मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना | लाभ, पात्रता, दस्तावेज

गुजरात भारत के मुख्य राज्यों में से एक है तथा यहां के किसानों द्वारा मुख्य रूप से मूंगफली, तम्बाकू, कपास आदि के फसल की जाती है लेकिन आज भी प्रदेश में बहुत से किसानों की 60% या उससे अधिक फसल प्राकृतिक आपदाओं के आने से खराब हो जाती है जिस कारण हर दिन बहुत से किसान निराश होकर कृषि छोड़ते जा रहे है।

और यही क्रम लगातार चलता रहा है तो हमें आने वाले समय में कृषि से उगने वाले कच्चे मालों की तंगी का सामना कर पड़ सकता है। ऐसा ना हो इसलिए गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी जी द्वारा मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना की शुरुआत की गई है। जिसके तहत प्रदेश के प्राकृतिक आपदाओं से पीड़ित किसानों को मुआवजा राशि प्रदान की जायेगी। जिससे वे बिना किसी संकोच के मन लगाकर खेती करें तथा प्रदेश की कृषि स्थिति की मजबूत करें।

लेकिन अभी इस योजना के बारे में प्रदेश के किसानों के पास सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध नहीं है जिस कारण वे इस योजना से प्राप्त होने वाले लाभ को प्राप्त करने में असमर्थ है, तो अगर आप भी इन किसानों में शामिल है तो इस आर्टिकल को नीचे तक पढ़े। हम आशा करते है कि ये आपको इस योजना का से लाभ प्राप्त करवाने में काफी सहायक होगा।

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना क्या है? | What is the Chief Minister Kisan Sahay Yojana

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना

 

गुजरात के मुख्यमंत्री द्वारा आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए 10 अगस्त 2021 को मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना का ऐलान किया। जिसके अंतर्गत किसानों को प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल खराब होने पर सहायता राशि प्रदान की जाएगी। जिससे उन्हें अपने परिवार का पालन पोषण करने के लिये ज्यादा समस्यों का सामना नहीं करना पड़े।

गुजरात किसान योजना के अंतर्गत अगर किसान किसान की फसल 33% से 60% तक खराब होती है तो उसे 20,000 रुपये प्रति हेक्टर के हिसाब से मुआवजा राशि प्रदान की जाएगी। और अगर 60% से अधिक फसल नष्ट होती है तो उसे 25,000 रुपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

इसके साथ ही आपकी उचित जानकारी के लिए बता दें! कि सहाय किसान योजना के तहत एक किसान को केवल 4 हेक्टर जमीन पर ही मुआवजा राशि प्रदान की जाएगी।

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना उद्देश्य | Chief Minister Kisan Sahay Yojana Objective

गुजरात मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना का मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं के कारण कृषि छोड़ रहे किसानों को कृषि करने के प्रति उत्साहित करना। जिससे प्रदेश में किसी भी प्रकार के खाद्य पदार्थों की आपूर्ति नहीं हो।

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के अंतर्गत किन परिस्थितियों में सहायता राशि प्रदान की जाएगी?

कोई भी किसान अगर इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहता है तो उसकी विशेष जानकारी के लिए अवगत कराने की किन किन परिस्थितियों में विभाग द्वारा सहायता राशि इस योजना के अंतर्गत प्रदान की जाएगी। जो निम्न है –

  • सूखा पड़ने पर :- यदि प्रदेश में सूखा हुआ है तथा 10 इंच से कम बारिश हुई है तो ऐसी स्थिति में किसान क्लेम प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकता है।
  • भारी वर्षा होने पर :- अगर जिले में 35 इंच या फिर 48 घण्टे तक लगतार बारिश पड़ती है तो किसान गुजरात किसान सहाय योजना के अंतर्गत मुआवजा प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकता है।
  • बेमौसम बारिश – बहुत सी बार वारिश का मौसम नहीं होने पर भी वर्षा हो जाती है तो किसान का बहुत फसल बर्बाद हो जाती है ऐसी स्थिति में भी किसान लाभान्वित होने के लिए आवेदन कर सकता है। विभाग द्वारा वेमौसम बारिश का समय 15 अक्टूबर से 15 नवंबर तय किया गया है। यदि इस समय सीमा में आवेदक का नुकसान होगा है तो किसान मुआवजा प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकता है।

गुजरात किसान सहाय योजना से दी जाने वाली सहायता | Assistance to be provided from Gujarat Kisan Sahay Yojana.

  • राज्य के जिन किसानों की प्राकृतिक आपदाओं जैसे – भारी बारिश, सूखा आदि के कारण फसल बर्बाद होती है तो विभाग द्वारा मुआवजा राशि प्रदान की जायेगी।
  • अगर आवेदक किसान की फसल 33% से 60% तक प्राकृतिक आपदा के कारण खराब होती हैं तो सरकार द्वारा उसे 20,000 रुपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से मुआवजा राशि प्रदान की जायेगी।
  • गुजरात सहाय योजना के अंतर्गत प्रदेश के लगभग 56 लाख किसानों को लाभ प्रदान करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • अगर प्रदेश किसान की 60% से अधिक फसल प्राकृतिक आपदा के कारण बर्बाद हो जाती है यो सरकार द्वारा मुआवजा राशि 25,000 रुपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से प्रदान की जायेगी।
  • इस सहायता राशि योजना के तहत अधिकतम एक किसान को 4 हेक्टेयर जमीन पर मुआवजा प्रदान किया जाएगा।

गुजरात किसान सहाय योजना जरूरी पात्रता | Gujarat Kisan Sahay Yojana Essential Eligibility

कोई भी किसान यदि इस योजना से प्राप्त होने वाली योजनाओं का लाभ इच्छुक है तथा आवेदन करना चाहता है तो उसके पास कुछ पात्रताओं का होना जरूरी है जो कि निम्न है –

  • प्राकृतिक आपदाओं के कारण फ़सलों के नुकसान के मामले में किसान राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष के तहत अतिरिक्त मुआवजा पाने के लिए भी पात्र होंगे।
  • आवेदक किसान गुजरात प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य भर के राजस्व रिकॉर्ड में पंजीकृत सभी 8-ए धारक किसान खाताधारक और वन अधिकार अधिनियम के तहत मान्यता प्राप्त किसानों को भी लाभन्वित किया जायेगा।

मुख्यमंत्री सहाय योजना आवश्यक दस्तावेज | Chief Minister Sahay Yojana Documents Required

किसी भी सरकारी कल्याणकारी योजना का लाभ लेने के लिए हमें कुछ दस्तावेजों के प्रूफ के तौर पर आवश्यकता होती है उसी प्रकार इस योजना के लिए भी हमें कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता होगी जो कि है –

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • निवास प्रमाण पत्र

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के अंतर्गत आवेदन कैसे करें? | How to apply under Chief Minister Kisan Sahai Yojana

गुजरात प्रदेश का कोई भी इच्छुक किसान इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहता है तो उसे इसके लिए कुछ समय का इंतज़ार करना होगा क्योंकि विभाग द्वारा गुजरात मुख्यमंत्री सहाय योजना की आवेदन प्रक्रिया को अभी शुरू नहीं किया गया है। लेकिन आपको बिल्कुल भी परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि जब भी विभाग द्वारा इस योजना की आवेदन प्रक्रिया को लेकर कोई भी ऑफिसियल नोटिस जारी किया जायेगा। तो हम आपको आर्टिकल के माध्यम से अवगत करा देंगे। इसलिए समय – समय पर हमारी वेबसाइट पर विजिट करते रहें।

निष्कर्ष –

अगर आप गुजरात प्रदेश में निवास करते है तो कहीं ना कहीं कृषि से जरूर संबंध रखते होंगे। अगर हां! तो आज हमारे द्वारा आर्टिकल में बताई गई मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना से जुड़ी जानकारी आपको काफी पसंद आयी होगी। साथ ही आने वाले समय में ये आपके लिए बहुत उपयोगी भी साबित हो सकती है।

अगर आपको दी गयी जानकारी उपयोगी साबित हुई हो तो इसे अपने दोस्त, रिस्तेदारों के साथ जरूर साझा करें।

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।