मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना | पंजीकरण फॉर्म | Mukhyamantri Vatsalya Yojana

पूरी दुनिया में इस समय कोरोना वायरस का संक्रमण बड़े तेजी से फैल रहा है। जिस वजह से लोगों को कई सारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। भारत में भी कोरोना वायरस का संक्रमण निरंतर बढ़ रहा है। इस वजह से देश में कई लोगों की जान जा चुकी है। जिस वजह से बहुत से बच्चे अनाथ हो चुके हैं। इसी समस्या को देखते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने अपने राज्य के निवासियों को राहत पहुंचाने के लिए एक अति महत्वकांक्षी तथा महत्वपूर्ण योजना का शुभारंभ किया है। जिसका नाम मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना है।

आज हम इस लेख में आपको Mukhyamantri Vatsalya Yojana के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे तथा यह भी बताएंगे कि इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन कैसे करें तथा किन-किन लोगों को इस योजना का लाभ प्राप्त होगा।

जैसा कि हम सब जानते हैं उत्तराखंड को भारत की देव भूमि कहा जाता है। यहां पर कोरोना वायरस बड़े तेजी से फैला है। कई बच्चों ने अपने मां बाप को खो दिया है। अब उनके पास अपना जीवन यापन करने के लिए कोई भी सहारा नहीं बचा है। इस समस्या से निजात पाने के लिए उत्तराखंड सरकार ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022 क्या है? | What Is Mukhyamantri Vatsalya Yojana

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना पंजीकरण फॉर्म Mukhyamantri Vatsalya Yojana

इस योजना का शुभारंभ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने 2022 में किया है। यह अत्यंत लाभकारी योजना है। इसके अंतर्गत प्रदेश के उन सभी बच्चों को लाभ पहुंचाया जाएगा। जिनके माता-पिता कोरोना वायरस के संक्रमण से मृत्यु को प्राप्त हो गए हैं। इस योजना के अंतर्गत ऐसे सभी बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएंगी उन बच्चों को ₹3000 प्रति माह की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएंगी।

जिससे वह भरण पोषण कर सकें। यह एक तरह से भरण-पोषण भत्ता है। इस भत्ते से बच्चे अपने जीवन में आवश्यक सामग्री तथा आवश्यकताओं की पूर्ति कर पाएंगे परंतु यह बता केवल 21 वर्ष की आयु तक ही दिया जाएगा, ताकि बच्चे आत्मनिर्भर बन सके और आधारभूत शिक्षा प्राप्त करके अपने पैरों पर खड़े हो सके। यह आर्थिक सहायता उनके बैंक खाते में सीधे पहुंचा दी जाएंगी।

योजना का नाम मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना
राज्य उत्तराखंड
लाभार्थीराज्य के मृतक परिवार के बच्चो को
लाभ 3000 आर्थिक सहायता राशि
आवेदन फॉर्म उपलब्ध नही

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022 का उद्देश्य

कोरोना वायरस के संक्रमण ने कई लोगों की जान ले ली है। इस वजह से लोगों ने अपने करीबियों तथा माता पिता को खो दिया है। यह एक बड़ी समस्या बन चुकी है। इसी को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने इस योजना को लाया है।

इस योजना का उद्देश्य यह है कि जिन भी लोगों ने इस कोरोना वायरस के संक्रमण से अपने माता पिता को खोया है उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जाएंगी। जिससे वह अपना जीवन बेहतर तरीके से यापन कर सके। इसका यह भी उद्देश्य है कि बचपन में बच्चों के पास मां बाप के अलावा कोई भी नहीं होता है। जिससे वह अपनी इच्छाओं की पूर्ति कर सके। ऐसे में उन्हें काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, इसलिए उन्हें उत्तराखंड सरकार द्वारा ₹3000 प्रति माह दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के माध्यम से सरकारी नौकरी

सरकार ने इस बात का भी ध्यान रखा है कि यदि आधारभूत या प्राथमिक शिक्षा अच्छे से नहीं होती है तो उन अनाथ बच्चों को सरकारी नौकरी नहीं लग पाती है और उन्हें काफी समस्याएं होती है। इसको देखते हुए सरकार ने उनके लिए सरकारी नौकरियों में 5% का कोटा निर्धारित किया है। ऐसे बच्चे जिनके माता पिता कोरोना वायरस के संक्रमण में मृत्यु को प्राप्त हो चुके हैं। उन्हें सरकार द्वारा सरकारी नौकरी में भी लाभ प्राप्त होगा।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022 की विशेषताएं तथा लाभ

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना से होने वाले लाभ नीचे दिए गए है। जिन्हें जानकर आपको अच्छा लगेगा।

  • इस योजना का सबसे अच्छा लाभ यह है कि इसमें बच्चों को अच्छी सुख सुविधाएं प्रदान करने के लिए उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • इसके अंतर्गत उन सभी बच्चों को आर्थिक सहायता दी जाएंगी, जिनके माता पिता कोरोना वायरस की संक्रमण से मृत्यु को प्राप्त हो गए हैं।
  • अनाथ बच्चे जिनके पास किसी प्रकार की सुविधाएं नहीं होती है, उन्हें इस योजना से लाभ प्राप्त होगा।
  • सरकार द्वारा उन्हें ₹3000 प्रति माह की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएंगी।
  • इस योजना के अंतर्गत उन बच्चों को सरकारी नौकरी में 5% का कोटा भी दिया गया है।
  • बच्चों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए यह योजना केवल 21 वर्ष की आयु तक ही लागू रहेंगी।
  • यदि कोई बच्चा 21 वर्ष की आयु पूर्ण कर लेता है तो उसे इस योजना का लाभ प्राप्त नहीं होगा।
  • इस योजना का लाभ बच्चों के बैंक खाते में सीधे प्राप्त होगा।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022 हेतु पात्रता | Eligibility for Mukhyamantri Vatsalya Yojana

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना का लाभ लेने के लिए नीचे दी गयी पात्रता होना अनिवार्य है –

  • आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • आवेदक उत्तराखंड का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक यदि 5 वर्ष पूर्व उत्तराखंड में रह रहा है तो उसके पास मूल निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  • आवेदक के पास बैंक खाता नंबर होना चाहिए।
  • आवेदक के अभिभावक कोरोना वायरस के संक्रमण के वजह से मृत्यु होना चाहिए।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना हेतु आवश्यक दस्तावेज | Dacuments For Mukhyamantri Vatsalya Yojana

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना में आवेदन फॉर्म में लगाने के लिए कुछ जरूरी दस्तावेज भी होने चाहिए। जिसकी पूरी लिस्ट नीचे दी गयी है –

  • पासपोर्ट साइज का फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • आय प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रणाम पत्र
  • राशन कार्ड
  • बैंक खाता नंबर
  • आधार कार्ड नंबर
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • मृत्यु प्रमाण पत्र

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022 के लिए आवेदन कैसे करें? | How To Apply Mukhyamantri Vatsalya Yojana

यदि जो भी लाभार्थी इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहता है तो वर्तमान समय में अभी उन्हें कुछ समय इंतजार करना होगा क्योंकि आवेदन की प्रक्रिया अभी चालू नहीं की गई है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि यह योजना कुछ ही समय पहले शुरू हुई है। जिस वजह से सरकार ने ऑनलाइन तथा ऑफलाइन की प्रक्रिया चालू नहीं की है। जल्द ही इसके लिए उत्तराखंड सरकार आवेदन की प्रक्रिया चालू करेगी।

Mukhyamantri Vatsalya Yojana FAQ

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना का लाभ किसे मिलेगा?

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना का लाभ राज्य के उन बच्चों को दिया जाएगा जो कोरोनावायरस संक्रमण के कारण अपने माता पिता को खो चुके हैं।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना में कितनी सहायता राशि मिलेगी?

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के तहत अनाथ बच्चो को ₹3000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना की वेबसाइट क्या है?

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के लिए अभी कोई वेबसाइट उपलब्ध नहीं है।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना कब लागू होगी?

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना को प्रदेश में 17 जुलाई 2022 को प्रदेश के नए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लागू करने के निर्देश दिए है।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना का लाभ कैसे मिलेगा?

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के अंतर्गत महिला बाल विकास विभाग के संबंधित कर्मचारियों के द्वारा प्रदेश के कोरोना वायरस के कारण अनाथ हुए बच्चों की पहचान कर उन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा।

अंतिम शब्द

आशा करती हूं की मेरे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे। इस लेख का उद्देश्य मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान करना है। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस योजना का लाभ प्राप्त कर सके।

Main Points

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।