Hindi story for class 2-हम सब अपनी कहानी के हीरो है।

Hindi story for class 2हम सब अपनी कहानी के हीरो है।

Hindi story for class 2-हम सब अपनी कहानी के हीरो है।

जो नहीं है हमारे पास वो ख्वाब हैं, पर जो है हमारे पास वो लाजवाब है। 

Hindi story for class 2 शीर्षक-हम सब अपनी कहानी के हीरो है।

pexels-photo-749212-2613443

अल्बर्ट आइंस्टाइन ने बड़ी कमाल की बात कही है कि 

इस दुनिया में हर कोई जीनीयस होता है लेकिन अगर आप मछली को इस बात से जज करेंगे कि वह पेड़ पर नहीं चढ़ सकती तो आप बिल्कुल गलत है।


इसे पढ़ना ना भूले।



आज की कहानी हमारे पुराने प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की है।

शास्त्री जी की बड़ी कमाल की बातें थी वे साधारण जिंदगी जीते थे दूसरों का हमेशा सम्मान करते थे और कभी भी चाहे छोटी बात हो या बड़ी बात हो बड़ा मुद्दा ही क्यों ना हो वह हमेशा आस पास के लोगों से राय लेते थे,चाहे वह इनका सहयोगी रहा हो या फिर उनके घर का नौकर।

एक शिक्षक और छात्र की कहानी।

यह बात लोगों को समझ नहीं आती थी प्रधानमंत्री इतने बड़े प्रधानमंत्री पद पर बैठे हैं साधारण लोगों से या फिर आसपास के लोगों से राय क्यों लेते है।

तो उनके दोस्त ने हिम्मत करके पूछ लिया कि शास्त्री जी बताइए आप देश-विदेश के मुद्दे पर चर्चा कर रहे होते हैं और अपने नौकर से पूछ लेते हैं,मतलब कहां यह गंभीर मुद्दे और कहां यह नौकर बात कुछ जमी नहीं इसके पीछे का राज क्या है? 


किस तरह से एक विकलांग छात्र ने किए सपने पूरे।

तब शास्त्री जी ने कहा एक छोटी सी कहानी सुनाता हूं यह कहानी सुनने के बाद तुम्हें बात समझ में आएगी।

उन्होंने कहानी सुनाना शुरू किया तो उन्होंने बताया कि law of gravitation देने वाले न्यूटन उनके घर में उनकी बिल्ली ने 2 बच्चों को जन्म दिया अब बिल्ली जो थी और उनके बच्चे जो थे वह रात में उत्पात मचाते थे घर से बाहर निकलने के लिए।

तो न्यूटन ने अपने नौकर से कहा कि भाई एक काम करो इस दरवाजे में दो छेद कर दो एक बड़ा छेद कर दो बिल्ली के निकलने के लिए और एक छोटा छेद कर दो उसके बच्चों को निकलने के लिए।

तो नौकर ने कहा गुस्ताखी माफ लेकिन एक ही छेद बड़ा हो जिससे बिल्ली निकलेगी उसी से उसके बच्चे भी निकल जाएंगे।

यह बात सुनने के बाद न्यूटन हक्के बक्के रह गए उन्हें लगा कि इतनी मामूली सी बात मेरे दिमाग में क्यों नहीं आई।

एक छात्र के पूरे ना होने वाले सपने।

शास्त्री जी ने जब यह कहानी खत्म की तो बताया कि इस धरती पर हर इंसान का अपना वैल्यू है इस जिन्दगी मे हर किसी के पास वो काबिलियत है जिससे वह अपनी जिन्दगी बदल सकता है,लेकिन जरूरत है उसका काबिलियत को पहचानने की।



Hindi story for class 2 से सीख –

  • हम सब का मसीहा एक है लेकिन हम सब अपनी जिंदगी के हीरो हैं।

एक बात समझिए जैसा मैं हूं वैसे आप नहीं है जैसे आप हैं वैसा मैं नहीं अपनी काबिलियत को पहचानिए।


ये hindi story for class 2 पको कैसी लगी हमें कमेंट करके बताए ताकि और इस कहानी को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे।


अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।