्रोहत्साहित करने के लिए चालयी जा रही योजना है। जिसके तहत किसानों कोप्रोहत्साहन राशि के रूप में वित्तीय सहायता भी प्रदान की जायेगी। लेकिन अब आपके मन में आ रहा होगा। कि इसके तहत कितने रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जायेगी।

अगर हां! तो आपको बता दें कि इस योजना के अंतर्गत मूल्यवर्धन और विपरण के लिए प्रति हेक्टेयर ₹50,000 तीन वर्ष के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी और इस योजना के अंतर्गत अब तक 4 वर्षों में ₹1197 करोड़ रुपये का व्यय किया जा चुका है। अगर आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते है। तो पूरी जानकारी इस योजना से जुड़ी नींचे साझा की गई है। आप नींचे दी गयी जानकारी को फॉलो करके इस योजना में आवेदन करके योजना का लाभ ले सकते हैं। 

परम्परागत कृषि विकास योजना से लाभ | Prampargat Krashi Vikas Yojana Benefit

यदि आप किसान है और इस योजना के बारे में पढ़ रहे हैं। तो आपको इस योजना के शुरू होने से होने वाले लाभों के बारे में भी पता होना आवश्यक है। जो कि निम्न है –

  • परम्परागत कृषि विकास योजना से किसान जैविक तरीके से कृषि करने के प्रति प्रोहत्साहित होंगे।
  • यह योजना पारंपरिक ज्ञान एवं आधुनिक विकास के माध्यम से कृषि का स्थायी मॉडल विकसित करने में मदद मिलेगी।
  • इस योजना के शुरू होने से मिट्टी की उर्वकता में वृद्धि होगी।
  • परम्परागत कृषि विकास योजना के माध्यम से किसानों को जैविक तरीक़े से कृषि पर प्रति हेक्टेयर 50,000 रुपये की राशि तीन वर्षों के लिए प्रदान की जायेगी।
  • मूल्यवर्धन और वितरण के लिए 8,800 रुपये की राशि प्रदान की जायेगी।
  • इस योजना के अंतर्गत क्लस्टर निर्माण और क्षमता निर्माण के लिए 3,000 रुपये प्रति हेक्टेयर प्रदान किये जायेंगे।
  • Parmpragat Krashi Vikas Yojana को सत्र 2015 – 16 में शुरू किया गया था और तब से अब तक इसके तहत 1197 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की जा चुकी है।

परम्परागत कृषि विकास योजना जरूरी पात्रता | Prampargat Krashi Vikas Yojana Eligibility

यदि आप इस योजना के माध्यम से लाभान्वित होना चाहते है। तो इसके लिए आपके पास कुछ पात्रताओं का होना आवश्यक है। जो कि निम्न है –

  • आवेदक की न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए।
  • किसान भारत का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • आवेदन करने वाले नागरिक का किसी भी बैंक में खाता होना भी आवश्यक है। क्योंकि विभाग द्वारा दी जाने वाली लाभ राशि सीधे लाभार्थी के खाते में स्थांतरित की जाती है।
  • आवेदक के पास कृषि योग्य भूमि भी उपलब्ध होनी चाहिए।

परम्परागत कृषि विकास योजना आवश्यक दस्तावेज | Prampargat Krashi Vikas Yojana Dacuments

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपके पास कुछ दस्तावेजों का होना आवश्यक है। जो कि निम्न है –

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाते की पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फ़ोटो
  • जमीन सम्बंधित जरूरी कागजात
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र

परम्परागत कृषि विकास योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? | Prampargat Krashi Vikas Yojana Online Apply

Parmpargat Krashi Vikas Yojana 2022 के तहत ऑनलाइन आवेदन करने हेतु। आप नीचे बतायी गयी स्टेप्स को फॉलो कर सकते है। जो कि निम्न है –

  • सर्वप्रथम आपको योजना से संबंधित ऑफिसियल वेबसाइट https://pgsindia-ncof.gov.in/PKVY/Index.aspx पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने वेबसाइट का Home Page खुल जायेगा।
  • होमपेज पर आपको Login का ऑप्शन मिलेगा यहां क्लिक करके आपको लॉगिन कर लेना है। और अगर आपके पास लॉगिन आईडी नही है तो रजिस्टर बटन पर क्लिक करके लॉगिन आईडी पासवर्ड जनेरेट कर लेना है। 

parmparagat yojana

  • फिर इस लॉगिन आईडी की मदद से आप इस वेबसाइट पर लॉगिन करेंगे तब आपको लॉगिन करते ही Apply Now का ऑप्शन दिखाई देगा। जिसके ऊपर आपको क्लिक कर देना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जायेगा। जहां आपको पूछी गयी सभी जानकारियों को सही प्रकार भरना है और फिर जरूरी दस्तावेजों को स्कैन करके अपलोड कर देना है।
  • जिसके बाद आखिर में Submit के ऊपर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार आप परम्परागत कृषि विकास योजना के तहत सफ़लतापूर्वक आवेदन कर सकेंगे।

Parmpragat Krishi Vikas Yojana Related FAQ

परम्परागत कृषि विकास योजना क्या है?

परम्परागत कृषि विकास योजना केंद्र सरकार द्वारा किसानों को जैविक तरीक़े से कृषि करने के लिए प्रोहत्साहित करने के लिए चालयी जा रही योजना है।

क्या इस योजना के माध्यम से देश के सभी किसान लाभान्वित हो सकेंगे?

जी हां! परम्परागत कृषि विकास योजना से देश सभी किसान लाभान्वित हो सकेंगे।

परम्परागत कृषि विकास योजना का क्या उद्देश्य है? 

इस योजना के अंतर्गत किसानों को जैविक खेती के बारे में प्रशिक्षित कर उन्हें जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहन किया जाएगा। 

परम्परागत कृषि योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

अगर आप इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं। तो बहुत आसानी से ऑनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकते है। जिसके बारे में ऊपर विस्तार से जानकारी साझा की गयी है।

क्या जन सेवा केंद्र पर परम्परागत कृषि विकास योजना में आवेदन कर सकते है? 

जी हाँ अगर आप खुद परंपरागत कृषि विकास योजना में ऑनलाइन आवेदन नहीं कर पा रहे हैं तो आप अपने नजदीकी जन सेवा केंद्र पर जाकर जरूरी दस्तावेज के साथ ऑनलाइन आवेदन करा सकते हैं। 

निष्कर्ष –

आज हमारे द्वारा इस आर्टिकल में Parmpargat Krashi Vikas Yojana 2022 In Hindi के बारे में विस्तार से जानकारी साझा की गयी। उम्मीद करते है कि इसके बारे में पढ़कर आपको काफी अच्छा लगा होगा। इसके अलावा अगर आप योजना से जुड़ी कोई विशेष जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। तो कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते है।

Spread the love

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।