इस वर्ष हरियाणा प्रदेश के कुछ ऐसे क्षेत्र है, जहां वर्षा कम हुयी है। जिससे वहां धान की फसल उगाने से किसान को काफी नुकसान हो सकता है। 

साथ ही पास – पास के क्षेत्र में पानी की किल्लत हो सकती है। क्योंकि धान की फसल उगाने के लिए अधिक सिचाईं और जल की आवश्यकता होती है।

इस समस्या से कुछ हद तक निपटने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा मेरा पानी मेरी विरासत योजना 2022 को शुरू किया गया है।

जिसके माध्यम से प्रदेश के किसानों को धान की फसल ना करने और वैकल्पिक फसलों को करने के लिए प्रोहत्साहित किया जायेगा। 

इसके लिए सरकार द्वारा 7,000 हजार रुपये प्रति एकड़ की वित्तीय प्रोहत्साहन राशि भी प्रदान की जायेगी।

इस योजना के तहत मिलने वाली प्रोहत्साहित राशि केवल वही किसान प्राप्त कर पाएंगे। जो सरकार द्वारा तैयार की गई लिस्ट में डार्क जोन में शामिल किए गये है।

इसलिए यदि आप हरियाणा किसान है और इस योजना के अंतर्गत लाभान्वित होना चाहते है। तो। आपको भी ज्ञात होना आवश्यक है।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना  से जुडी ज्यादा जानकारी के लिए नीचे क्लिक करे।