यूपीएससी की तैयारी कैसे करें? | How to prepare for UPSC Best Tips In Hindi

भारत अपनी प्रतियोगिता परीक्षाओं के बारे में पूरी दुनिया भर में जाना जाता है। भारत की सबसे मुश्किल तथा महत्वपूर्ण परीक्षा UPSC है। UPSC का पूरा नाम Union Public Service Commission है। इसे हिंदी में  संघ लोक सेवा आयोग कहते हैं। यदि जो भी इच्छुक अभ्यर्थी इस परीक्षा की तैयारी करना चाहता है तो यह लेख उसके लिए महत्वपूर्ण होगा।

आज हम इस लेख में आपको यूपीएससी की तैयारी कैसे करें के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे तथा यह भी बताएंगे कि इस परीक्षा के लिए कौन-कौन लोग पात्र है इसके साथ ही आवेदन की प्रक्रिया परीक्षा का पैटर्न, सिलेबस आदि।

जैसा कि हम सब जानते हैं UPSC से IAS,IPS तथा अन्य 1st Class Officer बनते हैं। इसके साथ ही यह पूरे देश में एक समान पेपर करवाने के लिए जानी जाती है। यूपीएससी का पेपर भारत के कोई भी नागरिक दे सकता है। यह सबसे मुश्किल परीक्षाओं में से एक है। लोग इसकी तैयारी के लिए ज्यादातर दिल्ली जाना पसंद करते हैं क्योंकि ज्यादातर अभ्यर्थी दिल्ली के मुखर्जी नगर में रहते हैं और वहां से तैयारी करते हैं। यह भी कहा जाता है कि भारत की सबसे अच्छी कोचिंग दिल्ली में ही मिलती है।

लगभग इस परीक्षा को 10 लाख अभ्यार्थी देते हैं। जिनमें से केवल 10000 अभ्यर्थी ही मुख्य परीक्षा के लिए चयनित किए जाते हैं। यदि बात की जाए तो इनके पदों की लगभग 1000 पद हर साल निकलते हैं। जिनमें से आईएएस, आईपीएस, आईएफएस आदि पद शामिल होते हैं। यह लेख इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि ज्यादातर बच्चे अपने भविष्य को लेकर चिंतित रहते हैं। उन्हें यह पता नहीं होता है कि UPSC की तैयारी कैसे की जाए परंतु हम इस लेख के माध्यम से आपको UPSC ki tayari kaise kare? के बारे में वह तमाम जानकारी चयन देंगे जो आपके लिए लाभदायक साबित होगी।

यूपीएससी क्या है? (what is upsc)

यूपीएससी की तैयारी कैसे करें

किसी भी विद्यार्थी को जब कोई प्रतियोगिता परीक्षा देता है तो उसके बारे में हर चीज पता होना चाहिए। यूपीएससी जिसका मुख्यालय दिल्ली में है। UPSC के अध्यक्ष की नियुक्ति राष्ट्रपति के द्वारा की जाती है। इसके अध्यक्ष के पास परीक्षा से संबंधित सारी ताकत मौजूद होती है। वह अपने अनुसार परीक्षा को नियंत्रित तथा पदों की संख्या निर्धारित करता है।

इसके साथ ही UPSC की कमेटी में पूर्व सदस्य तथा स्थाई सदस्य रहते हैं। यह भारत की सबसे महत्वपूर्ण परीक्षा है। कहा जाता है कि जो यूपीएससी पास कर लेता है, उसे लगभग सारा ज्ञान होता है। UPSC की परीक्षा तीन भागों में होती है। यह पूरे साल भर चलती है। यदि आप इस परीक्षा की तैयारी करेंगे तो आपका भी अवश्य Section हो जाएगा।

यूपीएससी की तैयारी कैसे करें? (How to prepare for UPSC)

UPSC भारत की सबसे कठिन परीक्षा में से एक है। यदि किसी व्यक्ति ने इसे पास कर लिया तो उसका पूरा जीवन सुधर जाता है। UPSC की तैयारी करना चाहते हैं तो कर सकते हैं क्योंकि इसे पास करना आसान हो जाता है। जब आप निरंतर मेहनत करते हैं। यदि आप पूरी तरह से इस परीक्षा की तैयारी में लग जाते हैं तो निश्चित रूप से आपको सफलता मिलेगी।

सबसे पहले आपको एक Time table बनाने की आवश्यकता होती है। उसे पूरा करना सबसे बड़ी जवाबदारी होती है। यदि आप नियमित रूप से उस टाइम टेबल का पालन नहीं करते हैं तो आप यूपीएससी की परीक्षा पास कर पाएंगे। इसके पास सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि विषय संबंधी किताबें और Notes. यदि आपके पास अच्छी किताबें और अच्छे लोग नहीं है तो यह परीक्षा पास करने में थोड़ी कठिनाई होगी। आपके आसपास का माहौल ऐसा होना चाहिए जो केवल यूपीएससी की तैयारी कर रहा हो।

अपने आसपास किसी भी नकारात्मक व्यक्ति को आने दे। आप उन लोगों से हमेशा दूर रहे ताकि आप सकारात्मक सोच के साथ अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ सके। इसके बाद आपको एक Planning की जरूरत पड़ती है कि आप किस Subject को कितना वक्त देंगे और कितने बार आप Revision करेंगे। आपको ऐसे लोगों से मिलना होगा जिन्होंने इस परीक्षा को पास किया है और अच्छी रैंक हासिल की है।

यूपीएससी का सिलेबस (UPSC Syllabus)

UPSC का सिलेबस बहुत बड़ा है। इसमें देश दुनिया की लगभग सारी चीजें पूछी जाती है। यह किसी भी विद्यार्थी के लिए महत्वपूर्ण होता है क्योंकि सिलेबस के बिना Selection नामुमकिन है। आज हम इस लेख में आपको सबसे पहले UPSC की प्रारंभिक परीक्षा के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे।

प्रारंभिक परीक्षा (preliminary examination)

यह परीक्षा दो भागों में ली जाती है। इसका माध्यम हिंदी तथा English होता है परंतु वैकल्पिक भाषाओं में भारत के संविधान में लिखी गई सारी भाषाओं में यह पेपर लिया जाता है।

प्रारंभिक परीक्षा में सबसे पहले सीसैट (CSAT) होता है। इसमें आपसे गणित, रिजनिंग, तर्कशक्ति, मानसिक क्षमता, बुनियादी संख्या आदि जैसे विषयों के बारे में प्रश्न किए जाते हैं। यह 2 घंटे का होता है तथा 200 अंक का होता है। इसमें किसी भी विद्यार्थी को न्यूनतम 33% अंक लाना जरूरी होता है नहीं तो उनका प्रारंभिक परीक्षा में Selection नहीं होगा।

इसके बाद पेपर एक की बात करें तो यह भी 2 घंटे का होता है तथा कुल 200 नंबर का होता है। इसमें सामान्य विज्ञान राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय महत्वपूर्ण घटनाएं, भारत का इतिहास, विश्व का इतिहास, सामाजिक विकास, आर्थिक विकास, भारतीय राजनीति जैसे महत्वपूर्ण विषय पूछे जाते हैं। इसके साथ ही वर्तमान समय में घटित घटनाओं के बारे में भी पूछा जाता है, यह दोनों पेपर वैकल्पिक होते हैं।

मुख्य परीक्षा (main exam)

इस परीक्षा को निम्नलिखित भागों में बांटा गया है जो इस प्रकार है:-

पेपर A:- यह पेपर हिंदी भाषा में होता है क्योंकि हमारी राष्ट्रीय भाषा हिंदी है। इसमें पैसेज दिया जाता है। जिसे पढ़कर सटीक उत्तर लिखना होता है। इसके अंतर्गत लघु निबंध, उपयोग शब्दावली, आदि भी लिखना पड़ता है। इसके अंतर्गत अंग्रेजी से भारतीय भाषा में अनुवाद भी करना होता है। यदि कोई प्रश्न भारतीय भाषा में है तो उसे अंग्रेजी भाषा में लिखा जाता है और यह पेपर 300 नंबर का होता है।

पेपर B:-  यहअंग्रेजी भाषा में होता है क्योंकि यूपीएससी में जो अभ्यर्थी Selection पाता है। उसे हिंदी और अंग्रेजी का अच्छा ज्ञान होना चाहिए। इसके अंतर्गत पैसेज की समझ भी होनी चाहिए। इसमें लघु निबंध, शब्दावली, शब्दों का उपयोग आदि जैसे महत्वपूर्ण सवाल पूछे जाते हैं तथा उनका सही Answer लिखना होता है। यह भी 300 नंबर का पेपर होता है।

 पेपर I:- यह निबंध लिखने वाला पेपर होता है। इसके अंतर्गत आपको दिए गए प्रश्नों पर निबंध लिखना होता है। जो वर्तमान तथा पुराने घटनाओं को ध्यान में रखकर लिखना पड़ता है। यह 250 नंबर का होता है।

पेपर II:- सामान्य अध्ययन का पेपर होता है। इसके अंतर्गत आपसे निम्नलिखित जानकारी पूछी जाती है। जिसे आपको दिए गए नंबरों के अनुसार लिखना होता है। यह 250 नंबर का पेपर होता है।

  • भारतीय विरासत
  • आधुनिक भारतीय इतिहास
  • विश्व इतिहास
  • भारतीय समाज
  • भूगोल

पेपर3 III:- यह भी सामान्य अध्ययन का पेपर होता है। यह भी 250 नंबर का होता है। इसमें दिए गए नंबरों के अनुसार ही प्रश्नों के उत्तर लिखे जाते हैं। इसके अंतर्गत मुख्यतः भारतीय संविधान, भारतीय राजस्व जैसे महत्वपूर्ण Subject शामिल होते हैं तथा इसमें पूछे जाने वाले विषयों की श्रेणी इस प्रकार है:-

  • भारतीय संविधान
  • भारतीय राजव्यवस्था
  • सामाजिक न्याय
  • भारतीय शासन
  • अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध

पेपर IV:- सामान्य अध्ययन के अंतर्गत आर्थिक विकास, जैव विविधता आदि जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर इस पेपर में पूछा जाता है। यह भी 250 नंबर का होता है। इसके अंतर्गत पूछे जाने वाले प्रमुख विषय इस प्रकार है:-

  • भारतीय अर्थव्यवस्था
  • विज्ञान और तकनीक
  • पर्यावरण और जैव विविधता
  • आपदा प्रबंधन
  • आपदा प्रबंधन
  • सुरक्षा

पेपर V:- सामान्य अध्ययन के अंतर्गत इसमें नैतिकता, भावात्मक बुद्धि आदि जैसे महत्वपूर्ण उसे पूछे जाते हैं इसमें भी आपसे 250 नंबर के प्रश्न पूछे जाते हैं, जो लघु तथा बड़े प्रश्न होते हैं।

पेपर VI तथा VII:- यह एक वैकल्पिक विषय पर बनाया जाता है। जिसमें आपको दिए गए विषय में से किसी एक को चुन कर लिखना होता है, यह पेपर 250 नंबर का होता है

साक्षात्कार (Interview)

जब आप पर प्रारंभिक परीक्षा तथा मुख्य परीक्षा पास कर लेते हैं तो आपको साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। मतलब आपको Interview के लिए बुलाया जाएगा। यह आपको परखने की परीक्षा होती है। इसमें आपके हाल-चाल, बोलने की कला तथा चलने की कला, आपके उत्तर देने की कला आदि पर अधिकारियों का ध्यान होता है। यदि आप उनके सभी प्रश्नों के उत्तर अच्छे से दे देते हैं या अपने हावभाव के माध्यम से उन्हें प्रभावित कर सकते हैं तो आपका Selection हो जाएगा आप बड़े आसानी से साक्षात्कार पास कर लेंगे।

यूपीएससी की परीक्षा के लिए टाइम टेबल कैसे बनाएं

UPSC पास कर के एक अधिकारी बनना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको एक Time Table की आवश्यकता होगी। यदि आप उस टाइम टेबल का पालन नियमित रूप से कर लेते हैं तो निश्चित रूप से आपका सिलेक्शन हो जाएगा। Time table बनाते समय सबसे पहले आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप नियमित रूप से उन विषयों को अपने दिनचर्या में जो आपको कठिन लगते हैं।

ऐसे विषयों को अपने टाइम टेबल में शामिल करने से उस कठिन विषय को आसानी से समझा जा सकता है। इसके बाद आपको अपनी दिनचर्या के अनुसार सारे विषयों को स्थान देना होगा यदि आप सविधान पढ़ रहे हैं तो यह तय कर लेना कि उसके कितने Chapter पढ़ने है और कितने छोड़ने हैं। इसके बाद आपको Current Affair पर भी ध्यान देना होगा क्योंकि Current Affair के लिए आपको सुबह वक्त मिलता है।

सुबह के समय में आप अपने टाइम टेबल में Current Affair के लिए टाइम निकालेंगे तथा कठिन विषयों के लिए जब आप सो कर उठते हैं। तब एक घंटा कठिन विषय के लिए दे क्योंकि जैसे ही हम सुबह उठते हैं तो हमारा दिमाग तरोताजा रहता है जो अच्छे से काम करता है और थकान के बिना हम अच्छे से उसे याद कर सकते हैं। खाने पीने तथा अन्य कामों को ध्यान में रखकर आप टाइम टेबल को अच्छे से बनाएं।

खाने-पीने के समय को अलग निकाले जैसे कि आप सुबह नाश्ता करते हैं उसके लिए आधा घंटा दें। इसके बाद आप खाना खाते हैं तो आपको 12:00 से 1:00 बजे का टाइम रखना होगा। इसके बाद आप 6:00 बजे चाय पीने के लिए टाइम निकालेंगे। इसके साथ ही रात में 9:00 से 10:00 के बीच में खाना खाने का वक्त निकालना होगा।

इस तरह से आप व्यवस्थित रूप से टाइम टेबल बनाएंगे तो यह निरंतर कार्य करते रहेगा और इस बात का भी ध्यान रखें कि आप 1 दिन में ज्यादा विषयों को शामिल ना करें। इससे आपको पढ़ाई करने में दिक्कत होगी और दूसरे दिन आप जल्दी सो जाएंगे जिससे आपकी दिनचर्या पूरी तरह से खराब हो जाएंगी

UPSC की तैयारी के समय  इन बातों का ध्यान रखें

सबसे पहले जो भी अभ्यर्थी UPSC की तैयारी करता है उसमें धैर्य होना चाहिए यदि आपने धैर्य नहीं है तो आप इस परीक्षा के लायक नहीं है क्योंकि यूपीएससी परीक्षा है जिसमें लंबे समय तक पढ़ना पड़ता है क्योंकि  यह परीक्षा तीन चरणों में होती है जिस वजह से आपको पूरे साल भर पढ़ने की आवश्यकता होती है।

दिनचर्या हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग है क्योंकि हमारी दिनचर्या खराब होगी तो हमारा जीवन अच्छे से नहीं चल पाएगा। दिनचर्या को अच्छे से रखने के लिए आपको सभी गलत कार्य छोड़ने होंगे और समय पर खाने और समय पर सोने की आवश्यकता होगी जिससे कि आप निरंतर रूप से पढ़ सके।

टाइम टेबल बनाते समय आपको सारी बातों का ध्यान रखना होगा। हमने आपको उपरोक्त बिंदुओं में समझा दिया है।

Syllabus यूपीएससी की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों के पास हमेशा होना चाहिए। इसके साथ ही आपको इस बात का भी ज्ञान होना चाहिए कि सबसे ज्यादा कौन से विषय से पूछे जाते हैं ताकि हम उस पर ज्यादा ध्यान दें।

Notes बनाते समय आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप हर एक बिंदु पर विशेष ध्यान दें, ताकि कोई भी उस Chapter का प्रश्न आए तो हम उसे आसानी से हल कर सके।

हमारे पास यूपीएससी की तैयारी के लिए सारी पुस्तकें उपलब्ध होना चाहिए, जिससे हमें किसी थी प्रश्न के उत्तर के लिए वक्त बर्बाद ना करना पड़े।

यूपीएससी की तैयारी के लिए बेस्ट बुक (UPSC Book List)

  • आधुनिक भारत का एक संक्षिप्त इतिहास राजीव अहिर
  • आधुनिक भारत का संक्षिप्त इतिहास सुजाता
  • प्राचीन भारत आर एस शर्मा
  • मध्यकालीन भारत का इतिहास सतीश चंद्र
  • भारतीय संस्कृति के पहलुओं स्पेक्ट्रम
  • कला और संस्कृति नितिन सिंघानिया
  • मानचित्र ऑक्सफोर्ड स्कूल अटलस
  • NCERT
  • भारतीय अर्थव्यवस्था रमेश सिंह
  • भारतीय राजनीति लक्ष्मीकांत
  • भारत का संविधान पीएम बक्शी
  • करंट अफेयर की प्रतियोगिता दर्पण
  • विज्ञान और तकनीकी के लिए शंकर आईएएस के नोट्स
  • पर्यावरण के लिए NCERT

यूपीएससी के प्रमुख पोस्ट के नाम

  • भारतीय प्रशासनिक सेवा
  • भारतीय पुलिस सेवा
  • भारतीय विदेश सेवा
  • भारतीय वन सेवा भारतीय
  • रक्षा लेखा सेवा
  • भारतीय डाक सेवा
  • भारतीय रेल यातायात सेवा
  • भारतीय रेलवे लेखा सेवा
  • भारतीय रक्षा संपदा सेवा
  • भारतीय सूचना सेवा
  • भारतीय कारपोरेट कानून सेवा
  • भारतीय राजस्व सेवा
  • भारतीय वित्त सेवा

यूपीएससी की तैयारी कैसे करें? से जुड़े प्रश्न उत्तर

यूपीएससी में कितने पेपर होते है?

यूपीएससी में टोटल 9 पेपर होते है। जिसमे 7 मेरिट आधारित और 2 पेपर क्वालीफाई होते है। हर पेपर 3 घन्टे की अवधि का होता है।

आईएएस बनने के लिए कितनी रैंक होनी चाहिए?

आईएएस बनने के लिए कम से कम 90रैंक होना चाहिए।

यूपीएससी में पास करने के लिए कितने नंबर होने चाहिए?

यूपीएससी पास के लिए मेन सामान्य कटऑफ 736 और फाइनल कटऑफ में 944 नंबर चाहिए।

निष्कर्ष

आशा करती हूं मेरे द्वारा दी गई जानकारी से संतुष्ट होंगे। इस लेख का उद्देश्य यूपीएससी की तैयारी कैसे करें के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देना है ताकि ज्यादा से ज्यादा अभ्यार्थी इस लेख का उपयोग करके अधिकारी बनने का सपना साकार कर सकें। इसके साथ ही UPSC की इस लड़ाई में आप हमेशा विजय हो पाए।

2 thoughts on “यूपीएससी की तैयारी कैसे करें? | How to prepare for UPSC Best Tips In Hindi”

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।