BUMS कोर्स क्या है? | BUMS कैसे करें? | BUMS Course Details

अक्सर बच्चों को अपने भविष्य के प्रति चिंता रहती है कि उन्हें आगे चलकर ऐसा कौन सा कोर्स करना चाहिए। जिससे उन्हें एक अच्छी नौकरी प्राप्त हो सके और वह अपना शेष जीवन अच्छे से व्यतीत कर सकें। इंटरमीडिएट करने के पश्चात बच्चों के पास बहुत सारे कोर्स के ऑप्शन होते हैं।

परंतु कौन सा कोर्स सबसे अच्छा होता है। उसके विषय में अक्सर जानकारी का अभाव होता है। यदि आप डॉक्टर बनने में दिलचस्पी रखते हैं तो हम आपको बीयूमएस कोर्स के (BUMS course kya hai) विषय में जानकारी प्रदान करने आए हैं। यदि आप भी बीयूमएस कोर्स (BUMS course ki detail) के विषय में जानकारी चाहते हैं। तो हमारे आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

Contents show

BUMS कोर्स के अंतर्गत क्या होता है?

भारत में आयुर्वेदिक चिकित्सा (BUMS couse me karya) बहुत प्रचलित है वर्तमान समय में आयुर्वेदिक चिकित्सा ने अपने कार्यों से लोगों के मन में विश्वास पैदा किया है। जिससे लोग आयुर्वेद पर विश्वास करने लगे हैं। इसके नए-नए क्लीनिक हर शहर में आपको देखने को मिल जाएंगे। लोग अब आयुर्वेदिक चिकित्सा पर विश्वास करते हैं और इसकी दवाइयां लेना भी पसंद करते हैं।

BUMS कोर्स क्या है? | BUMS कैसे करें? | BUMS Course Details

 लोगों को आयुर्वेद से फायदा है वर्तमान समय से ही आयुर्वेद में विकास हुआ है और आयुर्वेद एक चरम सीमा पर पहुंच गया है।आयुर्वेद की तरह यूनानी चिकित्सा पद्धति भी भारत में बहुत जलन में आ गई है। इससे भी लोगों को फायदा होता है जिससे यूनानी चिकित्सा पद्धति की मदद से दुनिया भर में लोगों का इलाज किया जाता है। यूनानी चिकित्सा पद्धति को आगे बढ़ाने के लिए नए नए कदम उठाए जा रहे हैं।

 यूनानी चिकित्सा पद्धति को एक निश्चित पाठ्यक्रम में पढ़ाने के लिए कोर्स डिसाइड किया गया है। इस कोर्स के अंतर्गत यदि कोई यूनानी चिकित्सा का कोर्स कर यूनानी चिकित्सक बनना चाहता है। तो वह यह कोर्स करके यूनानी चिकित्सक बन सकता है। बी यू एम एस का कोर्स यूनानी चिकित्सा के अंतर्गत निर्धारित किया गया है। कोर्स है इस कोर्स में यूनानी चिकित्सा को भलीभांति सिखाया जाता है। बीयूमएस कोर्स में दैनिक उपचारों के विषय में बताया जाता है यह पूरी तरीके से यूनानी चिकित्सा पर निर्भर होता है।

इससे लोगों को फायदा मिलता है। बी यू एम एस का कोर्स करके एक व्यक्ति यूनानी चिकित्सक बनकर तैयार होता है। और वह दैनिक क्रियाओं से जुड़ी हुई समस्याओं का निदान करने में समाज की मदद करता है।

BUMS कोर्स की पूरी जानकारी ? (BUMS Course Details)

बी यू एम एस का कोर्स एक स्नातक कोर्स होता (BUMS Course ki Details) है जो 6 वर्ष का होता है इससे आप 12वीं के तुरंत बाद कर सकते हैं। बी यू एम एस का पूर्ण रूप Bachelor of Unani Medicine and surgery (बैचलर्स ऑफ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी) होता है। यदि हिंदी में इसका मतलब समझा जाए तो इसका अर्थ है।

 यूनानी काय चिकित्सा एवं शल्य चिकित्सा होता है बी यू एम एस के कोर्स में मसाज, डायाफोरेसिस, लीचिंग और एक्सरसाइज आदि की पढ़ाई शामिल है। बी यू एम एस का कोर्स फॉलो कर सकते हैं जो रोजमर्रा के जीवन में अपनी शारीरिक समस्याओं में सुधार करके लोगों की मदद करना चाहते हैं। यूनानी चिकित्सा सीखने वाले डॉक्टर वह लोग होते हैं।

 जो अपने दैनिक जीवन में परेशानी कठिनाइयों दर्द का निवारण करने आदि में मदद करते हैं। बी यू एम एस का कोर्स करने के बाद एक व्यक्ति यूनानी डॉक्टर बन जाता है। यह एक ग्रेजुएशन कोर्स होता है और इसमें 1 साल की इंटर्नशिप जरूरी होती है।

BUMS Course क्यों करें? —

बी यू एमएस कोर्स के बहुत (BUMS Course ki need) सारे फायदे होते हैं। हर कोर्स को इस प्रकार निर्धारित किया जाता है।

  • जिससे वह वर्तमान समय के दैनिक जीवन को प्रभावित करेंनो और उन्हें नए-नए फायदे प्रदान करने का प्रयास करें।
  • बी यूएमएस कोर्स के और क्या-क्या फायदे हो सकते हैं इसके विषय में नीचे जानकारी प्रदान की गई हैं।
  • बी यू एम एस का कोर्स करने के बाद करियर के नए-नए ऑप्शन प्रदान करने में मदद मिलती है। इसमें आप कई क्षेत्र में अपना भविष्य बना सकते हैं।
  • आयुर्वेदिक चिकित्सा की तरह यूनानी चिकित्सा को भी लोग बहुत पसंद करते हैं। और यह धीरे-धीरे लोगों को फायदा देते हुए बहुत फेमस हो रहा है।
  • बी यू एम एस के कोर्स में खर्चा कम होता है और इसमें आप आसानी से नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। बीयूएमएस का कोर्स करके आप एक अच्छे डॉक्टर बन सकते हैं।
  • बी यू एम एस का कोर्स करके आप यूनानी शिक्षा पद्धति के बारे में प्रैक्टिकल नॉलेज प्राप्त कर सकते हैं। इस कोर्स में प्रैक्टिकल करवाकर बच्चों को सिखाया जाता है।
  • बी यू एम एस का कोर्स करने के बाद कोई भी डॉक्टर अपना निजी क्लीनिक या हॉस्पिटल खोल सकता है।
  • यूनानी पद्धति को जीवित रखने के लिए एवं चिकित्सा में अपना भविष्य बनाने के लिए आप भी  बीयूएमएस का कोर्स कर सकते हैं।

BUMS Course करने के लिए भारत के Best College —

बी यू एम एस का कोर्स (BUMS course ke liye best college)कराने के के लिए भारत में कई सारे संस्थान खोले गए हैं। आयुर्वेदिक चिकित्सा आज भारत में बहुत प्रचलित है क्योंकि इससे लोगों को फायदा होता है। इसमें कोर्स करने वालों की संख्या भी धीरे-धीरे बढ़ रही है इसी प्रकार से जिन जिन लोगों को यूनानी चिकित्सा का फायदा हो रहा है। और जो इस चिकित्सा में विश्वास रख रहे हैं उन लोगों की संख्या भी बढ़ती जा रही है।

 यूनानी चिकित्सा के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ रहा है बी यू एम एस का कोर्स भारत में कौन कौन से कॉलेज करवाते हैं। उसकी लिस्ट नीचे प्रदान की गई है। जिसमें से आप किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेकर बी यूएमएस का कोर्स कर सकते हैं।

  • कलकत्ता यूनानी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, कोलकात्ता
  • गवर्नमेंट यूनानी मेडिकल कॉलेज, प्रयागराज
  • गवर्नमेंट यूनानी मेडिकल कॉलेज, बेंगलुरु
  • राजस्थान यूनानी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, जयपुर
  • गवर्नमेंट यूनानी मेडिकल कॉलेज, चेन्नई

BUMS कोर्स करने के लिए आवेदन प्रक्रिया —

यदि आप भारत में किसी भी (BUMS Ka application process) कोर्स को करना चाहते हैं तो कोर्स में अप्लाई करने के लिए एक निश्चित आवेदन प्रक्रिया बनाई गई है। जिसमें आवेदन करके आप कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

इसी प्रकार बी यू एम एस का कोर्स है जिसके लिए भारत सरकार द्वारा एक निश्चित आवेदन प्रक्रिया बनाई गई है। बी यू एम एस का कोर्स करते आप यूनानी शिक्षा के अच्छे डॉक्टर बन सकते हैं ।और उसमें अपना भविष्य बना सकें। बीयू एमएस आवेदन प्रक्रिया निम्न प्रकार है।

  • आप भी यू एम एस का कोर्स करने के लिए जिस भी कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं। उस कॉलेज के पोर्टल पर जाना होगा।
  • जिस कॉलेज में आप एडमिशन ले रहे हैं उसकी ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर वहां रजिस्ट्रेशन करना होगा। और अपना आईडी और पासवर्ड प्राप्त करना होगा।
  • वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन के पश्चात अपनी आईडी और पासवर्ड को लॉगइन करना चाहिए।
  • वेबसाइट लोगिन करने के पश्चात आप जिस कोर्स का चयन करना चाहते हैं। उस कोर्स का चयन करें इसके पश्चात आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आएगा।
  • इस आवेदन फॉर्म में आप का विवरण जैसे नाम पता लिंग पिता का नाम आदि के विषय में जानकारी सही-सही फॉर्म में भरनी होगी।
  • आवेदन फॉर्म को पूरा भरने के पश्चात सबमिट करने से पहले उसकी पुनः जांच कर लेनी चाहिए।
  • आवेदन फॉर्म के साथ-साथ जिन दस्तावेजों की मांग की गई है। उन दस्तावेजों को फॉर्म के साथ अपलोड कर देना चाहिए।
  • फोटो अपलोड करने के पश्चात आवेदन शुल्क का भुगतान करना चाहिए। इसके लिए आप विभिन्न पेमेंट ऑप्शन का चयन कर सकते हैं।
  • यदि आपका एडमिशन प्रवेश परीक्षा पर आधारित होता है तो आप पहले प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन करें। इसके पश्चात प्रवेश परीक्षा के के रिजल्ट आने का इंतजार करें।
  • प्रवेश परीक्षा में अंकों के आधार पर चयन किया जाता है। जिसकी लिस्ट भी जारी की जाती है लिस्ट में यदि आपका नंबर आ जाता है। तो आप अपने मन के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

BUMS Course करने के लिए योग्यता —

बी यू एम एस का कोर्स (BUMS course eligibility) करने के लिए एक निश्चित योग्यता निर्धारित की गई है। जिसके पश्चात ही आप बी यू एम एस का कोर्स कर सकते हैं। बी यू एम एस का कोर्स करने के लिए क्या-क्या योग्यता चाहिए उसके विषय में नीचे स्पष्ट विवरण दिया गया है।

  • अभ्यार्थी किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास होना अनिवार्य है।
  • अभ्यार्थी को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा पास होना अनिवार्य है। तभी वह बीएमएस कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
  • इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए अभ्यार्थी की कक्षा 12वीं में परसेंटेज 50% से ज्यादा होनी आवश्यक है।
  • यदि आप भी बीएएमएस के कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं। तो आपको दसवीं कक्षा के बाद 11वीं कक्षा में साइंस लेना अनिवार्य है।
  • दसवीं कक्षा में बच्चे के पास फिजिक्स , केमिस्ट्री और जूलॉजी या बॉटनी, बायोलॉजी साथ ही मुख्य विषय के रूप में अंग्रेजी का होना भी जरुरी है।
  • आरक्षित वर्ग के बच्चों को 12वीं कक्षा में यदि 40% अंक प्राप्त हुए हैं। तब भी बी यू एम एस के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।
  • बी यू एम एस का कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आवेदन कर्ता की न्यूनतम आयु 17 वर्ष होना आवश्यक है।
  • बी यू एम एस का कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आवेदन कर्ता की अधिकतम आयु 25 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। अन्यथा उसे एडमिशन नहीं दिया जाता।

BUMS Course करने के लिए आवश्यक दस्तावेज़ —

बी यू एम एस के कोर्स में (BUMS course application ke important documents) अप्लाई करने के लिए बहुत सारे दस्तावेजों की आवश्यकता होती है। जिनके ना होने पर आप इस कोर्स में अप्लाई नहीं कर सकते। बी यूएमएस के कोर्स में फॉर्म भरने के लिए किन-किन आवश्यक दस्तावेजों की आवश्यकता होती है। उसको नीचे टेबल के माध्यम से बताया गया है।

  • एक पासपोर्ट और छात्र वीजा
  • आधिकारिक शैक्षणिक प्रमाण पत्र
  • पोर्टफोलियो (यदि आवश्यक हो)
  • स्कैन पासपोर्ट की कॉपी
  • IELTS या TOEFL,
  • आवश्यक टेस्ट स्कोर
  • बैंक विवरण
  • अपडेट किया गया सीवी
  • एकेडमिक LORs
  • SOP
  • निबंध (यदि आवश्यक हो)

BUMS कोर्स करने के लिए प्रवेश परीक्षाएं (BUMS Entrance Exam

यूनानी पद्धति का बी यू एम एस कोर्स (BUMS Course ke entrance exam) बहुत महत्वपूर्ण होता है। जो कॉलेज इस कोर्स को करवाते हैं। उन में एडमिशन लेने वाले बच्चों की संख्या बहुत अधिक होती है जिसके कारण डीयू एमएस कोर्स में एडमिशन लेने से पहले एक एंट्रेंस एग्जाम करवाया जाता है। जिन बच्चों के एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे अंक प्राप्त होते हैं।

 वही बी यूएमएस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए एलिजिबल होते हैं अन्यथा यदि आपके एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे मार्क्स नहीं आते तो आप भी यू एम एस कोर्स में एडमिशन नहीं ले सकते। बीएएमएस कोर्स को कराने के लिए कौन-कौन से एंट्रेंस एग्जाम देने होते हैं उसके विषय में नीचे बताया गया है।

  • NEET
  • CPAT
  • KEAM
  • CPMEE

BUMS कोर्स करने के बाद करियर स्कोप —

बीएएमएस कोर्स करने के बाद (BUMS course me carrere option) आपको कई सारे कैरियर के उसको प्राप्त हो जाते हैं। यह कोर्स करने के बाद आप बहुत सारे विभागों में अपना भविष्य बना सकते हैं। जिससे आपको अच्छी आमदनी प्राप्त होती है और एक इज्जतदार जिंदगी मिलने का मौका मिलता है। बी यू एम एस कोर्स करने के पश्चात आप कौन-कौन से कैरियर स्पोर्ट सुन सकते हैं। उसके विषय में नीचे बताया गया है।

  • फार्मेसी
  • फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्री
  • पर्सनल क्लिनिक
  • सरकारी और गैरसरकारी हॉस्पिटल
  • हेल्थ केयर कम्युनिटी
  • एजुकेशनल इंस्टीट्यूट
  • यूनानी चैरिटेबल इंस्टीट्यूट
  • लाइफ साइंस इंडस्ट्री
  • रिसर्च लैब

BUMS Course करने के बाद Jobs एंड Salary—

बीयू एमएस कोर्स करने के (BUMS couse me salary) पश्चात आपका चयन जिन पदों पर होता है। उसी हिसाब से सैलरी प्रदान की जाती है। यदि आपका चयन किसी उच्च पद पर हुआ है तो आपको 400000 से 600000 सैलरी प्राप्त होती है। यदि आपका चयन नचले पद पर हुआ है। तो आपको डेढ़ लाख से 200000 के बीच सैलरी प्राप्त होती है।

टॉपिक से संबंधित प्रश्न एवं उनके उत्तर (FAQ)

Q. बी यू एम एस का कोर्स किस प्रकार का कोर्स होता है?

बी यू एम एस का कोर्स एक डॉक्टरी कोर्स होता है जिसमें आप यूनानी डॉक्टर बनते हैं।

Q. बी यू एम एस का कोर्स करने के लिए योग्यता क्या है?

बीएएमएस का कोर्स एक स्नातक कोर्स है 12वीं कक्षा करने के पश्चात आप यह कोर्स कर सकते हैं।

Q. बी यू एम एस का कोर्स कितने वर्ष का होता है?

बीएएमएस का कोर्स 6 वर्ष का होता है।

Q. बी यू एम एस के कोर्स में दाखिला लेने के लिए कौन से एंट्रेंस एग्जाम देने पड़ते हैं?

बी यू एम एस के कोर्स में दाखिला लेने के लिए NEET CPAT, KEAM, CPMEE के एंट्रेंस एग्जाम देने होते हैं।+

निष्कर्ष :

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको BUMS कोर्स क्या है (BUMS Course Details) के विषय में जानकारी देने का पूरा प्रयास किया है।यदि फिर भी आपके मन में कोई प्रश्न है तो आप नीचे दिए हो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।

हमारे आर्टिकल के द्वारा प्रदान की जाने वाली जानकारी बिल्कुल ठोस तथा सटीक होती है। यदि आपको हमारा आर्टिकल पसंद आए तो आप इसे अवश्य शेयर करें। हमारा आर्टिकल पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद।

रिया आर्या

मैं शाहजहाँपुर उत्तर प्रदेश की रहने वाली हूँ। शुरू से ही मुझे डायरी लिखने में रुचि रही है। इसी रुचि को अपना प्रोफेशन बनाते हुए मैं पिछले 3 साल से ब्लॉग के ज़रिए लोगों को करियर संबधी जानकारी प्रदान कर रही हूँ।

Leave a Comment