वायुमंडल में हर दिन प्राण वायु (ऑक्सीजन) की हर दिन कमी होती जा रही है। क्योंकि पेंड – पौधों की कटाई चर्म सीमा पर है और केवल पेंड – पौधें ही ऑक्सीजन का एक मात्र उत्पादन है और यदि ऐसा क्रमवत चलता है।

तो देश मे ऑक्सीजन की कमी हो जायेगी और सभी लोगों को भारी किल्लत का सामना कर पड़ सकता है। लेकिन ऐसा ना हो। इसलिए राज्य सरकारों और केंद्र सरकार द्वारा मिलकर लोगों को पेड़ों को लगाने के प्रति लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए बहुत सी योजनाओं को चलाया जा रहा है।

हम सभी जानते है कि मनुष्य को सांस लेने के लिए ऑक्सीजन गैस की आवश्यकता होती है और पेड़ ही ऐसे प्राकृतिक स्त्रोत है। जो हमें ऑक्सीजन प्रदान करते है और वायुमंडल में मनुष्य जीवन के लिए अनुउपयोगी गैस जैसे – कार्बन डाइऑक्साइड का अवशोषण करते है।

इसके अलावा वृक्षों से हमें फल, फूल, ईंधन की प्राप्ति होती है और वे वर्षा करवाने में भी सहायक होते है। लेकिन पिछले कुछ वर्षों से वृक्षों के तेज कटाव के कारण इनकी संख्या में कमी आयी है।

हर जिले अभियान से जुड़े नोडल अधिकारीयों को चयनित किया गया है। जो कि अभियान को सुचारू रूप से चलाने में सहायता करेंगे और लागये गये वृक्षों की जांच करके लिखित रिपोर्ट मुख्यमंत्री जी को पेश करेंगे।

कोई भी व्यक्ति अगर MP Ankur Program In Hindi के बारे में पढ़ रहा है और इसके तहत भाग लेना चाहता है तो उसके मन में बहुत से सवाल आ रहे होंगे।

मध्य प्रदेश अभियान मुख्यमंत्री शिव राज सिंह चौहान जी द्वारा प्रदेश के लोगों को वृक्षारोपण के प्रति प्रोहत्साहित करने के लिए चलाई जा रही योजना है।

इस अभियान के अंतर्गत आप बहुत आसानी से वायुदूत एप्लीकेशन को डाउनलोड करके पंजीकरण कर सकते हैं। जिसके बारे में ऊपर विस्तार से बताया गया है।

मध्य प्रदेश अंकुर योजना अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें?