कंप्यूटर ऑपरेटर कैसे बने? | योग्यता, सिलेबस, सैलरी

जैसा की आप सभी को पता है कि आज के इस डिजिटल दौर में अधिकतर कार्य कंप्यूटर के माध्यम से ही किए जा रहे हैं। जिसकी वजह से आज Computer operator या कहे डीआईओ की डिमांड बहुत अधिक बढ़ गयी हैं। आज पब्लिक सेक्टर में ही नही बल्कि आज कंप्यूटर ऑपरेटर की demand प्राइवेट सेक्टर तथा गवर्नमेंट सेक्टर में भी बहुत अधिक है। लगभग हर फील्ड में कंप्यूटर ऑपरेटर की डिमांड बढ़ती ही जा रही है।

आप भी एक Computer operator के तौर पर कार्य करके अच्छा पैसा कमा सकते है. कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए आपको कोई भी अत्यधिक पैसे खर्च करके अधिक study करने की आवश्यकता नहीं है कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए आपको कंप्यूटर को अच्छी तरह से operator करने के साथ-साथ MS office के उपयोग करना आना चाहिए।

यदि आप भी बताओ कंप्यूटर ऑपरेटर अपना करियर बनाना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है क्योंकि Artical के माध्यम से आज हम कंप्यूटर ऑपरेटर कैसे बने? के बारे में चर्चा करेंगे इसीलिए आपको इस आर्टिकल को लास्ट तक पढ़ना है।

कंप्यूटर ऑपरेटर क्या होता है? | What is a computer operator?

कंप्यूटर ऑपरेटर कैसे बने

आज आपको हर सेक्टर में Computer operator देखने को मिल जाएंगे। जिन का मुख्य कार्य कंप्यूटर का इस्तेमाल करके Application के माध्यम से डाटा शीट डाक्यूमेंट्स आदि को तैयार करना होता है। जिसके लिए अभ्यार्थी की typing Speed बहुत ही तेज होनी चाहिए। इसके अलावा कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए अभ्यार्थी को कंप्यूटर में मौजूद सभी Hardware जैसे- कीबोर्ड, माउस, प्रिंटर, सीपीयू आदि को अच्छी तरह operate करना आना चाहिए।

जिसकी मदद से वह सारे काम आसानी से कर सके। वैसे भी आज के इस डिजिटल युग में हर कार्य कंप्यूटर के माध्यम से ही किए जा रहे है, इसीलिए हर sector में कंप्यूटर ऑपरेटर की बहुत अधिक डिमांड है आप चाहे तो कंप्यूटर ऑपरेटर की जॉब Full time and part time भी कर सकते हैं।

यदि आप भी कंप्यूटर ऑपरेटर बनना चाहते हैं। लेकिन आपको कंप्यूटर ऑपरेटर कैसे बने? इसकी सही दिशा के बारे में information नहीं है तो आपको इस पोस्ट के माध्यम से कंप्यूटर ऑपरेटर बनने की से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी कृपया इस लेख में last तक बने रहें।

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए जरूरी स्किल

अगर आप कंप्यूटर ऑपरेटर के तौर पर कमाई करना चाहते हैं तो पहले तो आपको कंप्यूटर से संबंधित सभी बेसिक नॉलेज होनी जरूरी है। इसके साथ भी कई चीजें हैं। जो आपको आनी चाहिए। जिनके बारे में हम आपको आगे बता रहे हैं-

  • कंप्यूटर ऑपरेटर के तौर पर कैरियर बनाने के लिए आप को कम से कम 10वीं या 12वीं कक्षा पास करनी होगी कई क्षेत्रों में ग्रेजुएशन की भी डिमांड की जाती है।
  • कंप्यूटर ऑपरेटर ऐसी जॉब है जिसमें आपको इंग्लिश टाइपिंग के साथ साथ कभी कभी हिंदी में Type करना पड़ सकता है। इसलिए आपको हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओं में टाइपिंग आनी चाहिए।
  • यदि आप कंप्यूटर ऑपरेटर की जॉब प्राप्त करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि कंप्यूटर ऑपरेटर का मुख्य कार्य डाटा एंट्री करना होता है जिसके लिए आपकी टाइपिंग स्पीड बहुत ही फास्ट होनी चाहिए।
  • कंप्यूटर से डाक्यूमेंट्स फाइल तैयार करने के लिए आपको कंप्यूटर में इस्तेमाल किए जाने वाले एप्लीकेशन जैसे एमएस ऑफिस एम एस एक्सेल तथा एमएस पावरप्वाइंट प्रोजेक्शन के बारे में अच्छा ज्ञान होना चाहिए।
  • कंप्यूटर ऑपरेटर के तौर पर कार्य करने के लिए सबसे जरूरी है कि आपको कंप्यूटर से संबंधित सभी आउटपुट के बारे में समुचित ज्ञान होना चाहिए।

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए आयु

आमतौर पर कंप्यूटर ऑपरेटर के तौर पर कोई भी व्यक्ति कार्य कर सकता है जिसे कंप्यूटर के संबंध में अधिक जानकारी है लेकिन अगर आप किसी अच्छी कंपनी या फिर विभाग में कंप्यूटर ऑपरेटर के तौर पर कार्य करना चाहते हैं तो इसके लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष तथा अधिकतम आयु 27 वर्ष निर्धारित की गई है।

कंप्यूटर ऑपरेटर की सैलेरी

यदि आप बतौर कंप्यूटर ऑपरेटर के तौर पर किसी सरकारी विभाग अथवा संस्थान में जॉब करते हैं तो आप हर महीने ₹10000 से लेकर ₹20000 तक आसानी से कमा सकते हैं वहीं प्राइवेट सेक्टर की बात करें तो आज के समय में प्राइवेट कंपनियां कंप्यूटर ऑपरेटर को हर महीने 10000 से ₹15000 तक का वेतन प्रदान करती हैं।

कंप्यूटर ऑपरेटर कैसे बने? | How to become a computer operator?

यदि आप किसी संस्थान अथवा विभाग में कंप्यूटर ऑपरेटर की जॉब प्राप्त करना चाहते हैं तो आप हमारे द्वारा नीचे बताए गए चरणों का पालन करके आसानी से कंप्यूटर ऑपरेटर के तौर पर जॉब प्राप्त कर सकते हैं जिनके बारे में हमने कुछ इस प्रकार से नीचे बताया है

10वीं 12वीं या एजुकेशन करें।

अलग-अलग सेक्टर में कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए अलग-अलग क्वालिफिकेशन मांगी जाती है कई सेक्टर में दसवीं तथा बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थियों को कंप्यूटर ऑपरेटर के तौर पर जॉब प्रदान की जाती है, तो कई सेक्टरों में ग्रेजुएशन किए हुए अभ्यार्थियों को कंप्यूटर ऑपरेटर के तौर पर कार्य सौंपा जाता है। इसीलिए पहले आपको कम से कम 10 वीं कक्षा तो पास करनी होगी तत्पश्चात आप कंप्यूटर ऑपरेटर के रूप में कार्य कर सकते हैं।

कंप्यूटर से संबंधित जानकारी प्राप्त करें।

कोई भी अभ्यर्थी एक कंप्यूटर ऑपरेटर की जॉब तभी प्राप्त कर सकता है जब उसे कंप्यूटर को अच्छी तरह से ऑपरेट करना तथा उसके आउटपुट के बारे में सटीक जानकारी होती है. इसलिए कंप्यूटर ऑपरेटर के रूप में कार्य करने से पहले आपको कंप्यूटर से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए।

टाइपिंग स्पीड पर ध्यान दें।

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया है कि कंप्यूटर ऑपरेटर का मुख्य कार्य डाटा एंट्री करना होता है। जिसके लिए आपकी टाइपिंग स्पीड फास्ट होनी चाहिए. साथ ही आपको हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओं में अच्छी तरह से टाइपिंग करनी आनी चाहिए। तभी आप को कंप्यूटर ऑपरेटर की जॉब मिल सकती है।

रिटन और टाइपिंग टेस्ट पास करें।

कई ऐसे सेक्टर है जहां कंप्यूटर ऑपरेटर की भर्ती के लिए रिटन टेस्ट तथा टाइपिंग टेस्ट लिया जाता है। अगर आप रिटन टेस्ट पास कर लेते हैं और फिर आप टाइपिंग टेस्ट को पास करना होगा इसके बाद आप कंप्यूटर ऑपरेटर बन सकते हैं। कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए आपको अपनी टाइपिंग स्पीड बढ़ानी होगी।

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के बाद किस सेक्टर में जॉब कर सकते हैं?

अगर आपको कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज और सभी जरूरी एप्लीकेशन जैसे एमएस वर्ड एमएस एक्सल अधिक का अच्छी तरह से इस्तेमाल करना आता है तो आप आसानी से निम्नलिखित सेक्टर में जॉब प्राप्त कर सकते हैं जो इस प्रकार हैं-

  • हेल्थ सेक्टर
  • एग्रीकल्चर सेक्टर
  • मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर
  • गवर्नमेंट और प्राइवेट सेक्टर
  • आईटी सेक्टर
  • ऑटोमोबाइल सेक्टर
  • टेलीकम्युनिकेशन इंडस्ट्री

FAQ

कंप्यूटर ऑपरेटर क्या होता है?

कंप्यूटर ऑपरेटर सेक्टर में मौजूद रहे व्यक्ति है जो कंप्यूटर के माध्यम से सभी डाटा स्टोर करने तथा उस जटा की सीट तैयार करने का कार्य करता है।

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए क्या जरूरी है?

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए सबसे जरूरी है कि आप को कंप्यूटर के बारे में सभी जानकारी होनी चाहिए तथा आपकी टाइपिंग स्पीड बहुत अच्छी होनी चाहिए।

कंप्यूटर ऑपरेटर की सैलेरी कितनी होती है?

किसी भी सरकारी क्षेत्र में कंप्यूटर ऑपरेटर के रूप में कार्य करने वाला व्यक्ति महीने का ₹10000 से लेकर ₹20000 तक कमा सकता है, वहीं प्राइवेट सेक्टर में कंप्यूटर ऑपरेटर ₹10000 से लेकर ₹15000 हर महीने वेतन प्राप्त कर सकता है।

कंप्यूटर ऑपरेटर की आवश्यकता किन क्षेत्रों में है?

आज के डिजिटल युग में कोई भी सेक्टर हो सेक्टर में कंप्यूटर ऑपरेटर की डिमांड बहुत अधिक है फिर चाहे वह पब्लिक सेक्टर हो, गवर्नमेंट सेक्टर हो या फिर प्राइवेट सेक्टर हो।

निष्कर्ष

उम्मीद करते हैं, कि अब आप जान चुके होंगे कि आप कंप्यूटर ऑपरेटर कैसे बन सकते हैं? और कंप्यूटर ऑपरेटर से संबंधित सभी सवालों के जवाब आपको प्राप्त हो गए होंगे। अगर आपको हमारे द्वारा इस लेख में बताई गई जानकारी पसंद आई हो तो हम आपसे अनुरोध करते हैं, कि इसे ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तों और सोशल मीडिया अकाउंट पर सभी के साथ शेयर करना कतई ना भूलें।

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।