Inspirational stories in Hindi for success -इस दुनिया में सब कुछ

Inspirational stories in Hindi  for success  

  • सब कुछ जानकर भी अनजान बने रहते है हम। 

Inspirational stories in Hindi का शीर्षक :- दुनिया में सब कुछ जानकर भी अनजान बने रहते हैं हम।

1542741412-picsay-3873155

हर किसी के जिन्दगी में कभी ना कभी किसी ना किसी तरह की प्रॉब्लम आती है,हो सकता है कि इन दिनों आपकी लाइफ में कुछ परेशानियां चल रही हो।


एक बार की बात है एक सेठ जी और सेठानी जी के पास में बोलने वाला तोता था, और जब तोते का मूड होता था तो वो इंसान की आवाज में बात करता था।🐦

हार गए तो क्या होगा 


सेठ जी और सेठानी जी जो थे बहुत ही भक्त टाइप के इंसान थे, हमेशा इन्हे भक्ति में मन लगा रहता था,हर शाम को ये एक सत्संग में जाते थे।


pexels-photo-9061112b252812529-9905296


एक बाबाजी के यहा जाते और सत्संग सुनके वापस आ जाते।

ये कहानी आपके जीवन को बदल देगी 

एक दिन जैसे ही वो लोग सत्संग के लिए जा रहे थे तभी तोते ने सेठ जी को आवाज लगायी कि मालिक मेरा एक सवाल है, आज आप सत्संग में जा रहे हैं महाराज जी से पूछना जरूर।
मेरा सवाल है कि मै आजाद कब हूँगा?


parrot-on-branch-260nw-7146514002b252812529-1160181

सेठ जी ने कहा ठीक है तुम्हारा सवाल भी पूछ लेंगे।

शाम मे वो लोग पहुचें वहां बाबाजी का सत्संग चल रहा था, सत्संग ख़त्म हुआ, सत्संग ख़त्म होने के बाद सवाल जवाब होना शुरू हुआ।


सेठ जी ने कहा आज मेरा सवाल नहीं है, मेरे तोते का सवाल है
तोता पूछना चाहता है कि वह आजाद कब होगा.?


जैसे ही ये सवाल सेठ जी ने पूछा महाराज जी बेहोश हो गए।अब बाबाजी के लिए पानी लाया गया उन्हे जैसे तैसे होश आया।

सक्सेस होने के लिए जरूर पढ़े 

उसके बाद सेठ जी वापस अपने घर पहुचें।
घर पहुचते ही तोते ने पूछा मालिक क्या हुआ?मेरे सवाल का जवाब मिला।

सेठ जी ने कहा तुम हो ही मनहूस, मैंने जैसे ही तेरा सवाल पूछा महाराज जी बेहोश हो गए, जैसे तैसे उन्हे होश आया, तेरा सवाल अब मै दोबारा कभी पूछूँगा ही नहीं।

ये कहकर सेठ जी वहा से चले गए।


अगली शाम फिर से सेठ जी सेठानी जी सत्संग में गए और जब वापस आकर देखा तो तोता मरा पड़ा है।

उन्होने सोचा कि अरे ये तो बहुत गलत हो गया,पिंजरे को बाहर ले गए घर के तोते को बाहर निकालने के लिए,जैसे ही पिंजरा खुला तोता उड़ गया।सेठ जी को कुछ समझ में नहीं आया।

सेठ जी अगली शाम फिर से सत्संग में पहुचें,महाराज जी ने सेठ जी से पूछा कि उस तोते का जो सवाल था, हुआ क्या उस तोते का?

तो सेठ जी ने कहा कि तोता तो बड़ा कलाकार निकला,मैंने सोचा कि वो मर गया और मैंने जैसे ही उसे पिंजरे से बाहर निकालने की कोशिश की वह उड़ गया।


saint-2356564__3402b252812529-4176352


महाराज जी ने कहा कि देखो तोता भी मेरे बात को समझ गया लेकिन तुम मेरे पूरे बात को नहीं समझ पाए।

हर शाम तुमलोग यहां आते हो इतनी सारी ग्यान की बातें करते हो लेकिन उसे जिन्दगी मे उतारते नहीं हो।

Inspirational stories in Hindi से निष्कर्ष :-

बचपन से लेकर अबतक बहुत सारी बातें हमें माँ बाप ने सिखाई है शिक्षक ने सिखायी है हमारे बड़े बुजुर्गो ने सिखायी है लेकिन उसे हम अपनी जिन्दगी मे नही उतारते लेकिन मालूम हमें सब होता है,
हमें मालूम है कि यदि मंजिल तक हमें पहुचना है तो पूरी लगन से काम करना होगा, तभी हम जो चाहते है वो हमें मिलेगा।



pic courtesy by:-pixabay.compexels.com


यह inspirational story in Hindi आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके बताए और ज्यादा से ज्यादा शेयर करे। 

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।