भारत एक कृषि प्रधान देश है और यहां निवास करने वाले परिवारों की एक बड़ी संख्या कृषि से जुड़ी है। लेकिन फिर भी यहां के किसानों की आर्थिक स्थिती ठीक नहीं है। जिसमें सुधार लाने के भारत सरकार औऱ राज्य सरकारों द्वारा बहुत से प्रयासों को किया जा रहा है और इसके लिए बहुत सी कल्याणकारी योजनाओं शुरू किया जा है।

राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना भी एक अहम भूमिका निभायेगी। क्योंकि इस योजना के अंतर्गत किसानों को बिजली बिल पर अनुदान प्रदान किया जायेगा। जिससे उनकी काफी वित्तीय राशि की बचत हो सकेगी। जो कि कुछ हद तक उन्हें आर्थिक रूप से मजबूत बनाने में सहायक होगी।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना राजस्थान प्रदेश सरकार द्वारा किसान को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए शुरू की गयी एक किसान हित योजना है। जिसका ऐलान प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी द्वारा 9 मई 2022 को किया था। जिसके अंतर्गत प्रदेश के मीटरर्ड बिजली उपभोक्ता किसानों बिजली बिल पर मासिक अनुदान प्रदान किया जायेगा।

अनुदान राशि अधिकतम मासिक 1 हज़ार रुपये और वर्ष 12,000 रुपये सुनिश्चित की गयी है। इसके अलावा आपको बता दें कि सभी पात्र किसान उपभोक्ताओं विद्युत वितरण निगम द्वारा द्विमासिक बिलिंग व्यवस्था के आधार पर बिल जारी किए जाएंगे और किसान को बिल का अनुपातिक 60% राशि देय करनी होगी।

किसानों को काफी सहायता मिलेगी और वे आर्थिक रूप से स्थिर होंगे। क्योंकि प्रदेश के किसानों की बहुत सी राशि मासिक बिजली बिल भुगतान में चली जाती है। जिसका सीधा असर किसानों की आर्थिक स्थिती पर पड़ता है।

– राज्य सरकार द्वारा इस योजना के सफलतापूर्वक संचालन के लिए 1450 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है।इस योजना की आवेदन प्राक्रिया को मई तक शुरू कर दिया जायेगा।

– ऐसा विभाग द्वारा कहा गया है।मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के तहत मासिक अधिकतम 1,000 रुपये का बिजली बी अनुदान के रूप प्रदान किया जायेगा।

– इस योजना का लाभ केंद्र सरकार या राज्य सरकार का कोई भी कर्मचारी नहीं उठा सकेगा।मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के शुरू होने से किसानों की आर्थिक दशा में सुधार आयेगा और वे बिजली बचत के प्रति प्रोहत्साहित होंगे।

राजस्थान मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना से जुड़ी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें-