BMS Full Form In Hindi | बीएमएस क्या है?

BMS Full Form In Hindi :- आज का आर्टिकल उन  छात्रों के लिए बहुत Useful साबित होने वाला है, जो अपना कैरियर मार्केटिंग, बिज़नेस में बनाना चाहते है। क्योकि आज हम आपको इस आर्टिकल में Marketing, Business से जुड़े Course BMS के बारे में बताने जा रहे है। आज हम आपको BMS क्या है? |BMS Full Form In Hindi और BMS कोर्स करें? इसके लिए योग्यता, जॉब आदि से जुड़ी Useful जानकडी Share करने जा रहे है।

सभी जानते है कि हर Student का सपना होता है कि वह अपनी पढ़ाई पूरी करके अच्छा कैरियर बनाये है। बस हर स्टूडेंट के सपने अलग – अलग होते है। कोई डॉक्टर बनना चाहता है तो कोई इंजीनियर बनना चाहते है। वही कुछ Student है जो आज बिज़नेस, मार्केटिंग में अपना कैरियर बनाना चाहते है। अगर आप भी इस फील्ड में अपना कैरियर बनाना चाहते है तो आपके लिए बीएमएस कोर्स एक अच्छा विकल्प हो सकता है। जिसके बारे में आप डेटॉल में नीचे जान सकते है।

बीएमएस क्या है? | What Is BMS

बीएमएस एक Undergraduate Management Course है। यह कोर्स 3 साल का होता है। 3 सालों के इस कोर्स को 6 सेमेस्टर में बांटा गया है। मतलब की हर साल स्टूडेंट को 2 सेमेस्टर की पढ़ाई करनी होती है। BMS के इस 3 साल के कोर्स में Student को Managment से जुड़े Subject जैसे Finace, Marketing आदि के बारे में Study कराई जाती है।

इस कोर्स को करने के बाद स्टूडेंट के सामने नौकरीं के कई विकल्प खुल जाते है। सरकारी, प्राइवेट दोनों सेक्टरों में आज इसकी।डिमांड काफी बढ़ गयी है। so अगर आप भी 12th के बाद इसमे अपना कैरियर बनाना चाहते है। तो इस कोर्स को कर सकते है। BMS से जुड़ी अन्य जानकारी को पाने के लिए आप आर्टिकल को अंत तक पढ़ सकते है।

बीएमएस का फुल फॉर्म | BMS Full Form 

भारत डिजिटल युग की तरफ़ आगे बढ़ रहा है, इसलिए आज बिज़नेस, मार्केटिंग को ज्यादा महत्व दिया जा रहा है। यही कारण है कि आज Markiting में student अपना कैरियर बनाने के लिए BMS Course को करना पसंद करते है।

लेकिन कई बार student को इसके बारे में Basic Knowledge न की बजह से वह इसे करने में असमर्थ हो जाते है। लेकिन अब ऐसा न हो इसलिए हमने नींचे बमस3 Course से जुड़ी Basic जानकारी जैसेBMS Full Form In Hindi और इसके लिए Eligibility, Job आदि के बारे में बताया है।

BMS Full Form in English

BMS (Bachelor Of Management Studies)

BMS Full Form In Hindi

BMS (प्रबंधन अध्यन स्नातक) BMS Syllabus

BMS Syllabus

BMS (Bachelor Of Management Studies) Course में आपको कौन – कौन से Subject का अध्यन कराया जाएगा वह कुछ इस प्रकार है –

  • Management and Organisational Behaviour
  • Business Research
  • Statistics Business
  • Decisions  Human Resource
  • Management Managerial Economics
  • Financial Management
  • Business Accounting
  • Quantitative Techniques for
  • Management
  • Macroeconomics
  • Legal
  • Aspects of Business
  • Principles of Marketing Business
  • Policy and Strategy
  • Management Accounting

बीएमएस कोर्स के लिए योग्यता – Eligibility

  • इस कोर्स को करने के लिए सबसे पहले आपको 12th 50% मार्क्स के साथ करना होगा।

  • 12th के बाद आपको BMS Course के लिए एक Entrance Exam Clear करना होगा। Entrance Exam Clear करने के बाद आपको काउंसलिंग करानी है।
  • फिर आपकी रैंक के आधार पर आपको कॉलेज में एडमिशन मिल जाएगा।

BMS Fees

बीएमएस कोर्स में स्टूडेंट किस कॉलेज से करता है फीस उस कॉलेज पर निर्भर करती है। बैसे बेसिकली इस 3 साल के कोर्स में 2 से 5 लाख तक फ़ीस देंनी होती है।

BMS Course Job Profile

बीएमएस कोर्स स्टूडेंट के लिए करियर बनाने के लिए काफ़ी अच्छा कोर्स है। इसे करने के बाद विभिन्न क्षेत्र में नौकरीं के अवसर मिलते है। बाकी इस कोर्स को करने के बाद स्टूडेंट को किस क्षेत्र में नौकरीं मिल सकती है। उसकी लिस्ट नीचे दी गयी है।

  • Marketing coordinator
  • Business Management Manager
  • Teacher
  • Trainer
  • Employee

BMS Salary

इस कोर्स को करने के बाद आपको जॉब करने पर लगभग 2 लाख से 3 लाख तक पैकेज आराम से मिल जाता है।

बीएमएस को हिंदी में क्या कहते है?

बीएमएस को हिंदी में BMS (प्रबंधन अध्यन स्नातक) कहते है।

बीएमएस का पूरा नाम क्या है?

BMS का पूरा नाम  (Bachelor Of Managment Studies) होता है।

बीएमएस किस कॉलेज से करें?

इस कोर्स के लिए भारत भर में कई कॉलेज यूनिवर्सिटी है जहां से आप इस कोर्स कर सकते है।

निष्कर्ष

आज हमने आपको मार्केटिंग से जुड़े महत्वपूर्ण कोर्स बीएमएस के बारे में बताया है। हमने आज BMS क्या है? |BMS Full Form In Hindi आदि से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी को शेयर किया। उम्मीद करता हूं कि आपको देखकर जानकारी उपयोगी साबित हुई होगी।

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।