Moral stories in Hindi for class 7-शिक्षक और 9 की टेबल।

Moral stories in hindi for class 7

moral stories in hindi for claas 7 का शीर्षक-शिक्षक और 9 की टेबल।

समाज की सोच – इंसान चाहे 100 सही काम करे लेकिन वो हमेशा किसी  एक गलती से भी छोटा होता है।

startup-photos-1818508



एक बार की बात है  एक स्कूल के शिक्षक ने बोर्ड पर 9 का टेबल लिखना शुरू किया।

  • 9 × 1 = 9
  • 9 × 2 = 18
  • 9 × 3 = 27
  • 9 × 4 = 36
  • 9 × 5 = 45
  • 9 × 6 = 54
  • 9 × 7 = 63
  • 9 × 8 = 72
  • 9 × 9 = 83
उस शिक्षक ने जान बूझकर उस 9 के टेबल मे गड़बड़ी की,

लिखने के बाद बच्चों को देखा तो बच्चे शिक्षक पर जोड़ जोड़ से हँस रहे थे क्यूंकि आखिरी लाइन जो 9 × 9 वाली थी वहाँ उस शिक्षक ने जान बूझकर गलती कर दी थी।

ये कहानी आपको बदल कर रख देगी।

उसके बाद उस शिक्षक ने बच्चों से कहा मैंने जो ये आखिरी वाली लाइन लिखी है वो किसी उद्देश्य से जान बूझकर गलत लिखी है मै आज तुमलोगों को अत्यंत जरूरी बात बताना चाहता हूँ।

सारे बच्चे चुपचाप बैठ गए उन्होने सोचा कि ये हमारे शिक्षक क्या महत्वपूर्ण सिखाना चाहते हैं।

शिक्षक ने बोला बच्चों ये दुनिया जो है वो तुम्हारे साथ भी ऐसा ही व्यवहार करेगी।

परेशानीयों का डट कर मुकाबला करो।

तुम यह देख सकते हो कि मैंने उपर 9 की टेबल को 8 तक बिल्कुल ठीक लिखा था जैसे ही मैंने 9 × 9 गलत लिखा, मेरे ऊपर सब हसने लगे।

मैंने 8 बार सही भी तो लिखा है लेकिन इस बात के लिए किसी ने मेरी तारीफ नहीं की लेकिन जैसे ही मैंने 1 बार गलत लिखा तुमलोग जोड़ जोड़ से हसने लग गए और मुझे नीचा भी दिखाया।

इसे भी पढ़े।



Moral stories in hindi for class 7 से निष्कर्ष– 

  • दुनिया कभी भी आपके लाख अच्छे कार्यों का तारीफ नहीं करेगी, परंतु आपके द्वारा किया गया एक गलत काम करने के बाद आपको नीचा जरूर दिखाएगी।
240_f_102922790_zopxindfuncgvx3l7lskwn0jmf5wylwy-5277092


चिड़िया जब जीवित रहती है तब वो कीड़े मकोड़ों को खाती है और चिड़िया जब मर जाती है तब कीड़े मकोड़े उसे खा जाते हैं।

इस बात का अवश्य ध्यान रखो की समय और स्थिति कभी भी बदल सकती है इसीलिए कभी किसी का अपमान मत करो, कभी किसी को कम मत समझो।तुम शक्तिशाली हो सकते हो लेकिन समय तुमसे भी शक्तिशाली है।

pexels-photo-1671324-5159175


एक पेड़ से लाखों माचिस की तीलियाँ बनायी जा सकती है लेकिन एक माचिस की तिल्ली से लाखों पेड़ भी जल सकते हैं।

  • कोई चाहे कितना भी महान क्यूँ ना हो जाए पर कूदरत किसी को कभी भी महान बनने का मौका नहीं देती।

भगवान पर भरोसा रखो।

कंठ दिया कोयल को तो रूप छीन लिया,
रूप दिया मोर को तो इच्छा छीन ली,
दी इच्छा इंसान को तो संतोष छीन लिया,
दिया संतोष संत को तो संसार छीन लिया।

  • मत करना कभी भी गुरूर अपने आप पर ए इंसान, भगवान ने तेरे और मेरे जैसे कितनो को मिट्टी से बनाके मिट्टी मे ही मिला दिया। लोगों की अच्छाइयों को देखो।


ये moral stories in hindi for class 7 आपको कैसी लगी हमें बताए ताकि हम आगे भी ऐसी कहानी लिखते रहे, और इसे शेयर करना ना भूले।

धन्यवाद।



2 thoughts on “Moral stories in Hindi for class 7-शिक्षक और 9 की टेबल।”

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।