Full form of ATM ? आज के समय में एटीएम एक साधन बन गया है जिसकी मदद से आप बिना बैंक में प्रवेश के भी आसानी से पैसे ट्रांसफर, बैलेंस चैक, पैसे निकालने जैसे कार्य कर सकते है।

ATM screen के नीचे आपको एक आयताकार छेद होगा जिसमें से पैसे बाहर आते है इन पेसो के बाहर आते ही इन्हें हाथो से पकड़ लेना होता है वरना यह वापस एटीएम में चले जाते है।

इसी प्रकार आपका पहला transaction पूरा हो जाता है और आपको यदि ओर पैसे निकालना है तो आप इन्ही स्टैप्स का दुबारा फॉलो करे।

Automated teller machine को सन 1960 में john shepherd Barron द्वारा बनाया गया था और उसके पश्चात आधुनिक ATM मशीन की सबसे पहली पीढ़ी का उपयोग 27 जून 1967 में लंदन के बार्केले बैंक ने किया था।

John Barron एटीएम का पिन 6 अंको का रखना चाहते थे लेकिन उनकी पत्नी द्वारा उसे 4 अंको का रखने के लिए कहा गया क्योंकि 6 अंको के पिन को याद रख पाना सबके लिए कठिन था।

आजकल फ़ोन call के माध्यम से आपकी बैंक का नाम बताकर आपसे आपकी एटीएम जानकारी ले ली जाती हैं, जो कि गैरकानूनी है, आपको ऐसी किसी भी प्रकार की जानकारी बैंक द्वारा आपसे नही मांगी जाती।

एटीएम से पैसे निकालते समय आपके साथ कोई भी अनजान व्यक्ति नही होना चाहिए या किसी भी व्यक्ति द्वारा आपका एटीएम पिन या किसी भी प्रकार की जानकारी नही देखी जानी चाहिए।

आजकल एटीएम मशीन आपको सभी banks में मिल जाती है और साथ ही अब अलग अलग स्थानों पर भी एटीएम मशीन आपको मिल जाती है।

Full Form of ATM-ATM क्या है अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें?