हमारे बीच कई ऐसे छात्र है। जिनका भविष्य में कुछ ना कुछ बनने का सपना है कुछ ऐसे छात्र और छात्राएं हैं जो डॉक्टर बनना चाहते हैं तो कुछ छात्र भविष्य में इंजीनियर बनना चाहते है।

लेकिन कुछ ऐसे होनहार छात्र छात्राएं भी हैं जो खुले आसमान में उड़ने का सपना रखते हैं। जिसके लिए वह पायलट बनना चाहते हैं।

जिन लोगों का सपना पायलट बनने का है उन्हें सबसे पहले कमर्शियल पायलट लाइसेंस या प्राइवेट पायलट लाइसेंस प्राप्त करना होता है।

किसी भी लक्ष्य की प्राप्ति के लिए सही दिशा में कार्य करना बेहद जरूरी होता है।

अगर आप भारतीय सेना में एक पायलट के तौर पर देश की सेवा करना चाहते है तो इसके लिए आपको AFCAT, CDS जैसी प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी।

अगर आप इन परीक्षा को पास कर लेते है। तो आप आसानी से भारतीय सेना में एक पायलट के तौर पर अपना करियर बना सकेंगे।

पायलट के तौर पर कैरियर बनाने के लिए छात्र को 12वीं कक्षा को Physics, chemistry and math के साथ न्यूनतम 50% अंक के साथ उत्तीर्ण करना होगा।

अगर किसी उम्मीदवार को कलर ब्लाइंडनेस या फिर आंखों का वजन 6/6 से कम है तो वह पायलट बनने के योग्य नहीं माना जाएगा।

पायलट कैसे बने? इससे जुडी ज्यादा जानकरी के लिए नीचे क्लिक करे।