बिहार भारत का जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा दूसरा राज्य है जहां लगभग 10 करोड़ से अधिक जनसँख्या निवास करती है जिस कारण यहां के लोगों के लिए रोजगार प्राप्त करना सबब का विषय बना हुआ है।

इसी क्रम को और भी मजबूत बनाते हुए। बिहार सरकार द्वारा मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना (Mukhyamantri Alpsankhyak Rojgar Yojana) की शुरुआत करायी गयी है। जिसके अंतर्गत सरकार द्वारा लोगों के लिए रोजगार करने हेतु लोन उपलब्ध कराया जायेगा।

जिससे बिहार के नागरिक रोजगारवान बन सकेंगे तथा प्रदेश की आर्थिक दशा में सुधार आयेगा। जिससे जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी जैसे- लाभ, पात्रता, दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि के बारे में नीचे विस्तार से जानकारी साझा की गयी है।

बिहार अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना की शुरुआत सन 2012 में बिहार सरकार द्वारा प्रदेश में रोजगार अवसरों को बढ़ाने के लिए की गयी थी। इसके अंतर्गत प्रदेश के अल्पसंख्यक बेरोजगार नागरिकों को रोजगार शुरू करने के लिए 5 लाख रुपये की राशि लोन के रूप में बहुत सस्ते ब्याज दर पर उपलब्ध करायी जाएगी।

जिसके लिए बिहार सरकार द्वारा 100 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष का बजट भी प्रस्तावित कर दिया गया है। जिसके बारे में नीचे विस्तार में जानकारी साझा की गयी है। तो अगर आप इससे प्राप्त होने वाले लाभ को प्राप्त करने के लिए इच्छुक है तो लेख में नीचे तक हमारे साथ बने रहें।

अगर आप बिहार मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए इच्छुक है लेकिन इससे जुड़ा आपके दिमाग में संकोच है या फिर इससे जुड़ी कोई विशेष जानकारी को प्राप्त करना चाहते है तो आपको बिल्कुल भी परेशान होने की आवश्यकता नहीं है

इसके अंतर्गत प्रदेश के अल्पसंख्यक बेरोजगार नागरिकों को रोजगार शुरू करने के लिए 5 लाख रुपये की राशि लोन के रूप में बहुत सस्ते ब्याज दर पर उपलब्ध करायी जाएगी।

जिससे बिहार के नागरिक रोजगारवान बन सकेंगे तथा प्रदेश की आर्थिक दशा में सुधार आयेगा। जिससे जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी जैसे- लाभ, पात्रता, दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें?