आज के नए दौर की बात करें। तो हर नौकरी अपने अपने क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।

इसी तरह कंपनी सेक्रेट्री भी एक अहम भूमिका निभाती है।

कंपनी सेक्रेटरी का काम अपने बॉस के काम को deal करना होता है।

कंपनी सेक्रेटरी का संबंध कंपनी के बड़े-बड़े पदों जैसे :- सीईओ और मैनेजर डायरेक्टर आदि से होता है।

कंपनी सेक्रेटरी का मुख्य कार्य कंपनी के बोर्ड ऑफ मेंबर, शेयर होल्डर और कंपनी के मालिक को एक साथ जुड़े रहने का कार्य करता है।

कंपनी सेक्रेटरी इस बात का ध्यान रखता है। कि कंपनी में हो रहे सारे फैसले कानूनी तौर पर सही है या नहीं और साथ ही कंपनी के सही गलत decision का निरीक्षण करने का कार्य भी कंपनी सेक्रेटरी के द्वारा किया जाता है।

कंपनी सेक्रेटरी के लिए सर्वप्रथम योग्यता 12th पास मांगी गई है। यानी आपको अपनी प्रारंभिक शिक्षा 10th और 12th करना होगा। आप 12th किसी भी stream से और किसी भी कॉलेज से कर सकते हैं।

इसके अंतर्गत आने वाले तीन चरणों जैसे:- फाउंडेशन, executive और प्रोफेशनल प्रोग्राम में होने वाली परीक्षा में कम से कम 50% नंबर प्राप्त करने होंगे।

कंपनी सेक्रेटरी कौन होता है? कंपनी सेक्रेटरी कैसे बनें? इससे जुडी ज्यादा जानकारी के लिए नीचे क्लिक करे।