Neet full form in Hindi | नीट क्या है कैसे करे

Neet full form-सभी जानते हैं कि एक मानव जीवन के लिए डॉक्टर का होना कितना जरूरी है, इस बात को हम कॉरोनकाल में भली-भांति रूप से जान चुके हैं लेकिन मेहनत करके एक बेहतर डॉक्टर बनना भी आसान नहीं होता है, एक बेहतर डॉक्टर बनने के लिए मन मैं एकाग्रता और मेहनत करने की क्षमता होनी चाहिए|

एक योग्य डॉक्टर बनने के लिए एक स्टूडेंट को कई प्रकार परीक्षाएं देनी होती है जिनमें से नीट एक महत्वपूर्ण परीक्षा मानी जाती है क्योंकि एक बेहतर डॉक्टर बनने का यह पहला पड़ाव होता है|

आइए आज हम इस लेख में आपको बताने का प्रयास करेंगे कि निट क्या है कैसे करे(Neet full form)नीट का सिलेबस क्या हैनीट की तैयारी मैं कोनसी जरुरी बाते होती है, तो चलिए शुरू करते हैं-

नीट परीक्षा क्या है-NEET Full form in Hindi

नीट का फुल फॉर्म – National Eligibility cum Entrance Test 

Neet full form in Hindi – राष्ट्रीय पात्रता व प्रवेश परीक्षा

नीट भारत में उपस्थित मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए क्वालीफाइंग एंट्रेंस(Entrance) एग्जाम है जिसे पास करने के बाद आप MBBS, BHMS, BAMS जैसी डॉक्टर डिग्री भारत के टॉप government कॉलेज से कर सकते है  जहाँ आप उच्च गुणवत्ता की पढ़ाई के साथ-साथ कम फीस मैं अपनी डिग्री क्र सकते है|

नीट का एग्जाम 2 लेवल पर होता है पहला UG और दूसरा PG, UG(under graduate) एग्जाम को पास करके आपको MBBS और BHMS जैसे कोर्सेज मैं एडमिशन मिलता है तथा PG(Post Graduate) एग्जाम पास करके आपको M.S और M.D जैसे कोर्स मैं एडमिशन मिलता है, नीट की एग्जाम वहीं स्टूडेंट दे सकता है जिसका 12वी मैं विषय बायोलॉजी रहा हो या उसके तीन महत्वपूर्ण विषय Biology, Physics, Chemistry रहे हो|

भारत मैं AIIMS, JIPMER भी सर्वश्रेश्ठ कॉलेज माने जाते है लेकिन इनकी परीक्षाएं अलग-अलग हुआ करती थी लेकिन अब आप 2023 से नीट की एग्जाम पास करने के बाद  AIIMS, JIPMER के कॉलेज मैं भी एड्मिसन ले सकते है और एक बेहतर डॉक्टर बन सकते है|

नीट से पहले भी भारत में कई प्रकार की परीक्षाएं AIPMT, CBSE आदि हुआ करती थी जिससे मेडिकल कॉलेज में एडमिशन दिया जाता था लेकिन भारत मैं यह मेडिकल परीक्षाओ की संख्या 80 से भी ज्यादा थी जिसे प्रत्येक अलग-अलग कॉलेज द्वारा लिया जाता थे, परीक्षाओ की संख्या अधिक होने के कारण स्टूडेंट को अलग-अलग सिलेबस के साथ अलग-अलग परीक्षा फीस भी देनी पड़ती थी, इसी प्रकार की स्टूडेंट की मेहनत और पेसो को बचाने के लिए एक परीक्षा नीट बनाई गई जिससे पुरे भारत के मेडिकल कॉलेज मैं एडमिशन लिया जा सकता है|

नीट की परीक्षा कैसे होती है

हम आपको यहां पर 2023 की परीक्षा के आंकड़ों के अनुसार बताएँगे|

Neet full form तथा नीट परीक्षा क्या है यह जानने के बाद नीट की परीक्षा कैसे होती है यह जानना भी जरुरी है- नीट की परीक्षा प्रतिवर्ष NTA द्वारा आयोजित कराई जाती है पिछले कई वर्षों से यह परीक्षा ऑफलाइन मोड में होती आ रही है लेकिन संभावना है कि अगले कुछ वर्षों में यह ऑनलाइन मोड में होने भी होने लगेगी, नीट परीक्षा प्रत्येक वर्ष मैं  एक ही बार होती है और यह 12वीं कक्षा के रिजल्ट आने के 1-2 महीने के बाद होती है|

नीट की परीक्षा भी अन्य परीक्षाओं की तरह 3 घंटे की ही होती है जिसमें आपको 180 प्रश्‍न दिए जाते हैं जो की कुल 720 अंक के होते है-

             विषय                प्रश्‍न            अंक
BIOLOGY 90 प्रश्‍न 360
PHYSICS 45 प्रश्न3 180
CHEMISTRY 45 प्रश्न 180
                Total                 180 प्रश्‍न               720 अंक

परीक्षा में पूछे जाने वाले सभी प्रश्‍न Objective प्रश्‍न होते हैं जिनमें चार विकल्पों होते हैं और उसमें से एक सही उत्तर होता है, साथ ही इस परीक्षा मैं आपको नेगेटिव मार्किंग भी देखने को मिलती है, जिसमें आपके द्वारा एक प्रश्‍न का गलत उत्तर देने पर -1 दिये जाते है तथा सही होने पर +4 नंबर दिए जाते है और यदि आप किसी भी प्रश्‍न का उत्तर नहीं देते है तो आपको 0 नंबर दिए जाते है, असल मैं आप यदि किसी प्रश्‍न का गलत उत्तर देते है तो आप -5 नंबर गवा देते है|

प्रतिवर्ष नीट परीक्षा मैं 15 लाख से अधिक स्टूडेंट देते है जिनमे से केवल 7 लाख के करीब स्टूडेंट नीट परीक्षा मैं पास होते है|

भारत मैं नीट पास करने के बाद करीब 497 कॉलेज मैं से किसी भी एक कॉलेज मैं आप अपने नंबर के अनुसार एडमिशन ले सकते है, MBBS और अन्य डिग्री के लिए सभी सरकारी कॉलेज मैं करीब 27,590 तथा सभी प्राइवेट कॉलेज मैं 25,840 के करीब सीट मिलती है|

नीट की परीक्षा देने के लिए 12वीं कक्षा में OBC और GENERAL केटेगरी वालों को 50% तथा SC,ST वालों को 40% के करीब लाना होता है|

नीट की परीक्षा पूरे भारत में 11 भाषाओं में आयोजित की जाती है जो इस प्रकार है- हिंदी, अंग्रेजी, उर्दू, असमी, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मराठी, ओड़िया, तमिल, तेलुगू|

नीट की परीक्षा एक स्टूडेंट कितनी भी बार दे सकता है लेकिन स्टूडेंट की उम्र 17 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए तथा 25 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए|

नीट के लिए योग्यता यह भी है नीट की परीक्षा मैं भाग लेने वाला स्टूडेंट भारतीय होना चाहिए|

नीट मैं पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए 2023

हमने यहां पर कुछ नीट के शिक्षको तथा नीट के छात्रों से जानकारी लेकर यह क्रम बनाया है जिससे आपको यह समझने का माध्यम प्राप्त होगा की हमारी Category मैं 720 मैं से नीट परीक्षा मैं कितने नंबर लाये(Neet full form) जिससे हमारा सिलेक्शन Government कॉलेज मैं हो जाये|

GENERAL 500-600 (approx.)
OBC 490-600 (approx.)
SC 400-450 (approx.)
ST 300-350 (approx.)

यदि आप नीट परीक्षा मैं अपनी केटेगरी के अनुसार बेहतर नंबर ले आते है तो भारत के Government Medical कॉलेज मैं आपकी सीट पक्की मानी जाती है, यह जरुरी नहीं है की इससे कम नंबर पर आपका सिलेक्शन नहीं होगा, इससे कम नंबरो पर भी आपका सिलेक्शन होगा लेकिन उससे आपको Private कॉलेज मिलने की सम्भावना अधिक होगी|

भारत मैं MBBS करने मैं खर्च कितना आता है

भारत मैं MBBS की डिग्री Government कॉलेज से करने पर बहुत अधिक खर्च नहीं आता है लेकिन भारत मैं Private कॉलेज से डिग्री करने पर यह खर्च बहुत अधिक तक पहुंच है, सामान्यतः भारत मैं MBBS की डिग्री सरकारी कॉलेज से पूर्ण करने पर आपको अधिकतम 1 लाख – 1.50 लाख तक खर्चा लगता है, लेकिन वहीं यदि MBBS की डिग्री प्राइवेट कॉलेज से करते है तो आपको 50 लाख – 80 लाख या उससे भी अधिक का खर्च लग सकता है|

नीट एग्जाम के लिए तैयारी कैसे करे

नीट की तैयारी आप दो प्रकार से कर सकते है-

  1. नीट की तैयारी इंस्टिट्यूट से|
  2. नीट की तैयारी बिना इंस्टिट्यूट से|

नीट की तैयारी कोचिंग इंस्टिट्यूट से कैसे करे

सर्वप्रथम कोचिंग से तैयारी करने के लिए आपको एक बेहतर कोचिंग इंस्टिट्यूट को ढूंढना होगा इसके लिए आप उन कोचिंग मैं पड़ रहे हैं विद्यार्थयो से तथा वहां पर पढ़ चुके विद्यार्थियों से उस कोचिंग के बारे में जानकारी ले सकते हैं तथा एक बेहतर कोचिंग का चुनाव कर सकते हैं|

एक बेहतर कोचिंग का चयन करने के बाद आपको वहां पर पढाये गए सिलेबस आदि पर ध्यान देना होता है तथा प्रतिदिन नोट्स बनाने होते हैं आप कोचिंग के टीचर्स की सहायता से एक अच्छे author की सब्जेक्ट बुक्स भी खरीद सकते हैं तथा उनसे भी आप अपनी तैयारी को और भी आगे ले जा सकते हैं|

कोचिंग मैं आपको बहुत ही वह बातें जो नीट की तैयारी के लिए जानना जरुरी है वह सिखाई जाएँगी साथ ही आपको प्रतिदिन क्या करना है और पढ़ाई कैसे करनी है आदि भी वहां आपको सिखाया जाएगा, कोचिंग से नीट की तैयारी करना भी विद्यार्थी के लिए बेहतर हो सकता है क्योंकि कोचिंग से आपको एक बेहतर गाइडेंस मिलती है तथा आप कोचिंग के बताए हुए नोटस से तथा वहां पढ़ाई गई चीजों पर ध्यान देकर और मेहनत करके नीट में अच्छी पर्फोमन्स कर सकते है|

नीट की तैयारी बिना इंस्टिट्यूट से कैसे करे

बिना कोचिंग से नीट की तैयारी करने के लिए आपको बहुत अधिक परिश्रम और एकाग्रता की आवश्यकता होगी बिना कोचिंग के तैयारी करना थोड़ा मुश्किल माना जाता है क्योंकि यहां पर आपको गाइडेंस और क्या करें कैसे करें आदि सवालों के जवाबो को खोजना पड़ता है जिससे तैयारी में अधिक मेहनत लगती है|

बिना कोचिंग से तैयारी करना उतना भी मुश्किल नहीं होता है क्योंकि कहीं परीक्षार्थी पहले भी बिना कोचिंग से नीट (Neet full form)की तैयारी करके एक बेहतर रैंक और एक बेहतर अंक ला चुके हैं तथा एक बेहतर डॉक्टर बन चुके हैं, भारत में पहले वही स्टूडेंट कोचिंग ज्वाइन करते थे जो पढ़ाई में कमजोर होते हैं लेकिन आजकल सभी स्टूडेंट कोचिंग ज्वाइन करते हैं जहां की इसकी जरूरत नहीं है असल में, बिना कोचिंग से तैयारी करने के लिए आपको कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना होता है-

  1. सर्वप्रथम आप नीट की संपूर्ण जानकारी जिसमे सिलेबस तथा एग्जाम कब होती है तथा इसमें किस-किस बातों का ध्यान रखना होता है और एग्जाम में कितने प्रश्‍न कितने, कितने अंक होते है आदि चीज़ो की जानकारी अच्छे से लें ले|
  2. एकाग्रता बनाए रखे और हर दिन प्रतिदिन मेहनत करते रहे तथा अपनी मेहनत का आकलन भी करते रहे और उसे बेहतर बनाने का प्रतिदिन प्रयास करते रहे|
  3. नीट की परीक्षा की तैयारी में आप ऑनलाइन माध्यम का भी बहुत अधिक उपयोग कर सकते हैं क्योंकि आजकल YouTube और अन्य बहुत से Online प्लेटफार्म पर आपको फ्री में एक उच्च गुणवत्ता की कोचिंग भी मिल जाती है और एक अच्छा गाइडेंस टीचर भी मिल जाता है, इसके लिए आप एक बेहतर ऑनलाइन टीचर चुन सकते हैं तथा उसके अनुसार भी आप अपनी नीट की तैयारी कर सकते हैं|
  4. आपसे पहले भी बहुत से टॉपर्स हैं जिन्होंने नीट की तैयारी बिना कोचिंग के भी करके एक बेहतर अंक पाये है, आप उनके ऑनलाइन इंटरव्यू भी देख सकते हैं तथा उनके द्वारा बताई गई किताबों तथा Strategy आदि को फॉलो कर तैयारी को रफ़्तार दे सकते हैं|
  5. यहां पर आप को सबसे अधिक सहायता किताबों से मिलेगी चार-पांच किताबो से पड़े करना सही नहीं होता है एक बेहतर किताब का चुनाव करे तथा उसे पड़े, किताब का चुनाव करने के लिए आप नीट के पूर्व परीक्षार्थियों तथा टीचर  से सहायता ले सकते है|
  6. अपने समझने के अनुसार नोट्स बनाते रहे और उनमें जरूरी चैप्टर आदि से जुडी जरुरी पॉइंट्स लिखते रहे हो साथ ही प्रत्येक चैप्टर तथा टॉपिक का रिवीजन भी पढ़ाई के साथ करते रहे|
  7. एक  टॉपिक को पढ़ने के बाद उससे जुड़े पिछले वर्षों के प्रश्‍न आदि को हल करते रहें तथा उन प्रश्नो के trend आदि  को समझते रहे जिससे आपको आने वाले पेपर में प्रश्नो को समझने में अधिक परेशानी नहीं होगी|
  8. लगातार मेहनत करते रहें और 2 से 3 घंटे की पढ़ाई करने के बाद 10 से 30 मिनट का ब्रेक ले हर बार एक फ्रेश  मन से पढ़ने बैठे और एक समय निश्चित करें पढ़ने के लिए|
  9. एक छात्र के लिए सबसे जरूरी है कि उसका ध्यान एकाग्र हो जिसके लिए एक निश्चित समय चुने पढ़ाई के लिए और मोबाइल टीवी घूमना-फिरना, समय बर्बाद करना आदि जैसे डिस्ट्रेक्शन पर ध्यान दें और इनको कम करें या छोड़ें|
  10. स्वस्थ शरीर और स्वस्थ मन ही आपकी पढ़ाई की रेस में आपको और तेजी से दौड़ने में सहायता करेगा, अच्छा भोजन लें और मेडिटेशन, योगा आदि को करना शुरू करें|
  11. नीट की एग्जाम भी अन्य एग्जाम की ही तरह है, बहुत से पढ़ाई में कमजोर विद्यार्थियों ने भी इस परीक्षा को बेहतर अंक से पास किया है इसलिए नीट का अधिक Stress न ले हल्के-फुल्के रहे, पढ़ते रहे, खुश रहे और हर दिन बेहतर करने का प्रयास करते रहे|

तैयारी मैं कुछ जरुरी बाते

Neet full form और सभी चीज़ो को जानने के बाद कुछ जरुरी बाते है जिनका ध्यान रखना आवश्यक है-यह आपकी जिंदगी का बहुत बड़ा फैसला हो सकता है क्योकि यहीं से असल डॉक्टर बनने की यात्रा प्रारंभ होती है, यदि आपने अपना फैसला कर लिया है कि मैं अपने आपको एक डॉक्टर की तरह देखना चाहता हूं तो अब आपको पूरी तरह से इस परीक्षा की तैयारी में लग जाना चाहिए और आपने आप को एक बेहतर डॉक्टर बनाने का संकल्प लेना चाहिए|

नीट की परीक्षा के अपने सपने को अपनी मेहनत लगन विश्वास के जरिए हकीकत में बदलने के लिए सोचे तथा फोकस रखें अपने एग्जाम पर और जरूरी बातों का ध्यान रखें जिसमे सामान्य टाइम टेबल बनाएं परीक्षा का स्ट्रेस ना लें प्रतिदिन छोटे-मोटे Goal रखें और उन्हें पूरा करें एक सही समय चुने पढ़ने के लिए और यदि आप 12वीं या 11वीं में है तो अपनी स्कूल की पढ़ाई पर अधिक ध्यान दें क्योंकि नीट का कोर्स 11वीं और 12वीं की किताबों का ही एक गहरा स्वरूप है साथ ही यदि आप एक बार नीट की परीक्षा दे चुके हैं और दोबारा दे रहे हैं तो अपनी पिछली गलतियों का ढूंढे और इस बार उन गलतियों को ना दोहराये|

प्रतिदिन प्रैक्टिस करने के साथ-साथ अपने शरीर और अपने माइंड को हेल्थी रखने के लिए अच्छा भोजन करें और मेडिटेशन योगा इत्यादि पर भी ध्यान दें, नींद का भी अवश्य रुप से ध्यान दें 7 से 8 घंटे की बेहतर नींद ले सही किताबों को पढ़े और सही टीचर से गाइडेंस लें|

दोस्तों, हम आसा करते हैं की आपको यह Neet full form और नीट क्या है से जुडी जानकारी पसंद आयी होगी, इसे अपने दोस्तों और अपने परिजनों के साथ सेयर जरुर करे जिससे उन्हें भी इस जानकारी का लाभ मिल सके, इस आर्टिकल से जुड़ा किसी भी प्रकार का सवाल है तो आप कमेंट मैं पूछ सकते है|

यदि आप नीट की तैयारी कर रहे है हमारी सुभकामनाये आपके साथ है आपका सिलेक्शन जरूर हो|

यह भी पड़े- 12वी के बाद क्या करे कैसे करे| 

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।