उत्तराखंड राज के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार नाबार्ड पशुपालन ऋण योजना की शुरुआत की है।  जिसके अंतर्गत  राज्य के लोगों के लिए रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए लोन प्रदान किया जाएगा।

सभी जानते है कि भारत भर में कोरोना जैसी खतरनाक संक्रमित बीमारी के चलते प्रवासी मजदूर का काम ठप्प हो गया है जिस कारण वह अपने – अपने राज्य में वापस लौट आए हैं। जिस कारण उनके पास पैसे कमाने का जरिया नही बचा है।

इस योजना के अंतर्गत राज्य में वापस लौटे प्रवासी, मजदूर, श्रमिको को खुद का रोजगार जैसे पशु पालन, मुर्गी पालन करना चाहते है उन्हें इसके लिए सरकार की तरफ से ऋण प्रदान किया जाएगा।

मुख्यमंत्री स्वरोजगार नाबार्ड पशुपालन ऋण योजना उत्तराखंड राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के द्वारा शुरू की गई हैं। जिसका लाभ राज्य के नागरिको को खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए दिया जाएगा।

जिस कारण उनके पास कोई आय का साधन नही बचा हैं। जिसे ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने डेयरी फार्मिंग योजना की शुरुआत की है इस योजना के अंतर्गत इन प्रवासी, मजदूरों को पशुपालन, मुर्गी पालन करने के लिये लोन प्रदान किया जाएगा।

मुख्यमंत्री स्वरोजगार नाबार्ड योजना में आवेदन करने के लिए Swarojgar Nabard Form की जरूरत होगी साथ ही इस आवेदन फॉर्म में लगाने के लिए लाभार्थी के पास कुछ जरूरी दस्तावेज़ होना जरूरी है

मुख्यमंत्री स्वरोजगार नाबार्ड पशुपालन योजना कि शुरुआत राज्य में रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए शुरू की गयी हैं।

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना से जुड़ी अगर आप कोई विशेष जानकारी प्राप्त करना चाहता है तो नीचे सरकार के द्वारा जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर पर सम्पर्क कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री स्वरोजगार नाबार्ड पशुपालन ऋण पीडीएफ फॉर्म अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें?